खामियों के चलते 60 फीसदी प्रॉपर्टी सर्वे रद्द, लोगों में रोष

समालखा, 15 जनवरी (निस) शहर में हुए प्राॅपर्टी सर्वे का करीब 60 प्रतिशत कार्य दोबारा से किया जाएगा क्योंकि गत 9 महीने के दौरान हुए सर्वे में आधे से ज्यादा में खामियां मिलीं। जिसके कारण उन्हें रद्द कर दिया गया। करीब नौ महीने पहले शुरू हुए कार्य में अस्सी प्रतिशत ही सर्वे हुआ था और उसमें से भी करीब आधे से ज्यादा एन्ट्रियां खामियों के चलते रद्द हो गई हैं। सर्वे एक प्राईवेट कम्पनी द्वारा करवाया जा रहा है। री-सर्वे कब शुरू होगा अभी इसके बारे में पालिका अधिकारी किसी भी तरह की जानकारी नहीं होने की बात कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि समालखा में याशी कंसलटेंसी द्वारा प्रॉपर्टी सर्वे का काम किया जा रहा है। उसने आगे इस काम को अन्य कम्पनी को दे रखा है। समालखा में 12887 प्रॉपर्टी हैं और इसमें से करीब साढ़े दस हजार प्रॉपर्टी का ही सर्वे हो सका था। इस सर्वे में चालीस प्रतिशत सर्वे ही ठीक हो पाया है। लोगों का कहना है कि सर्वेयर द्वारा फोटो व अन्य जानकारी लेने के बावजूद नगरपालिका में रिकाॅर्ड नहीं आया है। लोगों को जल्दी रिकाॅर्ड पालिका में चढ़ाने के लिए शपथपत्र तथा शुल्क जमा करवाना पड़ रहा है। वहीं, इस बारे में याशी कंसलटेंसी के अर्बन प्लानर दिलीप रैड्डी का कहना है कि जल्द ही रि-सर्वे शुरू किया जाएगा।

कछुआ गति से चले सर्वे में 60 प्रतिशत एंट्रियां गलत नौ महीने तक कछुआ गति से चले सर्वे कार्य में से भी 60 प्रतिशत एंट्रियां गलत होने के कारण वे रद्द हो गई। रद्द होने का कारण फोटो, नाम सही नहीं होना आदि था। साठ प्रतिशत एन्ट्रियां रद्द होने तथा पिछली बची हुई करीब तीन हजार प्रॉपर्टी का सर्वे दोबारा से किया जाएगा। री-सर्वे कम्पनी द्वारा कब किया जाएगा इस बारे में पालिका अधिकारियों को भी जानकरी नहीं है। नौ महीने में भी सर्वे कार्य पूरा नहीं होने से लोगों में रोष है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All