पार्टी दे रहे हैं तो रहें सजग

सरोज गुप्ता

आज का सामाजिक वातावरण ऐसा है कि किसी भी खुशी के अवसर पर पार्टी का आयोजन आवश्यक-सा हो गया है। बच्चे या बड़े, किसी का भी जन्मदिन हो, बच्चे का जन्म हो या फिर शादी की सालगिरह अथवा अन्य कोई सुअवसर, सभी अवसरों पर हम अपने मित्रों, पड़ोसियों तथा रिश्तेदारों को एकत्रित अवश्य करते हैं। लेकिन ऐसे आयोजनों के लिए भी हमें कुछ बातों के प्रति सतर्क होना चाहिए तभी हमारे आने वाले मेहमान पूरी तरह संतुष्ट होकर जा सकेंगे।

निमंत्रण पत्र हो खास प्राय: देखा जाता है कि निमंत्रण पत्र में समारोह का जो समय दिया जाता है, उसमें बहुत विलंब कर दिया जाता है। परिणामस्वरूप अतिथियों को काफी देर प्रतीक्षा करनी पड़ती है। इस बोरियत से वे खिन्न हो उठते हैं तथा उनका उत्साह भी आधा रह जाता है। कुछ लोग तो वापिस भी चले जाते हैं क्योंकि उनके पास इतना समय नहीं होता। इसलिए मेजबान परिवार को इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि ऐसी स्थिति न पैदा होने दें। यथासंभव कार्यक्रम को समयानुसार ही आरंभ कर देना चाहिए ताकि आने वालों का समय व्यर्थ में नष्ट न हो। घर के किसी वरिष्ठ सदस्य को अतिथियों का स्वागत करने के लिए समारोह पंडाल में उपस्थित रहना चाहिए।  आने वालों का हाथ जोड़ कर या हाथ मिलाकर अभिवादन करना अति आवश्यक होता है।

सारे मेहमान एक समान पार्टी में आप ऐसा न करें कि कुछ लोगों की ओर विशेष ध्यान दें या बार-बार उनसे ही आग्रह करते रहें। ऐसा करने से अन्य लोगों को बुरा लग सकता है। अत: सभी की ओर समान रूप से ध्यान दें।

सबसे पहले पिलायें पेय यदि गर्मी का मौसम है और पार्टी शुरू होने में कुछ विलंब हो रहा है तो मेहमानों को शीतलपेय आदि अवश्य पिला दीजिए। कहीं ऐसा न हो कि लोग प्यास से परेशान हुए स्वयं ही इधर-उधर पानी की तलाश में घूमते रहें। सर्दी में चाय -काफी दी जा सकती है। मेहमानों को छोटी-छोटी शिकायतों का मौका नहीं देना चाहिए ताकि आप दूसरों की आलोचना से बच सकें। इसलिए यह आवश्यक है कि आपकी व्यवस्था समुचित हो, जिससे कि आने वाले मेहमान आपकी प्रशंसा करते हुए जाएं।

आने के लिये शुक्रिया कहें विदा करते समय प्रत्येक अतिथि का धन्यवाद करना न भूलिए। उन्हें ऐसा अनुभव हो कि उनके आने से वास्तव में आपको बेहद प्रसन्नता हुई है। किसी कमी के लिए क्षमा मांगना भी शिष्टाचार के अन्तर्गत आता है। उपरोक्त सभी बातों का ध्यान रखकर किसी भी समारोह का आयोजन किया जाए तो नि:संदेह आपके अतिथि आपके व्यवहार से पूर्णतया संतुष्ट होकर जाएंगे तथा अन्य पार्टियों में भी आपकी तारीफ करना न भूलेंगे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश