ओ.टी.टी चांदी की आंधी

दीप्ति अंगरीश

लॉकडाउन ने हमें काफी कुछ सिखाया तो कोरोना वायरस के साथ छिड़ी इस जंग ने कई सबक भी दिये। लॉकडाउन में घरों के अंदर बंद लोग एक महीने से क्या कर रहे हैं, हर कोई यह जानना चाहता है। आपको बता दें कि इस समय लोगों के बीच नया शगल बन चुका है आॅनलाइन प्लेटफॉर्म पर समय बिताना। सोशल मीडिया पर जहां कुछ ज्यादा वक्त कट रहा है वहीं वेबसीरीज़, वेब शोज़ लोगों को रिझा रहे हैं। खबरिया चैनल कोरोना की खबरों से अटे पड़े हैं तो विभिन्न पहलुओं तक ही सिमटे हुए हैं और समस्त मनोरंजन चैनल नये शो लेकर नहीं आ पा रहे। ज़ाहिर है कि वेब पर देखने के लिये बहुत कुछ है। इस लॉकडाउन का सबसे ज्यादा फायदा ओटीटी यानी ओवर द टॉप कंटेंट को हुआ है। कुछ निर्देशक डिजिटल स्पेस पर इसी लॉकडाउन पीरियड में वेब शो व फिल्मों को रिलीज़ करने का सोच रहे हैं। कुछ तो नये शोज़ लेकर आ भी चुके हैं। सास-बहू का ड्रामा नहीं बेव सीरीज़ आखिर क्यों लोकप्रिय हो रही हैं? खासतौर पर युवा वर्ग में, क्योंकि उनकी ये शिकायत रहती है कि आजकल टीवी चैनल्स उनके लिए कार्यक्रम नहीं बना रहे हैं। फिल्मों और टीवी सीरियल से इतर वेब सीरीज में 8-10 एपिसोड होते हैं। यहां सास बहू का ड्रामा नहीं दिखता। यह सीरीज़ अलग-अलग कहानी पर आधारित होती हैं। एक एपिसोड 25 से 45 मिनट तक का होता है। ये वेब सीरीज़ डिजिटल प्लेटफॉर्म पर कई बार एक साथ लॉन्च की जाती हैं, तो वहीं कई बार हर हफ्ते एक एपिसोड लॉन्च होता है। अभी हाल ही में कुछ निर्माताओं ने लॉकडाउन के दौरान बढ़ती वेब शोज़ की लोकप्रियता को देखा तो आनन-फानन में कुछ सीरीज़ की एडिटिंग फाइनल करके इनके ट्रेलर जारी करवा दिये। जल्द ही इन शो को उनके लिये परोस भी दिया गया। इनमें मेंटलहुड और फोर मोर शॉट प्लीज़ का सीज़न 2 भी शामिल है। फ्री इंटरनेट, सबस्क्रिप्शन भी फ्री टेलीकॉम कंपनियों के फ्री इंटरनेट देने की वजह से भी दर्शकों के लिए ये वेब सीरीज देखना आसान हो गया है। आज के दौर में युवाओं के पास समय की कमी होती है ऐसे में वो फोन में इसे कभी भी देख सकते हैं। इंटरनेट की दुनिया में इनके बढ़ते दखल की वजह से ही अमेरिकी घरों में फिल्में और धारावाहिक पहुंचाने वाली ‘नेटफ्लिक्स’ ने कुछ समय पहले ही अनुराग कश्यप की ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ को भी वेब सीरीज़ में तब्दील कर अंतर्राष्ट्रीय दर्शकों तक पहुंचाया है। इसके अलावा एमेज़न प्राइम वीडियो के बाद एमएक्स प्लेयर समेत बहुत से डिजिटल प्लेटफॉर्म ने लॉकडाउन के इस पीरियड में दर्शकों को मुफ्त सबस्क्रिप्शन का फायदा देकर लुभाया। वैसे भी ज़ी 5 समेत कुछ अन्य प्लेटफॉर्म केवल 99 रुपये की सबस्क्रिप्शन के साथ प्रीमियम कंटेंट देखने की सुविधा दे रहे हैं। 50 बेस्ट वेब सीरिज़ और फिल्म डिजिटल ट्रेंड्स नामक एक वेबसाइट ने 50 सर्वश्रेष्ठ वेब सीरीज़ और फिल्में सूचीबद्ध की हैं जिन्हें प्रमुख ओटीटी प्लेटफार्मों पर देखा जा सकता है। इस क्रम में स्पेशल ऑप्स, दि आयरिशमैन, एल कैमिनो, द एवेंजर, हनी बॉय जैसी फिल्में देखी जा सकती हैं। इसी तरह, वेब शोज़ ओल्ड आॅर न्यू, मारवल्स मिसेज माइसेल, द टिक, फ्लिबैग, होम कमिंग, ब्लडलाइंस, वाइकिंग्स, एलियास ग्रेस, माइंडहंटर, द क्राउन, सेक्स एजुकेशन, चिलिंग एडवेंचर्स आॅफ सबरीना, पीकी ब्लिंडर, डर्टी मनी और स्ट्रेंजर थिंग्स देखे जा सकते हैं। हालांकि कोई भी ऐसी क्षेत्रीय या राष्ट्रीय एजेंसी नहीं है जो बता पाए कि लोकप्रिय और चर्चित वेब सीरीज़ कौन सी हैं। इसलिए