सौ प्रतिशत सवारियों के साथ चलेंगी बसें

शिमला, 1 जुलाई (निस) हिमाचल प्रदेश में अब बसें 100 प्रतिशत सवारियों के साथ चल सकेंगी। प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार ने कोरोना के खौफ को दरकिनार करते हुए राज्य में बसों को सवारियों से भरकर चलाने को हरी झंडी दे दी है। हालांकि इस दौरान सरकार ने समुचित सामाजिक दूरी बनाए रखने और मास्क का उपयोग सुनिश्चित करने को भी कहा है। सरकार ने चालकों, परिचालकों और यात्रियों को सुरक्षा के मापदंडों का पूरा ध्यान रखने को भी कहा है। यह बात मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने आज शिमला में परिवहन विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता करते हुए कही। उन्होंने यह भी कहा कि परिवहन विभाग को अपनी सेवाएं स्वयं संचालित करने की दिशा में काम करना चाहिए ताकि लोगों को प्रभावी और समयबद्ध सेवाएं प्रदान की जा सके तथा लोग समय पर अपने गणतव्य तक पहुंच सकें। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों की सुविधा के लिए राज्य में पायलट आधार पर ई-परिवहन व्यवस्था आरम्भ की जाएगी। इस परियोजना की सफलता के उपरान्त इसे पूरे राज्य में कार्यान्वित किया जाएगा। इस पहल के अन्तर्गत लोगों को परमिट के नवीनीकरण, ड्राइविंग लाइसेंस और पंजीकरण प्रमाण पत्र, सम्बन्धित गतिविधियों और प्री-पेड टैक्सी प्रबन्धन आदि की सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। इससे लोगों को सुगमता से परिवहन सेवाओं का लाभ लेने में सहायता मिलेगी। जयराम ठाकुर ने कहा कि हिमाचल पथ परिवहन निगम के बेड़े में शीघ्र ही 250 नयी बसें शामिल की जाएंगी, जिनमें 100 इलेक्ट्रिक बसें भी शामिल हैं। वर्तमान में शिमला शहर में 50 और मनाली क्षेत्र में 25 इलकक्ट्रिक बसें चलाई जा रही हैं।

हमीरपुर में स्थापित होगा ट्रांसपोर्ट नगर

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमीरपुर में ट्रांसपोर्ट नगर स्थापित किया जाएगा जिसमें ड्राइविंग टेस्ट ट्रैक, ड्राइविंग प्रशिक्षण केन्द्र, ट्रैफिक पार्क और वाहनों के रखरखाव पार्क आदि की सुविधाएं प्रदान की जाएंगी। इस ट्रांसपोर्ट नगर में वाहन चालक परीक्षण और प्रशिक्षण का प्रबन्धन मूल उपकरण उत्पादकों द्वारा किया जाएगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें