श्रीलंका : मध्यावधि चुनाव कराने पर विचार

कोलंबो, 19 नवंबर (एजेंसी) श्रीलंका में मध्यावधि संसदीय चुनाव हो सकते हैं, यह बात गोतबाया राजपक्षे के राष्ट्रपति पद की शपथ लेने के एक दिन बाद मंगलवार को संसद के अध्यक्ष कारु जयसूर्या ने कही। श्रीलंका पोदुजना पेरामुना के प्रत्याशी 70 वर्षीय राजपक्षे ने सत्तारूढ़ यूनाइटेड नेशनल पार्टी के उम्मीदवार 52 वर्षीय सजीत प्रेमदास को 13 लाख से अधिक मतों से हराया है। श्रीलंका में अगला संसदीय चुनाव संवैधानिक रूप से अगस्त 2020 के बाद होना है और मौजूदा प्रधानमंत्री को तबतक नहीं हटाया जा सकता है जब तक वह इस्तीफा न दे दें। राजपक्षे की जीत के बाद संसदीय चुनाव की जरूरत महसूस की जा रही है ताकि वे अपनी नयी सरकार गठित कर सकें। जयसूर्या ने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में राजपक्षे की जीत के बाद भविष्य में संसद के कामकाज को लेकर तीन विकल्पों पर विचार किया जा रहा है। अगले साल एक मार्च को संसद भंग कर दी जाए ताकि अप्रैल में मध्यावधि चुनाव का रास्ता साफ हो सके, तत्काल संसद को भंग कर दिया जाए और विधानसभा को भंग करने के लिए संसद दो तिहाई मत से मंजूरी दे या मौजूदा प्रधानमंत्री इस्तीफा दें और राष्ट्रपति को कार्यवाहक मंत्रिमंडल बनाने दें। जयसूर्या ने कहा कि वह संसदीय दल के नेताओं की बैठक बुलाएंगे और तीन विकल्पों पर चर्चा के बाद अंतिम फैसला लेंगे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

नदियों के स्वास्थ्य पर निर्भर पर्यावरण संतुलन

नदियों के स्वास्थ्य पर निर्भर पर्यावरण संतुलन

स्वाध्याय की संगति में असीम शांति

स्वाध्याय की संगति में असीम शांति

दशम पिता : भक्ति से शक्ति का मेल

दशम पिता : भक्ति से शक्ति का मेल

मुकाबले को आक्रामक सांचे में ढलती सेना

मुकाबले को आक्रामक सांचे में ढलती सेना

शहर

View All