मिठाई-फल डाल कर घर लायें नया बर्तन

मदन गुप्ता सपाटू

दिवाली की शुरुआत का पर्व धनतेरस इस बार दो दिन होगा। शुक्रवार 25 अक्तूबर को शाम करीब 7 बजे से शनिवार दोपहर बाद 3:47 बजे तक त्रयोदशी रहेगी। धनतेरस पर धन्वंतरि देव की पूजा का विधान है। यह दिन खरीदारी के लिए बेहद खास माना जाता है। धनतेरस पर सर्वार्थ सिद्धि योग भी रहेगा। इस दिन प्रातः घर के प्रवेश द्वार को धोयें, रंगोली बनाएं, बिजली की झालर लगाएं। घर की अच्छी तरह सफाई करें। रद्दी व टूटा-फूटा सामान फेंक दें या बेच दें। इसी तरह शरीर की भी अच्छी-तरह साफ-सफाई करें। धनतेरस के दिन नये बर्तन खरीदें। ध्यान रखें कि नये बर्तन को खाली न लाएं, उसमें मिठाई या फल भर कर लाएं। गहने, वाहन, मकान खरीदने के लिए इसे बेहद शुभ दिन माना जाता है। दिवाली पूजा के लिए खील-बताशे भी धनतेरस के ही दिन घर लायें, इन्हें सुख-समृद्धि का प्रतीक माना जाता है। धन्वंतरि दिवस पर जरूरतमंदों को दवाई दान दें। शाम के वक्त मुख्य द्वार पर चावल या गेहूं की ढेरी पर आटे का चौमुखी दीप जलायें। साथ में जल, रोली, गुड़, फूल नैवेद्य रखें।

राशि के अनुसार क्या खरीदना रहेगा शुभ

मेष : सोने का सिक्का, मोबाइल फोन, टीवी जैसे उपकरण खरीदें। लाल फल दान करें। वृष : सोने का सिक्का, साबुत हल्दी, शिक्षा संबंधी उपकरण जैसे लैपटॉप या कंप्यूटर ले सकते हैं। मिथुन : फूड प्रोसेसर, मिक्सी, केसर, कलई किए बर्तन खरीद सकते हैं। कर्क : चांदी के बर्तन, मोती का हार या अंगूठी, मकान, वाहन, फ्रिज, वाटर प्योरिफायर या वाटर कूलर खरीदना शुभ रहेगा। सिंह : सोने के गहने या सिक्का खरीदना धन वृद्धि करेगा। शहद, खजूर उपहार दें। कन्या : मोबाइल, ब्रॉडबैंड कनेक्शन, टीवी, संचार संबंधी उपकरण, स्टील के बर्तन, होम एप्लायंस खरीदें। क्रेडिट कार्ड या ऋण लेकर कुछ न खरीदें। तुला : चांदी के बर्तन, क्रॉकरी, परफ्यूम खरीदें। रियल एस्टेट में निवेश करें। वृश्चिक : इलेक्ट्रॉनिक आइटम खरीदें। लाल रंग का एप्लायंस अच्छा रहेगा। तांबे के बर्तन, डेकोरेशन पीस खरीदें। धनु : लक्ष्मी जी का सोने का सिक्का या मूर्ति सामर्थ्यानुसार खरीद कर पूजा स्थान पर स्थापित करें। मकर : प्रॉपर्टी से कुछ प्राप्त होगा। वाहन या घर में इस्तेमाल होने वाले बर्तन या बिजली के उपकरण खरीद सकते हैं। कुंभ : लोहे की कढ़ाई, कुकर, वाहन, फ्रिज, टीवी खरीदना अच्छा रहेगा। मीन : प्रापर्टी का बयाना दे सकते हैं। तांबे के बर्तन खरीदना शुभ रहेगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश