नारायणगढ़ शुगर मिल को टेकओवर कर को-ऑपरेटिव मिल बनाये सरकार

नारायणगढ़, 4 दिसंबर (निस) नारायणगढ़ विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक शैली चौधरी ने कहा कि पिछले 5 वर्षों के दौरान किसानों को शुगर मिल से गन्ने की फसल की पेमेंट लेने में भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा है। उन्होंने कहा कि किसानों को नारायणगढ़ शुगर मिल से आने वाली परेशानियों को देखते हुए सरकार इस शुगर मिल को टेकओवर कर इसे सहकारी शुगर मिल का रूप देना चाहिए ताकि शुगर मिल से जुड़े किसानों को भविष्य में गन्ने की पेमेंट को लेकर कोई परेशानी न आए। विधायक शैली चौधरी के साथ अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी सदस्य व पूर्व सीपीएस रामकिशन गुज्जर भी मौजूद थे। शैली चौधरी ने कहा कि जिला अम्बाला की इस एक मात्र शुगर मिल के साथ नारायणगढ़, साढौरा, मुलाना, अम्बाला व पंचकूला के हजारों गन्ना उत्पादक किसान जुड़े हुए हैं जिन्हें पिछले पांच वर्षों के दौरान शुगर मिल से पेमेंट लेने के लिए आन्दोलन व जलसत्याग्रह करने पड़े। उन्होंने कहा कि गन्ने की पेमेंट को लेकर हर वर्ष परेशानी पैदा करने वाली इस समस्या के स्थायी हल के लिए इस शुगर मिल का अधिग्रहण कर इसे को-ऑपरेटिव क्षेत्र की मिल बनाया जाए। विधायक शैली ने सरकार के साथ नारायणगढ़ शुगर मिल प्रबंधन को आगाह करते हुए कहा कि मिल प्रबंधन किसानों की पिछली बकाया पेमेंट करे व मौजूदा पिराई सीजन में ध्यान रखे कि किसान को पेमेंट के लिए परेशान न होना पड़े अन्यथा कांग्रेस पार्टी किसान हितों की पैरवी के लिए बड़े से बड़ा आंदोलन करने में नही हिचकिचाएगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All