देश की जरूरत के हिसाब से 12 सरकारी बैंक काफी : वित्त सचिव

नयी दिल्ली, 8 सितंबर (एजेंसी) वित्त सचिव राजीव कुमार ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों का विलय कर 4 बैंक बनाने से बैंकों के एकीकरण की प्रक्रिया लगभग पूरी हो गई है। उन्होंने कहा कि आकांक्षी और नये भारत की जरूरतों को पूरा करने के लिए 12 सार्वजनिक बैंकों की संख्या बिल्कुल उचित है। इस एकीकरण के पूरा होने के बाद देश में राष्ट्रीयकृत बैंकों की संख्या 12 रह जाएगी। 2017 में यह संख्या 27 थी। उन्होंने रविवार को कहा कि बैंकों की यह संख्या देश की जरूरत के हिसाब से उचित है। उन्होंने कहा कि सरकार के इस फैसले से 5 हजार अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था के लक्ष्य को पाने में मदद मिलेगी। उधर, मौजूदा वित्त वर्ष की पहली तिमाही के दौरान सार्वजनिक क्षेत्र के 18 बैंकों में कुल 31,898.63 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी के 2,480 मामले सामने आए हैं। यह खुलासा एक आरटीआई में मांगी जानकारी से हुआ।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

मुख्य समाचार

सीबीआई ने बिहार पुलिस से अपने हाथ में ली जांच

सीबीआई ने बिहार पुलिस से अपने हाथ में ली जांच

सुशांत मामला / नयी प्राथमिकी दर्ज

कश्मीर मसला उठाने की पाक, चीन की कोशिश नाकाम

कश्मीर मसला उठाने की पाक, चीन की कोशिश नाकाम

भारत ने कहा- ऐसे निष्फल प्रयासों से सीख लें

पूर्व मंत्री के बेटे के 16 ठिकानों पर ईडी के छापे

पूर्व मंत्री के बेटे के 16 ठिकानों पर ईडी के छापे

बैंक धोखाधड़ी मामले में पूर्व मंत्री का पुत्र संलिप्त

शहर

View All