हांगकांग प्रदर्शन 12 वर्षीय लड़के को दिया दोषी करार

बीजिंग, 21 नवंबर (एजेंसी) हांगकांग में 6 महीने से चल रहे लोकतंत्र समर्थक आंदोलन में 12-वर्षीय लड़के को दोषी करार दिया गया है। पूर्व ब्रिटिश उपनिवेश हांगकांग की अदालत ने उसे 3 साल तक परामर्श और देखरेख में रखने के बारे में फैसला सुरक्षित रख लिया है। हांगकांग से प्रकाशित ‘साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट’ ने प्रकाशित खबर में लिखा कि अगर परिवीक्षा आदेश हुआ तो बच्चे का नाम आपराधिक रिकॉर्ड में दर्ज किया जाएगा। दोषी करार दिए गए बच्चे के नाम का खुलासा कानूनी वजहों से नहीं किया गया लेकिन पिछले महीने पुलिस थाने और रेलवे स्टेशन में तोड़फोड़ करने के आरोप में बृहस्पतिवार को उसे दोषी ठहराया। वकील ने मजिस्ट्रेट एडवर्ड वोंग चिंग यू से कहा कि बच्चे के माता-पिता तलाक के बाद अलग हो गए हैं और वह अपनी दादी के साथ रहता है। वकील के तर्क के बावजूद मस्जिट्रेट पर कोई असर नहीं हुआ और उन्होंने परिवीक्षा पर आदेश सुरक्षित रख लिया। परिवीक्षा आदेश दिया जाता है तो बच्चे को 3 साल तक परिवीक्षा अधिकारी की देखरेख और परामर्श में रहना पड़ेगा। मजिस्ट्रेट अदालत 19 दिसंबर को सजा सुनायेगी। अमेरिकी संसद में पास हुआ हांगकांग मानवाधिकार बिल वाशिंगटन (एजेंसी) : अमेरिकी सांसदों ने हांगकांग में लोकतंत्र और मानवाधिकार के समर्थन में एक विधेयक को मंजूरी दे दी है। चीन ने इस विधेयक पर कड़ी आपत्ति की है। हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव ने हांगकांग ह्यमून राइट्स एंड डेमोक्रेसी अधिनियम पारित कर दिया। इस विधेयक के समर्थन में 417 वोट पड़े जबकि विरोध में सिर्फ एक। बीजिंग ने इस पर गहरी नाराजगी जाहिर की है। इस विधेयक के तहत अमेरिका के राष्ट्रपति को हांगकांग को मिलने वाले पसंदीदा व्यापार दर्जे पर हर साल विचार करना होगा। इसके अलावा इस विधेयक में यह भी कहा गया है कि अगर हांगकांग में स्वतंत्रता को कुचला जाता है तो उसे अमेरिका की तरफ से जो प्रतिष्ठित दर्जा हासिल है, उसे भी खत्म किया जा सकता है। इस विधेयक को अब राष्ट्रपति ट्रंप के पास भेजा गया है। हाउस ने सीनेट की तरफ से एक दिन पहले पारित विधेयक को भी मंजूरी दे दी है। इसके तहत हांगकांग के सुरक्षा बलों को रबर बुलेट, टियर गैस सहित अन्य उपकरणों की आपूर्ति पर भी प्रतिबंध लगाने की सहमति दी गई है। विधेयक वापस लें बीजिंग : चीन ने अमेरिकी संसद में पास विधेयक पर कड़ा विरोध जताते हुये राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से इसे वापस लेने की मांग की है। इस विधेयक को लेकर चीन ने बुधवार को भी गुस्सा जाहिर किया था। अमेरिकी सांसदों ने अब हांगकांग मानवाधिकार और लोकतंत्र अधिनियम पारित कर दिया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

मुख्य समाचार

वीआरएस के बाद बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की चुनाव लड़ने की अटकलें, फिलहाल किया इनकार!

वीआरएस के बाद बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की चुनाव लड़ने की अटकलें, फिलहाल किया इनकार!

कहा- बिहार की अस्मिता और सुशांत को न्याय दिलाने के लिए लड़ी ...