महाभियोग ढकोसला, न होने दिया जाये : ट्रंप

वाशिंगटन, 14 नवंबर (एजेंसी)

वाशिंगटन में राष्ट्रपति ट्रंप के खिलाफ महाभियोग जांच के सिलसिले में हाउस इंटेलिजेस कमेटी की सुनवाई के बाद प्रेस से बात करते कमेटी के चेयरमैन एडम शिफ। -रा.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि डेमोक्रेट नीत हाउस ऑफ रिप्रजेंटेटिव्स में उनके खिलाफ महाभियोग की प्रक्रिया एक ढकोसला है और इसे नहीं होने देना चाहिए। महाभियोग के तहत सार्वजनिक सुनवाई बुधवार को शुरू हुई जब यूक्रेन के कार्यवाहक राजदूत विलियम टेलर और यूरोपीय तथा यूरेशियाई मामलों के लिए उप सहायक विदेश मंत्री जॉर्ज केंट ने खुफिया सूचना पर सदन की स्थाई प्रवर समिति के सामने पांच घंटे से अधिक समय तक अपने बयान दर्ज कराए। ट्रंप पर राष्ट्रपति पद के संभावित डेमोक्रेट उम्मीदवार जोए बाइडेन तथा उनके बेटे हंटर के खिलाफ निजी तौर पर राजनीतिक लाभ पाने के लिए यूक्रेन के अधिकारियों पर दबाव बनाने के नाते पद के दुरुपयोग के आरोप हैं। हंटर यूक्रेन की एक गैस कंपनी के बोर्ड में रहे हैं। ट्रंप ने तुर्की के मेहमान राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोआन के साथ व्हाइट हाउस में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘यह ढकोसला है और इसकी अनुमति नहीं होनी चाहिए। यह स्थिति उन लोगों ने पैदा की है जिन्हें इसे नहीं होने देना चाहिए था।' व्हाइट हाउस में पूरे दिन एर्दोआन के साथ बैठकों में व्यस्त रहे ट्रंप ने कहा कि उन्होंने अपने महाभियोग पर सार्वजनिक सुनवाई नहीं सुनी।

जब एक संवाददाता ने महाभियोग पर ट्रंप की प्रतिक्रिया जाननी चाही तो उन्होंने कहा, ‘क्या आप पीछे पड़ने की साजिश की बात कर रहे हैं? मुझे यह मजाक लगता है। मैंने प्रक्रिया देखी नहीं। मैंने इसे एक मिनट के लिए भी नहीं देखा क्योंकि मैं तुर्की के राष्ट्रपति के साथ रहा और वह मेरे लिए ज्यादा महत्वपूर्ण है।' उन्होंने कहा कि वह जानना चाहेंगे कि व्हिसलब्लोअर कौन है। ट्रंप ने कहा कि इस व्हिसलब्लोअर ने ही कई सारी गलत जानकारी दी जिसमें जुलाई में यूक्रेन के राष्ट्रपति के साथ फोन पर उनकी बातचीत शामिल हैं। उन्होंने कहा, ‘उन्होंने ऐसा कुछ लिखा जो तथ्य से बहुत अलग था।'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All