क्या आप अच्छे मेहमान हैं...

मोनिका अग्रवाल आज के दौर में बिना पूर्व सूचना के किसी के घर जाना उनके लिये परेशानी का सबब बन सकता है। सभी लोग अपने- अपने जीवन में व्यस्त हैं। अच्छे मेहमान बनने के लिये सभ्य व्यवहार बहुत ज़रूरी है। तभी आप अच्छे, शालीन और विनम्र मेहमानों की श्रेणी में आएंंगे। सूचना देकर जाएं किसी के भी घर पर अचानक से न धमक जाएं बल्कि पहले से अपने आने की इन्फार्मेशन दें। कहीं ऐसा ना हो आपको अचानक आया देख कर मेजबान मुंह बनाएं। बिना बताए किसी के घर जा धमकना अशिष्टता की श्रेणी में आता है। बिना सूचित किए कदापि न जाएं। मेजबान को फोन कर पहले से जगह या घर की लोकेशन मालूम कर लें। पहुंचने में समय लग रहा है तब भी सूचित करें। मौका देखकर तोहफा चुनें इन दिनों फेस्टिवल सीज़न चल रहा है। अगर किसी के घर जा रहे हैं तो मेजबान के लिए गिफ्ट ले जाएं। बच्चों के लिए भी कुछ ना कुछ जरूर लेकर जाएं। मेजबान को अच्छी तरह से जानते हैं तो उनके घर की जरूरत के मुताबिक कोई तोहफा खरीदें। छोटे बच्चे हैं तो चाकलेट, बड़े हैं, तो कोई नॉवेल किताब या फूलों का गुलदस्ता और यदि बुजुर्ग हैं, तो फल, मेवे ले जा सकते हैं। गिफ्ट की पैकिंग अच्छी तरह से करें और खरीदते समय क्वालिटी का भी ध्यान रखें। मान लीजिये आप किसी सालगिरह पर गये हैं तो उसी के मुताबिक तोहफा चुनें। रस्म अदायगी नहीं, खुलकर मिलें गिफ्ट का आदान-प्रदान एक रस्म अदायगी नहीं होता। कोशिश करें किसी के भी घर पर जाएं तो मुलाकात को यादगार बना दें। बातचीत भी औपचारिक ना हो बल्कि दिल खोलकर बात करें। बच्चों से उनकी पसंद के विषय पर बातचीत करें । बड़ों से उनकी रुचि के बारे में बात करें। बहस से बचें किसी भी पार्टी या फंक्शन में धर्म और राजनीति जैसी विवादास्पद चीज़ों पर बात करने से बचना चाहिये। क्योंकि इन मुद्दों पर बहस हो जाती है। बेहतर है कि देश-दुनिया, सैर सपाटा, संस्कृति के अलावा साईंस और टेक्नोलॉजी के बारे में बात की जाए। एंटरटेनमेंट से अच्छा टॉपिक तो हो ही नहीं सकता। ऐसे अनुभव बांटे जो मेजबान से जुड़े हों। सबके साथ घुल-मिल जाएं किसी विशेष मौके पर मेजबान के घर जाने पर ज़रूरी नहीं कि आप अकेले ही मेहमान हो। आपकी मुलाकात और लोगों से भी हो सकती है। ऐसे में चुप होकर एक कोने में ना बैठें। सब से मिलने जुलने बातचीत करने की कोशिश करें। कुछ देर के लिए शांत रहें बातचीत अपने आप चालू हो जाएगी। तारीफ़ ज़रूर करें मेजबानी की तारीफ किए बिना न लौटें। घर के साथ-उनके इंटीरियर, किचन, बच्चों की तारीफ भी करें। अगर बच्चों ने शैतानी की है तो मेजबान से मांफी मांगें। आपका यह कदम ज़रूर मेजबान के दिल में आपके लिए जगह बनाएगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

मुख्य समाचार

मरीजों की संख्या 23 लाख के पार

मरीजों की संख्या 23 लाख के पार

कोरोना 24 घंटे में 834 की मौत। रिकॉर्ड 56,110 हुए ठीक

प्रदेश में 12वीं के छात्रों को बांटे स्मार्टफोन

प्रदेश में 12वीं के छात्रों को बांटे स्मार्टफोन

अमरेंद्र सरकार की बहुप्र​तीक्षित स्मार्टफोन योजना शुरू

शहर

View All