दोबारा न हो, दोषियों को दी जाये एेसी फांसी

झज्जर, 3 दिसंबर (हप्र) हैदराबाद में महिला वेटरनरी डाक्टर के साथ गैंगरेप और हत्या के बाद उसकी लाश को जला देने की घटना के खिलाफ बादली की महिलाओं ने ग्राम सरपंच सुमन देवी के नेतृत्व में गांव में आक्रोश रैली निकाली। आक्रोश रैली बादली के बाजार, होली चौक और फिरनी से होता हुआ पंचायत कार्यालय पहुंचा। रैली के दौरान मौजूद महिलाओं ने बलात्कारियों को फांसी की सजा दिए जाए की मांग की। आक्रोश रैली में गांव की सरपंच सुमन देवी के साथ और आशा वर्करस भी मौजूद रही। महिलाओं ने गांव में निकाली गई आक्रोश रैली के माध्यम से कहा कि तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में महिला डॉक्टर के साथ गैंगरेप की घटना ने पूरे देश को शर्मसार कर दिया है। महिलाओं ने कहा कि यदि पुलिस ने तत्काल कार्रवाई की होती तो पीड़िता को बचाया जा सकता था।

ग्रामीणों ने निकाला कैंडल मार्च कनीना (निस) : तलवाना खेड़ी के ग्रामीणों ने वारदात के खिलाफ कैंडल मार्च निकाला और जल्द से जल्द न्याय दिलाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि महिला के हत्यारों को फांसी की सजा दी जाये। ग्रामीणों ने कहा कि महिला डॉक्टर को न्याय दिलाने के लिए केंद्र सरकार को हस्तक्षेप करना चाहिए। प्रतिदिन सामने आ रही आपरधिक घटनाओं से महिलायें शर्मसार हो रही हैं। इस मौके पर ग्रामीण अनुज, राजेश कुमार, सुरेश चंद, ओमबीर, मुकेश, उमेद, सुगन सिंह, सुखपाल और रिंकू मौजूद थे।

मानवता के लिए कलंक भिवानी (हप्र) : ऑल इण्डिया महिला सांस्कृतिक संगठन (एआईएमएसएस) ने मंगलवार को रोष प्रदर्शन निकाला। सभा में एआईएमएसएस ने बलात्कारियों व हत्यारों को कड़ी सजा देने की मांग की। एआईएमएसएस की जिला प्रधान बिमला, जिला सचिव ममता, एआईडीवाईओ के जिला सचिव संदीप मेहरा और एसयूसीआई (कम्युनिस्ट) के जिला सचिव राजकुमार जांगड़ा ने ऐसी जघन्य घटनाओं को मानवता के लिए शर्मनाक बताया और कहा कि किसी भी देश व समाज के लिए रेप, गैंगरेप व हत्या जैसे जघन्य अपराध कलंक हैं। उन्होंने इन अपराधों के दोषियों को तुरंत पकड़ने और दुष्कर्म के दोषियों को कठोर सजा देने की मांग की। उधर, चौधरी बंसीलाल विश्वविद्यालय में विद्यार्थियों ने इस घटना के विरोध में और मृतक की याद में 2 मिनट का मौन रखा और उपकुलपति को ज्ञापन सौंपा।

पोस्टर बनाकर कड़ी सजा  देने की मांग चरखी दादरी (निस) : गांव कादमा स्थित अरावली मॉर्डन पब्लिक स्कूल में बच्चों ने पोस्टर बनाकर बनाकर मांग की है कि सभी दोषियों पर जल्द से जल्द कड़ी से कड़ी कार्रवाई की जाए।

सरकार स्वत: संज्ञान ले फतेहाबाद (निस) : गांव खाई में शहीद भगत सिंह रामलीला क्लब के सदस्यों ने सोमवार रात गांव में कैंडल मार्च निकालकर मृतक वेटरनरी डाक्टर को श्रद्धांजलि दी। नंबरदार राजकुमार व प्रधान राकेश कुमार ने कहा कि सरकार को ऐसी घटनाओं पर स्वत:संज्ञान लेकर कार्रवाई करनी चाहिए। इसके अलावा पशुपालन विभाग के उपमंडल अधिकारियों व कर्मचारियों ने पशुपालन विभाग के कार्यालय में डॉ सत प्रकाश वर्मा की अध्यक्षता में 2 मिनट का मौन रखा और ऐसी घटनाओं के विरोध में प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि ऐसी घटना की जितनी निंदा की जाए कम है।

