इच्छा-मृत्यु की इजाजत नहीं, खुद की निकाली शवयात्रा

झज्जर में बुधवार को वर्ल्ड कालेज के छात्र-छात्राएं विरोध स्वरूप अपनी ही शव यात्रा निकालते हुए। -हप्र

झज्जर, 11 सितंबर (हप्र) पिछले कई दिनों से प्रशासन और कालेज प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोलकर बैठे गिरावड़ गांव स्थित वर्ल्ड कॉलेज के आंदोलनकारी छात्र-छात्राओं ने बुधवार को विरोध का एक अन्य तरीका अपनाया। आंदोलनकारी पिछले कई दिनों से राष्ट्रपति और सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस से पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की इजाजत मांग रहे है। जब उनकी मांग पूरी नहीं हुई तो आज उन्होंने खुद की ही शव यात्रा निकाली। आंदोलनकारियों के इस अनोखे प्रदर्शन का हिस्सा आशा वर्कर भी बनीं। काफी तादाद में जिले भर की आशा वर्कर्स आंदोलनकारी छात्रों के इस प्रदर्शन में शामिल होने के लिए पहुंची। आंदोलनकारी छात्रों ने एक अर्थी भी बनाई और उसे अपने कंधे पर उठाकर शहर भर में प्रदर्शन करते हुए उसे वापस धरनास्थल पहुंचे। इस दौरान आंदोलनकारियों ने कालेज प्रबंधन और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान मीडिया के रूबरू हुए आंदोलनकारी छात्र-छात्राओं ने बताया कि वह अपनी मांगों को लेकर पिछले 10 दिनों से शहर के पंडित श्रीराम शर्मा पार्क में धरने और आमरण अनशन पर बैठे हैं। इस दौरान कई छात्र व छात्राओं की हालत भी बिगड़ चुकी है। जिनमें से एक दो छात्र अभी भी शहर के नागरिक अस्पताल में उपचाराधीन है। बता दें कि झज्जर-सांपला मार्ग पर स्थित गांव गिरावड़ के वर्ल्ड कालेज के छात्र-छात्राएं प्रबंधन के खिलाफ कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। विपक्षी पार्टियों के राजनेता भी आंदोलनकारियों के बीच पहुंचे, लेकिन छात्रों की समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All