अर्धनग्न होकर सड़कों पर उतरे भाजपा वर्कर : The Dainik Tribune

अर्धनग्न होकर सड़कों पर उतरे भाजपा वर्कर

अर्धनग्न होकर सड़कों पर उतरे भाजपा वर्कर

अंबाला, 22 सितंबर (निस)। हरियाणा सरकार के विकास कार्यों में भेदभाव के रवैये के खिलाफ भाजपा के सैकड़ों कार्यकर्ता आज अर्धनग्न अवस्था में सड़कों पर उतर आए। कार्यकर्ताओं के साथ रोष मार्च में भारी संख्या में आम जनाक्रोश भी सम्मिलित हो गया। इस दौरान हजारों लोगों ने सरकार की दोहरी नीति के खिलाफ आवाज बुलंद की और मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा को भी जमकर कोसा। हरियाणा भाजपा विधायक दल के नेता व छावनी विधायक अनिल विज के नेतृत्व में कार्यकर्ताओं ने अंबाला छावनी के मुख्य बाजारों से अर्धनग्न होकर रोष मार्च निकाला।अंबाला छावनी में विकास कार्यों के पक्षपातपूर्ण रवैये के विरुद्ध अर्धनग्न प्रदर्शन का आगाज एसडी सीनियर सेकेंडरी स्कूल से सुबह 11 बजे हुआ। यहां से कार्यकर्ता सरकार विरोधी नारे लगाते हुए सदर चौक पर पहुंचे। यहां पर विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए विधायक अनिल विज ने कहा कि महात्मा गांधी को स्टेटस सिंबल बताने वाली कांग्रेस को भाजपा के अर्धनग्न रोष पर तो एतराज है, लेकिन कांग्रेस भूल रही है कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने देश की आजादी के लिए अपनी पूरी जिंदगी अर्धग्न अवस्था में लड़ाई लड़ी थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के हारे हुए छुटभईए नेता जिन्होंने जिंदगी में विकास के नाम पर एक ईंट तक नहीं लगाई, वो हमारे क्षेत्र के विकास कार्य में रोड़ा अटका रहे हैं। विज ने कहा कि उन्होंने अपने समय में छावनी के विकास के लिए जितनी भी योजनाएं मंजूर कराई थीं, उन्हें हुड्डा सरकार ने जानबूझ कर पूरा नहीं होने दिया। छावनी को बाढ़ से बचाने के लिए रिंग बांध योजना, सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट, वेस्ट मैनेजमेंट प्लांट, अंतर्राष्ट्रीय शहीदी स्मारक योजना सहित अन्य कई योजनाओं को मंजूर करवाया, लेकिन सरकार ने इन योजनाओं को पूरा कराने के रास्ते में रोड़ा अटकाया हुआ है। इतना ही नहीं, हुड्डा सरकार के आने के बाद से अंबाला में सड़कों की हालत व सफाई व्यवस्था अत्यंत दयनीय है। मुख्य नालों की सफाई नहीं हो रही है। निगम बनने के बाद अभी तक सफाई कर्मचारियों का अभाव बना हुआ है। निगम बनने के तीन साल बाद भी कमिश्नर नियुक्त नहीं किया गया। विज का कहना है कि पिछले विधानसभा सत्र में आश्वासन दिया गया था कि अंबाला छावनी में विकास कार्यों को पूरा कराया जाएगा। लेकिन आज तक सरकार ने अपने वायदे को पूरा नहीं किया। उनका कहना है कि निगम में कर्मचारियों व अधिकारियों पर कोई नियंत्रण न होने के कारण भ्रष्टाचार का बोल-बाला है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

समझ-सहयोग से संभालें रिश्ते

समझ-सहयोग से संभालें रिश्ते

धुंधलाए अतीत की जीवंत झांकी

धुंधलाए अतीत की जीवंत झांकी

प्रेरक हों अनुशासन और पुरस्कार

प्रेरक हों अनुशासन और पुरस्कार

सर्दी में गरमा-गरम डिश का आनंद

सर्दी में गरमा-गरम डिश का आनंद

यूं छुपाए न छुपें जुर्म के निशां

यूं छुपाए न छुपें जुर्म के निशां

शहर

View All