400 वर्ष बाद शनि शिंगणापुर में महिलाओं ने की पूजा

400 वर्ष बाद शनि शिंगणापुर में महिलाओं ने की पूजा

अहमदनगर (महाराष्ट्र), (एजेंसी)

10804cd _truptiशनि शिंगणापुर मंदिर में महिलाओं के पवित्र चूबतरे की पूजा नहीं करने की 400 साल पुरानी परंपरा शुक्रवार को टूट गयी। ट्रस्ट की ओर से महिलाओं को भी मंदिर के पवित्र स्थान पर पूजा करने की इजाजत मिलने के बाद 2 महिलाओं ने वहां पूजा की। इसके बाद भू माता ब्रिगेड की अध्यक्ष तृप्ति देसाई ने चबूतरे में प्रवेश कर शनि की पूजा की। अब त्र्यंबकेश्वर, महालक्ष्मी मंदिर की बारी : ट्रस्ट के इस फैसले का तृप्ति देसाई ने स्वागत किया है। उन्होंने कहा, ‘‘देर से आए लेकिन दुरुस्त आए।’’ उन्होंने उम्मीद जतायी नासिक के त्र्यंबकेश्वर और कोल्हापुर के महालक्ष्मी मंदिर भी महिलाओं के खिलाफ अन्यायपूर्ण स्थिति पर ऐसे ही निर्णय लेंगे। उन्होंने कहा कि 13 अप्रैल को कोल्हापुर स्थित महालक्ष्मी मंदिर के गर्भगृह में 500 महिलाओं के साथ हमारा आंदोलन होगा। बॉम्बे हाईकोर्ट ने 1 अप्रैल को आदेश दिया था कि पूजा स्थलों पर पूजा करना महिलाओं का मूल अधिकार  है। इसके बावजूद मंदिर की तरफ से किसी भी विवाद से बचने के लिए परंपरा को छोड़ने का ऐलान कर महिला व पुरुष दोनों को ही चबूतरे से दूर रखने का फैसला किया गया था। गुड़ी पड़वा के अवसर पर कुछ लोग बैरिकेड तोड़ते हुए पवित्र चबूतरे पर पहुंच गये और पूजा की। ट्रस्ट की ओर से शुक्रवार को सभी को पूजा करने की इजाजत देने का ऐलान कर दिया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

शह-मात का खेल‌‍

शह-मात का खेल‌‍

इंतजार की लहरों पर सवारी

इंतजार की लहरों पर सवारी

पद के जरिये समाज सेवा का सुअवसर

पद के जरिये समाज सेवा का सुअवसर

झाझड़िया के जज्बे से सोने-चांदी की झंकार

झाझड़िया के जज्बे से सोने-चांदी की झंकार

बीत गये अब दिखावे के सम्मोहक दिन

बीत गये अब दिखावे के सम्मोहक दिन

जीवन पर्यंत किसान हितों के लिए संघर्ष

जीवन पर्यंत किसान हितों के लिए संघर्ष

मुख्य समाचार

30 साल पुराना फेक पुलिस एनकाउंटर : पंजाब पुलिस के रिटायर्ड सब-इंस्पेक्टर को 10 साल कैद

30 साल पुराना फेक पुलिस एनकाउंटर : पंजाब पुलिस के रिटायर्ड सब-इंस्पेक्टर को 10 साल कैद

मामले में दो लोगों के खिलाफ दोष हुए तय, एक आरोपी की हो चुकी ...