आत्मरक्षा

स्वाति गुप्ता

‘मां, मैं तो डांस क्लब ही ज्वॉइन करूंगी’, मिनी ने जिद करते हुए कहा। मिनी छठी कक्षा की छात्रा थी। उसके स्कूल में सारे क्लब बने हुए थे, जिसे बच्चे अपने शौक के हिसाब से ज्वॉइन कर सकते थे। आज मिनी की क्लास टीचर ने सभी बच्चों को क्लब के फार्म दिये थे ताकि वे अपने अभिवावकों से उस पर हस्ताक्षर करवाकर ला सकें। मिनी डांस क्लब ज्वॉइन करना चाहती थी लेकिन मिनी की मां सुमन उसे कराटे क्लब ज्वॉइन करवाना चाहती थी। ‘नहीं मिनी, तुम कराटे क्लब ही ज्वॉइन करोगी। डांस क्लास तो कस्बे में बहुत सारी हैं। मैं तुम्हें उसमें डलवा दूंगी पर कराटे सिर्फ तुम्हारे स्कूल में ही सिखाया जा रहा है। आजकल आत्मरक्षा सीखना बहुत ज़रूरी है’, सुमन ने मिनी को समझाते हुए उससे फार्म लिया और कराटे पर टिक करकर हस्ताक्षर कर दिया। मिनी ने गुस्से से फार्म लिया और रोते हुए वहां से चली गयी। मिनी बेमन से कराटे क्लब जाने लगी। उसकी एक दोस्त को छोड़कर बाकी सबने डांस क्लब ज्वॉइन किया था। वो सब स्कूल में होने वाले कार्यक्रम में भाग लेते और मिनी को कराटे प्रतियोगिताओं में जाना पड़ता। पहले तो मिनी को गुस्सा आता लेकिन धीरे-धीरे उसे अच्छा लगने लगा। मिनी की खुशी के लिये सुमन ने उसका घर के पास एक डांस क्लास में एडमिशन भी करवा दिया। एक बार मिनी और उसकी दोस्त छुट्टी के बाद स्कूल बस से उतरकर अपने घर जा रहे थे। जैसे ही वो गली के मोड़ पर पहुंचे, मोटरसाइकिल पर सवार दो लड़के उनका पीछा कर छे़ड़छाड़ करने लगे। वे जबरदस्ती मिनी को खींचकर बाइक पर बिठाने की कोशिश करने लगे। मिनी तुरंत समझ गई कि इस वक्त उसे सेल्फ डिफेंस की ज़रूरत है। मिनी ने कसकर एक लात एक लड़के के पैरों के बीच मारी और उसे दांत काट लिया। दूसरे लड़के से उसकी दोस्त भिड़ गयी। इतने में शोर सुनकर लोग आने लगे। वो लड़के भागने लगे तो लोगों ने उन्हें धर दबोचा। लोगों ने मिनी और उसकी दोस्त को खूब शाबाशी दी और बदमाशों को पुलिस के हवाले कर दिया। मिनी ने घर जाकर मां को सारी बात बतायी। ‘आपकी जिद आज काम आयी मां, आप जि़द ना करती तो मैं कराटे क्लब कभी ज्वॉइन नहीं करती, आप सही कहती थी आत्मरक्षा करनी सबको आनी चाहिये। थैक्यूं मां’, मिनी ने कहा। मां ने मिनी को सीने से लगा लिया। सुमन आज बहुत खुश थी क्योंकि देर से ही सही पर मिनी को उसकी बात समझ में आ गयी।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All