हिंदी वेब शो के लिए केवल माउथ पब्लिसिटी पर ही भरोसा किया जा रहा है। मसलन नेटफ्लिक्स के लोकप्रिय वेब कंटेंट हैं- मनी हीस्ट, सेक्रेड गेम्स, जामतारा, शी, सेक्स एजुकेशन, पीकी ब्लाइंडर्स, स्ट्रेंजर थिंग्स, लूसिफेर, दिल्ली क्राइम, ग्लिटी, लिटिल थिंग्स, डार्क, नारकोस और द विचर। ये हिंदी और अंग्रेज़ी भाषा के मिले-जुले शो भारत में काफी लोकप्रिय रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय डिजिटल दिग्गजों के अलावा, हॉटस्टार, अल्टबालाजी, जी 5, टीवीएफ और वूट भारतीय भाषाओं की एक विस्तृत श्रृंखला को पूरा करते हैं। पंजाबी फिल्मों से लेकर इजराइली शो अब डिजिटल प्लेटफार्म पर सब कुछ मिलेगा। ऑस्कर-विजेता पैरासाइट, पंजाबी फिल्म सूफना, एनीमेशन फिल्म , हॉरर फिल्म इट चैप्टर 2 तक। यहां तक कि बामफैड का प्रसारण करने में सफल रहे, जो अप्रैल में रिलीज होने वाली थी। वेब शो जैसे कहने को हमसफर हैं, बारिश और हाॅस्टेजेस के पुन: प्रसारण का अच्छा रिस्पाॅन्स मिल रहा है। एक इजराइली शो, फौडा, जो दुनिया भर में अच्छा कर रहा है। रिलीज़ हसमुख वीर दास अपनी पहली वेब सीरीज़ हसमुख के लिए बहुत उत्साहित थे। यह शो इस शुक्रवार को रिलीज़ किया गया था, लेकिन ट्रेलर को 1.1 मिलियन लोग देख चुके हैं। सीरीज़ में केतकी की भूमिका निभाने वाली एक अभिनेत्री का कहना है, लॉकडाउन का एक सकारात्मक पक्ष है, क्योंकि लोग दुनिया भर में उपलब्ध डिजिटल सामग्री को अधिक देखेंगे। पंचायत, शी, समंदर और स्पेशल ऑप्स मेरे दिमाग में सबसे ऊपर हैं, जो आश्चर्यजनक रूप से अलग-अलग शैलियों से हैं। क्रिस हेम्सवर्थ के एशिया में अपनी पहली नेटफ्लिक्स फिल्म, एक्सट्रैक्शन को फिल्माने की खबर एक खुला रहस्य है। ‘टेस्टरू द न्यू एरा फॉर ऑस्ट्रेलिया’ की टीम क्रिकेट को चीयर करने में मदद करेगी। नए विचारों लिए एक साझा दरवाजा एक धारा यह भी बह रही है कि फीचर फिल्म बनाने वाले स्थापित स्टूडियोज जहां अब वेब सीरीज बनाने पर जोर दे रहे हैं, वहीं वेब के लिए कंटेंट क्रिएट करने में सिरमौर रहा टीवीएफ अगले साल फीचर फिल्म बनाने जा रहा है। नए विचारों और प्रतिभाओं की आवाजाही के लिए एक साझा दरवाजा खुल रहा है। फिल्म या टीवी के सीरियल्स की तरह इसमें कोई सेंसरशिप नहीं होती है। इसलिए सीरीज़ मेकर अपनी पूरी क्रिएटिविटी दिखा सकते हैं। वेब शोज़ में समय की कोई पाबंदी नहीं है। आम तौर पर ऐसी सीरीज का एक एपिसोड 10 से 40 मिनट का होता है और एक सीरीज में करीब 5 एपिसोड हो सकते हैं। वेब सीरीज ने टीवी के हर तरह के फॉर्मूले को तोड़ा है, तभी आज ऑडियंस को कुछ नया देखने को मिल रहा है। ‘सेक्रेड गेम्स’ वेब सीरीज़ बनाने वाले अनुराग कश्यप ने एक इंटरव्यू में कहा था कि वो जब भी कोई फिल्म बनाते हैं उसके बाद एक महीने तक वो सेंसर बोर्ड के चक्कर लगाते रहते हैं जबकि वेब सीरीज़ के बाद वे रिलेक्स महसूस करते हैं। सबसे ज्यादा देखे जाने वाले शो इस बार लॉकडाउन के दौरान रन, होम बीफोर डार्क, द इनोसेंस फाइल्स, अनआॅर्थोडाॅक्स, फौदा, वाॅट वी डू इन द शैडोज, असुरः वेलकम टे याॅर डार्क साइड, पंचायत और मनी हीस्ट, मेंटलहुड, फॉर मोर शॉट्स प्लीज़-2 जैसे शो काफी पसंद किये जाते हैं। डिजिटल प्लैटफाॅर्म पर कुछ चुनींदा ओर अच्छी फिल्में भी उपलब्ध हैं। इनमें ‘तू है मेरा संडे’, ‘शेफ’ , ‘हरीशचंद्राची फैक्ट्री’ , ‘आइल आॅफ डाॅग्स’ , ‘खूबसूरत’ , ‘50/50’, डेज़्ड एंड कंफ्यूसड और इंसाइड आउट काफी पसंद की जा रही हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All