त्योहार की रंगत में फैशन का रंग

मोनिका अग्रवाल

त्योहारों पर सुंदर कौन नहीं दिखता चाहता। इस बार दीवाली के लेटेस्ट आउटफिट की बात करें तो जरी वर्क और कढ़ाई की हुई ड्रेसेज़ का खूब बोलबाला है। आइए जानते हैं इस दीवाली आप क्या पहनकर अपने सौंदर्य की आभा को दमका सकती हैं।

क्लासिक पहनावा है लहंगा दीवाली के मौके पर हर महिला की खूबसूरती में चार चांद लगाने के लिए लहंगा उन भारतीय पहनावों में से एक है जो सबसे अधिक पसंद किया जाता है। क्योंकि यह भारी कढ़ाई और मोतियों, रूपांकनों और सेक्विन जैसे काम से सुशोभित है। हल्के रंगों के साथ भारी सेक्विन और जरी वर्क वाले लहंगे के साथ ट्रेंडिंग दिखने के लिए पेस्टल कलर्स पर हल्के गोटा पट्टी दुपट्टे का टच लिये मार्केट में कई ब्रांड की डैसेज़ हैं। दूसरी तरफ रफल्स जैसे ट्रेंडिंग फीचर्स के साथ प्लेन लहंगे भी हैं, जिसमें मिरर वर्क है।

मॉडिश लुक शरारा इस बार कुर्ती को फ्लेयर्ड प्लाजो या फिर घेरे वाले शरारा के साथ पहन कर देखें। यदि कुछ और नया एक्सपेरिमेंट करना चाहते हैं तो शॉर्ट कुर्ता या हाई या लो असिमिट्रिकल कुर्ता और शरारा भी पहन सकती हैं। दीवाली के लिए शरारा और जरदोजी शॉर्ट कुर्ता, फ्लेयर्ड गोटा पत्ती के साथ मॉडर्न ट्विस्ट तो देता ही है, आपको बहुत कूल और कंफर्टेबल भी रखेगा। दीवाली के दिनों में शरारा बहुत ही आरामदायक और खूबसूरत लुक के लिए है।

एलीगेंट कांबीनेशन साड़ी कोई सा भी परिधान हो पर साड़ी के बिना अधूरा है। सेलिब्रिटी हो या आम महिला, सबकी पहली पसंद है परंपरागत भारतीय साड़ी। हल्के और सस्ते कपड़े जैसे सूती सिल्क आर्ट सिल्क दीवाली के लिए बेस्ट है। सिल्क की साड़ी सेल्फ प्रिंट के साथ, एथेनिक फैशन है।

बोहो चिक सब ट्रेंड्स में थोड़े बहुत बदलाव के साथ पहनने से और भी ट्रेडिशनल और फैशनेबल लुक आपकी खूबसूरती में चार चांद लगा देता है। एक नया ट्रेंड धोती पेंट का चलन आया है, बांधने में व पहनने में इजी।

पारंपरिक गाउन जब भारतीय फैशन के साथ एकता का भी टच हो तो कुछ अलग ही लुक प्रदान करती हैं ड्रेसेस। यदि गाउन में वेस्टर्न फ्यूजन, इंडियन ट्रेन्ड, जरदोजी ,सीकवल्स, गोटा पत्ती का सम्मिश्रण हो तब भारतीय परिधानों के क्या कहने।

फ्यूज़न प्लाजो सूट यदि आप प्लाजो पहनना पसंद करते हैं तो इस बार एंब्रॉयडरी की हुई शॉर्ट कुर्ती उसके साथ कैरी करें या फिर शॉर्ट कुर्ती पर हैवी एंब्रॉयडरी करा हुआ दुपट्टा कैरी करके देखें। तो यह और भी आकर्षक लगेगा। इस दीवाली सिर्फ आपका ही जलवा होगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

किसानों की आशंकाओं का समाधान जरूरी

मुख्य समाचार

वीआरएस के बाद बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की चुनाव लड़ने की अटकलें, फिलहाल किया इनकार!

वीआरएस के बाद बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय की चुनाव लड़ने की अटकलें, फिलहाल किया इनकार!

कहा- बिहार की अस्मिता और सुशांत को न्याय दिलाने के लिए लड़ी ...