पौधे ने ली पहली बोटेनिकल सेल्फी

कुमार गौरव अजीतेन्दु

सेल्फी का क्रेज़ इनसानों में आम होता जा रहा है तो भला टेक्नोलॉजी के इस ज़माने में पेड़-पौधे पीछे कैसे रहें? हाल ही में लंदन में एक पौधे ने दुनिया की पहली सेल्फी ली है। चिड़ियाघर में मौजूद यह पौधा खुद से एनर्जी जनरेट करता है और हर 20 सेकेंड में फोटो कैप्चर करता है। वैज्ञानिकों का कहना है यह वाइल्ड लाइफ की मॉनिटरिंग करने का बेहतरीन तरीका है। इसकी मदद से कई तरह के शोधों को बढ़ावा मिलेगा। जूलॉजिकल सोसायटी ऑफ लंदन के मुताबिक, पौधे में लगा पावर कैमरा और सेंसर सेल्फी लेने में मदद करते हैं। लंदन के चिड़ियाघर में जूलॉजिकल सोसायटी ऑफ लंदन के वैज्ञानिकों ने माइक्रोबियल फ्यूल सेल विकसित की थी। यह एक तरह की डिवाइस है जो माइक्रोऑर्गेनिज्म की उपस्थिति में केमिकल एनर्जी को इलेक्टि्रकल एनर्जी में बदलती है। शोधकर्ताओं का कहना है कि कैमरे की मदद से जंगल के ऐसे हिस्से पर नजर रखी जा सकती है जहां आसानी से पहुंचना संभव नहीं हो पाता। वैज्ञानिकों के मुताबिक, इस तकनीक का इस्तेमाल ऐसे पौधों में किया गया है जो छायादार जगह में लगे होते हैं, जैसे फर्न। ऐसे पौधे खास तरह की ऊर्जा रिलीज करते हैं, इसका इस्तेमाल पौधे में लगे कैमरे और सेंसर ईंधन की तरह करते हैं। जूलॉजिकल सोसायटी ऑफ लंदन के संरक्षणकर्ता डेविस की मुताबिक जैसे-जैसे पौधे बढ़ते हैं, उनमें बायोमैटर इकट्ठा होता जाता है जो प्राकृतिक रूप से बैक्टीरिया के लिए भोजन का काम करते हैं। ये बैक्टीरिया मिट्टी में पाए जाते हैं और इनकी मदद से फ्यूल सेल डिवाइस में ऊर्जा पैदा होती है, जिसका इस्तेमाल सेंसर और कैमरे के लिए किया जाता है।

कार पार्किंग से खुद लेने आएगी अब तक कार के मालिक को अपनी कार लेने पार्किंग तक जाना पड़ता था लेकिन अब कारें खुद पार्किंग से चलकर अपने मालिक के पास आएंगी। लग्ज़री कार मेकर कंपनी लेक्सस ने अपनी पहली इलेक्ट्रिक कार एलएफ-30 पेश की है। यह कंपनी का कॉन्सेप्ट मॉडल है। कंपनी के मुताबिक, कार ऑटोनोमस ड्राइविंग और ड्रोन टेक्नोलॉजी को सपोर्ट करती है। यह एआई टेक्नोलॉजी से लैस है। कार की खासियत है कि यह मालिक को लेने खुद चलकर पार्किंग से घर के दरवाजे तक आती है। चार सीट वाली लेक्सस एलएफ-30 में गुलविंग डोर लगे हैं। यह ऊपर की तरफ खुलते हैं। इसके अलावा कार में फुल टच स्क्रीन ग्लास रूफ है। कार में चार इलेक्ट्रिक मोटर लगी हैं। इसके हर व्हील में एक इलेक्िट्रक मोटर है। चारों मोटर मिलकर कुल 536 हॉर्स पावर की ताकत और 700 एनएम का टार्क जनरेट करती हैं। एलएफ-30 लगभग 2300 किलो भार लेकर चलने में सक्षम है। इसे 100 कि.मी. प्रति घंटा की रफ्तार तक पहुंचने में मात्र 3.8 सेकेंड का समय लगता है। कार को पावर देती है इसमें लगी 110 kwh बैटरी जो कि कार के फ्लोर में लगी है। फुल चार्जिंग में यह 500 किलोमीटर तक चलती है। यह कार वायरलेस चार्जिंग टेक्नोलॉजी से लैस है। इसे घर पर ही बिना किसी झंझट के चार्ज किया जा सकता है। इसका एआई बेस्ड एनर्जी मैनेजमेंट सिस्टम, कार और घर दोनों के बीच इलेक्टि्रक पावर डिस्ट्रीब्यूशन के बीच तालमेल रखता है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All