सोपोर में सीआरपीएफ दल पर आतंकी हमला, जवान शहीद

सुरेश एस डुग्गर जम्मू, 1 जुलाई

सोपोर आतंकी हमले के बाद एक बच्चे को सुरक्षित लाता एक सैन्य कर्मी। -हप्र

जम्मू-कश्मीर के सोपोर में बुधवार तड़के सीआरपीएफ के दल पर आतंकियाें के हमले में एक जवान समेत 2 की मौत हो गयी। हमले में जख्मी हुए 3 जवानों की हालत नाजुक बताई जा रही है। हमलावर आतंकी कुछ देर मुठभेड़ के बाद फरार हो गये। हमला सोपोर के मॉडल टाउन इलाके में हुआ। पुलिस ने बताया की आतंकियों ने सीआरपीएफ के दल जबर्दस्त गोलीबारी की और हथगोले भी फेंके। शहीद हुए जवान की पहचान कांस्टेबल दीपचंद वर्मा के तौर पर हुई है, घायल हुए जवानों में कांस्टेबल भोया राजेश, दीपक पाटिल और नीलेश चावड़े शामिल हैं। इस बीच, आतंकियों ने पुलवामा में भी सीआरपीएफ की 183वीं वाहिनी के जवानों पर ग्रेनेड से हमला किया। दिल्ली में सीआरपीएफ ने एक बयान में कहा कि सोपोर में जवान अपनी बस से उतर कर तैनाती के लिए संबंधित स्थानों पर जा रहे थे, इसी दौरान हमला हुआ। सीआरपीएफ ने कहा, ‘पास की एक मस्जिद में छिपे आतंकियों ने जवानों पर अंधाधुंध गोलीबारी की, जिससे सीआरपीएफ के 4 कर्मी घायल हो गए। आतंकियों की गोलीबारी के बीच सोपोर से कुपवाड़ा की ओर जा रहा एक असैन्य वाहन फंस गया। वाहन चला रहे बुजुर्ग व्यक्ति ने कार से निकल कर सुरक्षित स्थान की ओर जाने की कोशिश की, लेकिन वह आतंकियों की गोलीबारी का निशाना बन गये।’ इस बुजुर्ग के 3 साल के पोते को सुरक्षाबलों ने बचाया। खून से लथपथ बुजुर्ग के शव पर बैठे बच्चे की विचलित करने वाली एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई। बाद में जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बचाए गये बच्चे की तस्वीर अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट की। इसमें कहा गया कि सोपोर में आतंकवादी हमले के दौरान 3 साल के एक बच्चे को बचाया गया।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें