एक दिन का वेतन देंगे ग्रुप डी के कर्मचारी

चंडीगढ़, 24 मार्च (ट्रिन्यू) प्रदेश के सभी विभागों के ग्रुप डी सहित सभी कर्मचारियों ने कोरोना वायरस के खिलाफ मजबूती से लड़ने के लिए मुख्यमंत्री रिलीफ फंड में एक दिन का वेतन देने का निर्णय लिया है। प्रदेश के कर्मचारियों के मुख्य संगठन सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के प्रदेशाध्यक्ष सुभाष लांबा, वरिष्ठ उप प्रधान नरेश कुमार शास्त्री व महासचिव सतीश सेठी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि अगर सरकार को इसके अलावा भी आर्थिक मदद की आवश्यकता पड़ी तो प्रदेश का कर्मचारी पीछे नहीं हटेगा। उन्होंने बताया कि कर्मचारी संकट की इस घड़ी में आर्थिक मदद के अलावा अपनी जान जोखिम में डालते हुए कोरोना से लड़ने व स्वास्थ्य सेवाओं सहित अन्य आवश्यक सेवाओं को सुचारू रूप से चलाने में दिन-रात एक किए हुए हैं। उन्होंने तमाम प्रयास के बावजूद 23 नगर पालिकाओं व परिषदों में कार्यरत सफाई कर्मचारियों, मिड डे मील बांट रहे शिक्षकों व आवश्यक सेवाओं में लगे कर्मचारियों को अभी तक सेनेटाइजर, मास्क व साबुन मुहैया न कराने व सभी कार्यालयों को सेनेटाइजर मुहैया न कराने पर कड़ी नाराजगी जताई है। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के नेताओं ने कहा कि बड़े अफसोस की बात है कि सोमवार को मुख्यमंत्री ने अपने निजी कोष से 5 लाख रुपये राहत कोष में देने की घोषणा तो कर दी, जो सराहनीय है, लेकिन सरकारी खजाने से किसी भी आपातकाल स्थिति से निपटने के लिए स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत करने के लिए विशेष आर्थिक पैकेज देने की कोई घोषणा नहीं की। इतनी भयंकर महामारी में भी स्वास्थ्य सेवाओं को मजबूत बनाने के लिए सरकारी खजाने का मुंह नहीं खोला जाएगा तो फिर कब खोला जाएगा। सर्व कर्मचारी संघ हरियाणा के मुख्य संगठन सचिव धर्मवीर फौगाट, उप महासचिव सबिता व प्रवक्ता इन्द्र सिंह बधाना ने बताया कि संघ के राज्य केन्द्र पर प्राप्त रिपोर्ट के अनुसार कोरोना वायरस संक्रमण को रोकने के काम में लगे डाॅक्टर, स्टाफ नर्स व अन्य पैरामेडिकल स्टाफ के पास पूरी सेफ्टी किट तक अभी नहीं पहुंच पाई है। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस की जांच करवाना भी काफी कठिन कार्य है, इसको आसान बनाने और स्वास्थ्य सेवाओं में लगे मेडिकल व पैरामेडिकल स्टाफ को सुरक्षित करना अत्यंत जरूरी है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश