विज्ञापनों के लिए 2 संगठनों ने दिया धन : अध्ययन

वाशिंगटन, 18 नवंबर (एजेंसी) फेसबुक पर टीकों (वैक्सीन) के बारे में गलत सूचनाएं फैलाने वाले ज्यादातर विज्ञापनों के लिए भुगतान महज 2 संगठनों ने किया। टीका विरोधी अवैज्ञानिक संदेशों के प्रसार के लिए सोशल मीडिया की भूमिका को बताने वाले एक अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है। अमेरिका के मेरीलैंड विश्वविद्यालय तथा अन्य संस्थानों के अध्ययनकर्ताओं ने पाया कि टीका विरोधी विज्ञापन खरीददारों के एक छोटे से समूह ने लक्षित उपयोगकर्ताओं तक पहुंचने के लिए फेसबुक का फायदा उठाया। शोधकर्ताओं ने कहा कि इस शोध में सोशल मीडिया पर मिलने वाली गलत सूचनाओं के खतरे के प्रति सचेत रहने की अपील की गई है क्योंकि यह ‘टीका लगाने की हिचकिचाहट’ को बढ़ा सकता है जोकि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मुताबिक इस साल वैश्विक स्वास्थ्य के लिये सबसे बड़े खतरों में शामिल है। उन्होंने कहा कि टीका लगाने से इनकार की दर बढ़ने से उन बीमारियों को रोकने में हुई प्रगति बाधित होगी जो मात्र टीके की मदद से रोकी जा सकती हैं जैसे कि खसरा। दुनियाभर में इस बीमारी के मामलों में 30 फीसदी इजाफा हुआ है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All