जनता को लूट रहे निजी शिक्षण संस्थान : कांग्रेस

शिमला, 1 जुलाई (निस) हिमाचल प्रदेश कांग्रेस महासचिव और शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य सिंह ने प्रदेश में शिक्षा के नाम पर निजी स्कूलों, विश्वविविद्यालय की कथित मनमर्जी पर सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा है कि प्रदेश में इन निजी शिक्षण संस्थानों को लोगों को लूटने की खुली छूट है। उन्होंने कहा कि एक तरफ ये शिक्षण संस्थान मोटी फीस छात्रों से वसूल रहे हैं तो दूसरी तरफ अपने स्टाफ को पूरी तनख्वाह भी नहीं दे रहे हैं। प्रदेश में फर्जी डिग्री मामले सामने आने के बाद तो इनकी विश्वसनीयता पर ही प्रश्नचिन्ह लग गया है। विक्रमादित्य सिंह ने आज पत्रकारों के साथ बातचीत करते हुए कहा कि कोरोना संकट के चलते पूरा देश अस्तव्यस्त हो गया है। शिक्षण संस्थान बंद पड़े हैं, कामकाज ठप पड़े हैं, बेरोजगारी बढ़ गई है, देश की अर्थव्यवस्था निम्न स्तर पर पहुंच गई है। विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार एक तरफ इन संस्थानों से लॉकडाउन समय की फीस न लेने की बात कर रही है वहीं दूसरी ओर यह संस्थान अभिभावकों से यह फीस के नोटिस भेज रहे हैं। उन्होंने कहा कि सरकार को इस बारे स्पष्ट निर्देश जारी करने चाहिए कि उन्हें फीस देनी है या नहीं और अगर देनी भी है तो किस हिसाब से। विक्रमादित्य सिंह ने सरकार से मांग की कि वह प्रदेश के लोगों को इस लूट से बचाएं। उनका कहना है कि फर्जी डिग्री मामले की भी पूरी जांच की जानी चाहिए।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें