बंधन दो मासूमों का

ज़ी टीवी की ताजा पेशकश 'बंधन... सारी उमर हमें संग रहना है' ऐसा टेलीविजन शो है जो छोटी बच्ची दर्पण और हाथी के नवजात बच्चे गणेशा के अनूठे रिश्ते में झांकता है। यह छोटी बच्ची गणेशा को अपना छोटा भाई मानती है!  स्वास्तिक प्रोडक्शन्स के बैनर तले बन रहा 'बंधन... सारी उमर हमें संग रहना है' दो मासूम लोगों के नाजुक रिश्ते की दिल को छू लेने वाली कहानी है। यह जी टीवी पर 16 सितंबर से प्रसारित हो रहा है। बंधन अपने दर्शकों को दर्पण और उसके परिवार की मासूम दुनिया में ले जाएगा जो डालमा के जंगल में रहता है। हमेशा से ही एक छोटे भाई की चाह रखने वाली दर्पण का सपना बड़े ही अनपेक्षित रूप में पूरा होता है...इसके बाद इस बेरहम दुनिया में उनके प्यार और संघर्ष का सफर शुरू होता है। इस शो की शूटिंग वन क्षेत्रों में हुई है जहां जंगल के बीचों बीच कार्णिक परिवार का खूबसूरत घर और इस घर के बाजू से एक नदी बहती है। इस शो में आदित्य रेडिज दर्पण के पिता का रोल निभा रहे हैं जो एक नेकदिल और ईमानदार फारेस्ट रेंजर हैं। श्वेता मुंशी इसमें दर्पण की मां के रोल में हैं। इसमें सुदेश बेरी एक दुष्ट शिकारी के रूप में आतंक का पर्याय बनकर लौट रहे हैं।  उन्होंने टेलीविजन और बालीवुड फिल्मों में अनेक यथार्थवादी और कठोर चरित्र निभाए हैं। ज़ी टीवी के लोकप्रिय शो 'अगले जनम मोहे बिटिया ही कीजो' में उनके द्वारा निभाया गया लोहा सिंह का किरदार अब तक दर्शकों के जेहन में ताजा है।  निर्माता सिद्धार्थ कुमार तिवारी कहते हैं, 'अगले जनम मुझे बिटिया ही कीजो के बाद ज़ी टीवी के साथ दोबारा काम करके खुशी हो रही है। टीवी पर आज जो भी आप देख रहे हैं उन सभी बातों से अलग 'बंधन' एक ऐसी दुनिया की कहानी है जो कंक्रीट में बसने वाले शहरी जीवन से बिल्कुल जुदा है। (फीडे)

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें