सेना-सरकार में तकरार की खबरों पर सूचना मंत्री हटाए

सेना-सरकार में तकरार की खबरों पर सूचना मंत्री हटाए

लाहौर। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने शनिवार को देश के सूचना मंत्री परवेज राशिद को सरकार और आर्मी लीडरशिप में तनाव की खबरें लीक होने के बाद पद से हटा दिया। पीएम के प्रवक्ता मुसादिक मलिक ने बताया कि शुरुआती सबूत राशिद के खिलाफ हैं जिसमें हाई प्रोफाइल मीटिंग की जानकारी लीक हुई। मलिक ने राशिद को हटाए जाने की जानकारी देते हुए कहा, 'विवादास्पद खबर लीक होने पर जांच कई दिनों से जारी है, जो अब अंतिम दौर में है। जल्द ही मीडिया को इसकी जानकारी दे दी जाएगी। द डॉन (पाकिस्तानी अखबार) के रिपोर्टर को खबर लीक करने वाला सामने होगा।' गौरतलब है कि 'द डॉन' अखबार में रिपोर्टर सिरिल अलमिदा ने खबर लिखी थी कि भारत द्वारा की गई सर्जिकल स्ट्राइक के बाद से सेना और सरकार के बीच सबकुछ सही नहीं चल रहा है। इसके बाद सेना के बयान जारी किया था जिससे साफ था कि सेना खबर लीक होने के लिए नवाज शरीफ को जिम्मेदार मानती है। परवेज राशिद पीएम नवाज शरीफ के करीबी रहे हैं। रिपोर्ट्स के अनुसार ऐंटी-आर्मी खबरें मीडिया में राशिद की सहमति के बिना लीक नहीं हो सकती। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के लीडर और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान ने राशिद को हटाने का समर्थन करते हुए कहा कि अभी तो सिर्फ शरीफ का दरबारी गया है। धीरे-धीरे सभी जाएंगे। पाक के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ घरेलू मोर्च पर भी घिरते दिख रहे हैं। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) 2 नवंबर को राजधानी में बड़ा प्रदर्शन करने जा रही है। पीटीआई चीफ इमरान खान ने शरीफ को चुनौती देते हुए कहा कि वह उन्हें बताएंगे कि लोकतंत्र क्या होता है। इमरान ने अपने समर्थकों को सलाह दी है कि वे बड़े समूहों में यात्रा करें, कम संख्या होने पर पुलिस पकड़कर जेल में डाल देती है। उन्होंने अपने समर्थकों को यह भी कहा है कि मुख्य रास्तों की बजाय ऐसे रूट से राजधानी पहुंचें, जहां पुलिस की तैनाती न हो। इस्लामाबाद में प्रस्तावित शक्ति प्रदर्शन के बारे में उन्होंने कहा, 'यह नवाज शरीफ की तानाशाही है न कि लोकतंत्र। नवाज शरीफ को हम 2 नवंबर को बताएंगे कि असल में लोकतंत्र क्या होता है।' पूर्व क्रिकेटर ने समर्थकों से उनका हालचाल पूछा। बहुत से लोगों ने उनेक आवास के बाहर ही कैंप लगाकर रात बिताई। खान ने उनकी सहूलियत और सुविधाओं का ध्यान रखने का निर्देश दिया। बड़े बर्तनों में कार्यकर्ताओं के लिए नाश्ता तैयार किया गया था। कुछ समर्थक सुबह व्यायाम करते नजर आए। पीटीआई नेता शाह महमूद कुरैशी ने आरोप लगाया है कि सरकार इस्लामाबाद की ओर जाने वाली खैबर पख्तूनख्वा और पंजाब रूट को ब्लॉक कर रही है। डॉन न्यूज से बातचीत में उन्होंने इसे कोर्ट के आदेश के खिलाफ बताया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें