दुर्भावना से दबाव बना रहा प्रशासन

गुरुग्राम, 28 जून (हप्र) अंसल द्वारा अरावली हिल्स में बसाई गई विवादित फार्म हाउस टाउनशिप की आरडब्ल्यूए का आरोप है कि सरकारी एजेंसियां दुर्भावना से उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है। राजस्व रिकार्ड में बकायदा इन निर्माणों को फार्म हाउस का दर्जा दिया हुआ है लेकिन अब ऐसे नोटिफिकेशन का हवाला देकर तोड़ने की धमकी दी जा रही है जिनका पहले कभी जिक्र तक नहीं किया गया। इन्होंने सवाल उठाया कि यदि ये फार्म हाउस अवैध हैं तो सरकार यहां जमीन की खरीद फरोख्त क्यों होने दे रही है। यहां एक पत्रकार वार्ता में अंसल रिट्रीट रेजीडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने आरोप लगाया कि समय-समय पर अलग-अलग सरकारी महकमों के अफसर फार्म हाउस मालिकों के उपर दबाव बनाने के लिए हर बार नई तरह का नोटिस जारी कर देते हैं। सोहना नगर परिषद की ओर से दिए गए नोटिस को फार्म हाउस मालिकों ने गलत व कानूनी दायरे से परे बताया। अंसल हाउसिंग लिमिटेड के एक पूर्व अधिकारी एवं फार्म हाउस मालिक गगनदीप सिंह ने दावा किया कि सरकार की विभिन्न एजेंसी की ओर से जारी किए गए अनापत्ति प्रमाण पत्रों बाद ही लोगों ने यहां फार्म हाउस विकसित किए हैं। यहां फार्म बनने के बाद अरावली हिल्स पर अवैध खनन रुका तथा हरियाली का दायरा बढ़ा है। एसोसिएशन के वाइस प्रेजीडेंट राजेश वत्स का कहना है कि पिछले तीन दशकों से लगातार फार्म हाउस मालिकों पर तलवार लटकाई जा रही है जबकि राजस्व रिकार्ड में यह स्थान फार्म हाउस के तौर पर दर्ज है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश