गेहूं उठाने में देरी करने वाले ट्रांसपोर्ट ठेकेदार होंगे ब्लैकलिस्ट

चंडीगढ़, 5 जून (ट्रिन्यू) हरियाणा की अनाज मंडियों व खरीद केंद्रों पर फसलों के उठाने में देरी करने वाले ट्रांसपोर्ट ठेकेदार नपेंगे। ऐसे ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट किया जाएगा। आढ़तियों व किसानों की ओर से आई शिकायतों के बाद सरकार ने यह सख्त फैसला लिया है। सरकार ने आढ़तियों से देरी करने वाले ट्रांसपोर्टर की सूची तलब की है। फसलों की खरीद ही नहीं मंडियों से गोदाम तक पहुंचाने का जिम्मा खाद्य एवं अापूर्ति विभाग का है। विभाग मंडियों से फसलों को उठाने के लिए हर सीजन में ट्रांसपोर्टर के लिए टेंडर आमंत्रित करता है। सूत्रों का कहना है कि बरसों से पुराने ठेकेदारों को ही ठेका मिलता आ रहा है। विभाग के पास बड़ी संख्या में ऐसी शिकायतें भी आई हैं कि खुद किसानों ने मंडियों से फसलों को गोदामों तक पहुंचाया है। दरअसल, किसानों की फसलों की पेमेंट का पूरा सिस्टम गोदाम से जुड़ा हुआ है। मंडियों में खरीद एजेंसियों द्वारा आढ़तियों के माध्यम से होने वाली फसल खरीद का भुगतान उस समय होता है, जब फसल मंडियों से बोरियां में पैक होकर गोदाम तक पहुंच जाती है। गोदाम में फसल आने के बाद ही एफसीआई पैसा रिलीज करती है। कृषिमंत्री जयप्रकाश दलाल के अनुसार बड़ी संख्या में मंडियों से गेहूं का उठान नहीं होने की शिकायत आई है। आढ़तियों को कहा गया है कि वे उन ट्रांसपोर्टरों के नाम दें, जिन्हें फसल उठाने का जिम्मा सौंपा गया था। सरकार ऐसे ट्रांसपोर्ट ठेकेदारों को ब्लैक लिस्ट करेगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

पाक सेना के तीर से अधीर हामिद मीर

पाक सेना के तीर से अधीर हामिद मीर

नीति-निर्धारण के केंद्र में लाएं गांव

नीति-निर्धारण के केंद्र में लाएं गांव

असहमति लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा

असहमति लोकतांत्रिक व्यवस्था का हिस्सा

बदलोगे नज़रिया तो बदल जाएगा नज़ारा

बदलोगे नज़रिया तो बदल जाएगा नज़ारा

शहर

View All