समाज का सांस्कृतिक  पतन चिंता का विषय रेवाड़ी (निस) : युवा संगठन डीवाईओ एवं महिला सांस्कृतिक संगठन ने राव तुलाराम पार्क में प्रदर्शन किया एवं इस घटना की घोर भर्त्सना की। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व डीवाईओ के जिला प्रधान नरेश कुमार एवं महिला सांस्कृतिक संगठन की प्रधान डॉ़ प्रीतिलता ने किया। राजेंद्र सिंह ने मांग की है कि अपराधियों को तुरंत फांसी दी जाए और ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति पर रोक लगाने के लिए कारगर कदम उठाए जाएं। उन्होंने कहा कि समाज में हो रहा सांस्कृतिक पतन चिंता का विषय है। ऐसे हैवान को सरेआम चौराहे पर फांसी दी जाए।

सुरक्षित माहौल देने में नाकाम सरकार सफीदों (निस) : विधायक सुभाष गांगोली नेे जनसम्पर्क अभियान के दौरान कहा कि गैंगरेप कांड के दोषियों पर कार्रवाई की जाये। उन्होंने कहा कि भाजपा की सरकार महिलाओं को सुरक्षित माहौल देने मे नाकाम रही है। उधर, पिल्लुखेड़ा में सोमवार देर रात अनेक महिलाओं व युवाओं ने कैंडल मार्च निकाला और दोषियों को कड़ी सजा देने की मांग की। इस दौरान सरकार से ऐसे संगीन मामलों के दोषियों को कड़ी सजा के लिए वैधानिक प्रावधान लाने की मांग की।

ऐसे अपराध बर्दाश्त नहीं सिरसा (निस) : भारतीय जनता युवा मोर्चा के महामंत्री डॉ. रमन शर्मा ने केंद्र सरकार से मांग की है कि गैंगरेप के दोषियों को फांसी की सजा दी जाये।

फास्ट ट्रैक कोर्ट में हो सुनवाई

नारनौल में मंगलवार को हैदराबाद की घटना के विरोध में प्रदर्शन के बाद पुतले फूंकते युवा। -हप्र

नारनौल (हप्र) : हैदराबाद की घटना के खिलाहफ छात्र संगठन अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) ने सामाजिक संगठनों के साथ मिलकर शहर में आक्रोश मार्च निकाला गया। अभाविप के जिला संयोजक विशाल दायमा ने कहा कि इस घटना के दोषियों को मृत्युदंड से भी बदतर सजा देने की मांग करता है। समाजसेवी टिंकू प्रधान ने कहा कि यह चिंतनीय विषय है कि एक महिला जो किसी व्यक्ति से मदद की अपेक्षा कर रही हो, उसकी सहायता के स्थान पर उसके साथ गैंगरेप और जिंदा जला देना समाज के कुंठित लोगों की सोच को दिखाता है। इस मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट में कानूनी कार्रवाई के द्वारा सुनवाई हो और दोषियों को मृत्युदंड से भी कड़ी सजा दी जाये, जिससे समाज में एक उदाहरण प्रस्तुत हो। इस दौरान लोगों ने प्रदर्शन किया और डीसी कार्यालय में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। प्रदर्शनकारियों में हिमांशु शर्मा, मोहित वर्मा, अमन रोहिल्ला, प्रवीण सिखवाल, निखिल सैनी, टिंकू प्रधान, संदीप प्रजापत व मोनिका मौजूद रहे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

नदियों के स्वास्थ्य पर निर्भर पर्यावरण संतुलन

नदियों के स्वास्थ्य पर निर्भर पर्यावरण संतुलन

स्वाध्याय की संगति में असीम शांति

स्वाध्याय की संगति में असीम शांति

दशम पिता : भक्ति से शक्ति का मेल

दशम पिता : भक्ति से शक्ति का मेल

मुकाबले को आक्रामक सांचे में ढलती सेना

मुकाबले को आक्रामक सांचे में ढलती सेना

शहर

View All