जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग तीसरे दिन भी बंद

बनिहाल/जम्मू, 16 नवंबर (एजेंसी) जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग शनिवार को तीसरे दिन भी बंद रहा जबकि भारी बारिश ने रामबन जिले में भूस्खलन के कारण जमा हुए मलबे को हटाने का कार्य बाधित कर दिया। यातायात विभाग के अधिकारियों ने बताया कि राजमार्ग बंद होने से आवश्यक वस्तुओं को कश्मीर तक ले जाने वाले ट्रकों समेत हजारों वाहन फंस गये। डिगडोल में बृहस्पतिवार रात 9 बजे के करीब कश्मीर को देश के बाकी हिस्सों से जोड़ने वाले इस एकमात्र राजमार्ग पर हुए भारी भूस्खलन के कारण यातायात अवरुद्ध हो गया। अधिकारियों ने बताया कि सड़क से मलबा हटाने का काम तुरंत शुरू कर दिया गया था लेकिन शुक्रवार रात से ही रुक-रुक कर हो रही बारिश ने काम बाधित कर दिया। अधिकारियों ने कहा आज सुबह मरूग सहित कई स्थानों पर राजमार्ग से पत्थर हटा दिये गये हैं। 15000 से अधिक ट्रक, 600 हल्के वाहन फंसे रामबन बेल्ट में 15 हजार से अधिक ट्रक और 600 हल्के मोटर वाहन अवरुद्ध सड़क के दोनों ओर फंसे हुए हैं। जम्मू क्षेत्र के पुंछ और राजौरी जिलों को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले से जोड़ने वाले मुगल रोड पर शनिवार को लगातार 11वें दिन भी यातायात बंद रखा गया। 6 नवंबर को मौसम की पहली बड़ी बर्फबारी के बाद बंद कर दी गई थीं। मुगल रोड के आसपास कुछ दिनों से बर्फबारी हो रही है। 1.30 लाख बुजुर्गों, विधवाओं को पेंशन मंजूर जम्मू (एजेंसी) : जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल जीसी मुर्मू ने शनिवार को वरिष्ठ नागरिकों, विधवाओं और दिव्यांग लोगों के एक लाख से अधिक नये पेंशन मामलों को मंजूरी दी। उन्होंने कहा कि केंद्र प्रायोजित पेंशन कार्यक्रम - एकीकृत समाजिक सुरक्षा योजना और राष्ट्रीय सामाजिक सहायता कार्यक्रम के तहत मामलों को मंजूरी दी गयी। एक आधिकारिक प्रवक्ता ने बताया कि केंद्र शासित क्षेत्र में लंबित पेंशन मामलों के मुद्दों की समीक्षा के लिए उपराज्यपाल की अध्यक्षता में उच्च स्तरीय बैठक में फैसला लिया गया। समाज कल्याण विभाग के आयुक्त ने कहा कि वर्तमान में आईएसएसएस और एनएसएपी से 6,12,950 लाभार्थी लाभ ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि विभाग के समक्ष तीन लाख से अधिक मामले लंबित हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें