खुद से पहले दूसरों की सोचें

विद्या

इनसानी व्यवहार की बुनियादी बातें कामयाबी की सीढ़ियां चढ़ने में मददगार साबित होती हैं। इसलिये केवल अपने बारे में न सोचें, औरों के बारे में भी सोचना सीखें। सफलता के सिद्धांत भी यही कहते हैं कि अच्छे मैनर्स को जीवन में अपनाना ज़रूरी है और इसके लिये दूसरों की भावनाएं, उनके अधिकार और सुविधाओं का ख्याल रखना एक अच्छे नागरिक का कर्तव्य है।

  • हेडफोन पहनकर चल रहे हों तो किसी भी तरह से यह न सोचें कि सामाजिक शिष्टाचार के दायरे से आप बाहर निकल आएंगे। जैसे अगर आप गलती से किसी के पर्सनल स्पेस में कदम रख लेते हैं तो उसे इग्नोर कर आगे बढ़ने से अच्छा है कि विनम्रता के साथ माफी मांग लें।
  • किसी को जबरन कोई वस्तु, किताब या गैजेट उधार न दें। हो सकता है कि उनके पास इसे पढ़ने का वक्त न हो और वे इसे लेने के लिये टालमटोल कर रहे हों। इससे आपको भी बुरा लगेगा कि सामने वाला आपकी चीज़ वापस लौटाने के बहाने ढूंढ रहा है।
  • बस में, ट्रेन में या सफर के दौरान कहीं भी ज़ोर-ज़ोर से मोबाइल पर बात न करें, ऐसा करना बाकी लोगों के लिये असुविधाजनक हो सकता है। अगर हर कोई फोन पर व्यस्त है तो आपको थोड़ी राहत मिल सकती है।
  • फ्लाइट में या ट्रेन में चढ़ने के दौरान अगर आप ग्रुप डी में हैं तो ग्रुप ए में घुसने की कोशिश न करें, बल्कि अपनी बारी का इंतज़ार करें। रेस्त्रां में बच्चों के साथ मंकी जंपिंग न करें। बच्चों को भी समझाएं कि कभी किसी शख्स या महिला की निकली हुई तोंद को न छुएं। खासकर गर्भवती महिला की बेली को हाथ न लगाएं। बच्चों को यह भी समझाएं कि घर में या पब्लिक प्लेस पर अलमारी, खिड़की को खुला न छोड़ें, किसी को चोट लग सकती है।
  • किसी इवेंट में जा रहे हैं तो पहले से मन बना लें कि दोस्तों, रिश्तेदारों या सहयोगियों के साथ वक्त बिताना ज्यादा ज़रूरी है। ऐसे वक्त में सारा फोकस अपने कैमरे या फोन पर न रखें। इन्हें थोड़ी देर के लिये एक तरफ रख दें। खाली वक्त में चाहें तो इनका इस्तेमाल फोटो या वीडियो शूट के लिये कर सकते हैं। इससे लोगों के साथ बिताया वक्त और यादें दोनों को सहेज लेंगे।
  • सोशल नेटवर्किंग साइट का इस्तेमाल कर रहे हैं तो एक-दूसरे को टारगेट न करें, क्योंकि अगर किसी भी तरह की शिकायत दर्ज करानी है या कोई आपत्ति है तो बुरा-भला कहने से अच्छा है कि पब्लिक साइट पर न जाकर मैसेज के ज़रिये इसे दर्ज कराएं। याद रखें कि ई गॉसिप बहुत जल्दी से किसी गलत व्यक्ति के ज़रिये बखेड़ा खड़ा कर सकती है।
  • जिम या एक्सरसाइज़ करने वाली किसी भी जगह पर अगर देर से आ रहे हैं तो ज़रूरी नहीं है कि आपको फ्रंट पर ही जगह मिले। किसी के लिये रोड़ा न बनें। तीन से चार फीट पीछे खड़े रहकर अपने उपकरण लगाएं और व्यायाम शुरू करें। इससे बाकी लोगों को असुविधा नहीं होगी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All