आई दीवाली

आई दीवाली, ख़ुशी मनाओ। हर घर आंगन, दीप जलाओ।। झिलमिल झिलझिल दीप जले, चकरी फिरकी खूब फुलझड़ी चले, रंगीन हुआ नभ आतिशबाज़ी से, हर द्वार-द्वार पर लड़ी जले, अनार, पटाखे खूब चलाओ। आई दीवाली, ख़ुशी मनाओ।। हिन्दू, मुस्लिम, सिख, ईसाई, मिलकर पाटो नफरत की खाई, इक दूजे को गले लगाओ, आखिर तुम हो भाई-भाई, प्रेमभाव से ये पर्व मनाओ। आई दीवाली, ख़ुशी मनाओ।। अब के ऐसी दीवाली आये, हर गांव-गली खुशहाली छाये, हर दर पर नाचे खुशियां, मन से मन का दीप जलाये, जीवन में उजियारा लाओ। आई दीवाली, ख़ुशी मनाओ।। -भूप सिंह 'भारती'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

अपने न बिछुड़ें, तीस साल में खोदी नहर

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

बलिदानों के स्वर्णिम इतिहास का साक्षी हरियाणा

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश

सुशांत की ‘टेलेंट मैनेजर’ जया साहा एनसीबी-एसआईटी के सामने हुईं पेश