शव गांव पहुंचा, 'हैदराबाद जैसा इंसाफ' मांगा

नयी दिल्ली/लखनऊ, 7 दिसंबर (एजेंसी)

नयी दिल्ली में शनिवार को रेप पीड़िता को न्याय दिलाने की मांग और महिलाओं के खिलाफ अपराध के विरोध में आंखों पर पट्टी बांधकर प्रदर्शन करतीं युवतियां। - मुकेश अग्रवाल

दुष्कर्म के आरोपियों समेत पांच लोगों द्वारा जलाए जाने के बाद गंभीर हालत में एयरलिफ्ट कर दिल्ली के अस्पताल में भर्ती कराई गई उन्नाव बलात्कार पीड़िता की उपचार के दौरान मौत के बाद शनिवार रात शव उसके गांव लाया गया। जिलाधिकारी देवेन्‍द्र पाण्‍डेय ने कहा कि मृतका का शव गांव में रात 9 बजे के बाद पहुंचा। मुख्‍यमंत्री के निर्देश पर यहां पहुंचे दो मंत्रियों ने पीड़िता के पिता को 25 लाख रुपये की राशि का चेक सौंपा। मौके पर सपा के एमएलसी सुनील साजन, पूर्व विधायक उदय राज यादव और पार्टी के जिला अध्यक्ष धर्मेंद यादव सहित अन्य नेता मौजूद थे। पीड़िता के परिजनों ने अपनी बेटी को हैदराबाद बलात्कार पीड़िता की तरह इंसाफ दिलाने की मांग की है। पूरे देश में शोक और गुस्से की लहर है। जगह-जगह प्रदर्शन किये जा रहे हैं। पीड़िता के भाई ने कहा कि उसकी बहन को तब न्याय मिलेगा जब उसके साथ क्रूरता करने वाले उन सभी आरोपियों का भी वही हश्र हो जो ‘उसकी बहन ने झेला।' उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘उसने मुझसे मिन्नत की कि भाई मुझे बचा लो। मैं बहुत दुखी हूं कि मैं उसे बचा नहीं सका। अब हम उसे दफना देंगे।' पीड़िता के बेहाल पिता ने कहा, 'मुझे रुपया-पैसा-मकान कुछ नहीं चाहिये। मुझे इसका लालच नहीं है, बस जिसने मेरी बेटी को इस हालत में पहुंचाया है, उसे हैदराबाद मामले की तरह ही दौड़ा कर गोली मार देनी चाहिये या फिर तत्‍काल फांसी दी जानी चाहिये।' उधर, पीड़िता के परिजन से मुलाकात करने पहुंचे यूपी के मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य और क्षेत्रीय सांसद साक्षी महाराज का कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने घेराव कर नारेबाजी की।

सफदरजंग अस्पताल के बाहर महिला ने बेटी पर डाला 'पेट्रोल' शनिवार दोपहर को एक महिला ने न्याय की मांग करते हुए सफदरजंग अस्पताल के बाहर अपनी नाबालिग बेटी पर ज्वलनशील पदार्थ उड़ेल दिया। बताया गया कि वह अचानक आई और ‘हमें न्याय चाहिए' का नारा लगाते हुए उसने अपनी नाबालिग बेटी पर ज्वलनशील पदार्थ उड़ेल दिया। हालांकि, पुलिस ने लड़की को बचा लिया और महिला सहित उसे अपने साथ ले गई। वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक महिला ने कहा कि वह उन्नाव दुष्कर्म एवं हत्याकांड से सदमे में थी और पीड़िता की मौत की खबर सुनकर अस्पताल आई थी।

अखिलेश ने दिया धरना, सरकार को घेरा समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव यूपी विधान भवन के मुख्य द्वार के सामने शनिवार को धरने पर बैठे। उन्होंने उन्नाव वारदात के लिए राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार को जिम्मेदार ठहराया और ऐलान किया कि इस घटना के खिलाफ रविवार को समाजवादी पार्टी प्रदेश के हर जिला मुख्यालय पर शोक सभा का आयोजन करेगी। पूर्व मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि सरकार जुल्म की शिकार महिलाओं और लड़कियों की मदद नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि ऐसी सरकार जो दुख और परेशानी दे रही है, उसे हटना चाहिए। यह हमारे समाज के लिए काला दिन है। उन्होंने सरकार पर कई सवाल उठाए।

भारत की पहचान 'दुष्कर्म राजधानी' के रूप में बन गई : राहुल वायनाड (एजेंसी) : कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश में बलात्कार के बढ़ते मामलों का हवाला देते हुए शनिवार को कहा कि अंतर्राष्ट्रीय समुदाय भारत का मखौल उड़ा रहा है और यह विश्व की ‘दुष्कर्म राजधानी (रेप कैपिटल)' बन गया है। कांग्रेस सांसद गांधी ने अपने संसदीय क्षेत्र की अपनी तीन दिवसीय यात्रा समाप्त करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि उनका (मोदी का) पूरा राजनीतिक जीवन घृणा, विभाजन और हिंसा पर आधारित है। गांधी ने कहा, ‘बच्चियां, बहनें और माएं हर दिन अखबारों में किसी लड़की के बलात्कार या हत्या की खबर पढ़कर चौंक जाती होंगी...।' उधर, कांग्रेस प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने कहा, 'उन्नाव की बेटी के साथ जो हुआ वह साफ दर्शाता है कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद हैं। इन्हें कहीं न कहीं राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ है और यही वजह है कि ऐसी घटनाएं हो रही हैं। मुख्यमंत्री कहते हैं कि उन्हें दुख और खेद है। उनके इस दुख और खेद में उनकी सरकार की नाकामी नजर आती है।' इस बीच, पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी योगी सरकार को सुरक्षा मुद्दे पर घेरा। वह उन्नाव में पीड़ित परिवार से भी मिलने पहुंचीं।

महीनेभर में हो फांसी : स्वाति दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने बलात्कार और जलाने के दोषियों को एक महीने के अंदर फांसी दिए जाने की मांग की। बलात्कार के दोषियों को दोषसिद्धि के बाद छह महीने के भीतर फांसी की सजा देने की मांग को लेकर 3 दिसंबर से भूख हड़ताल पर बैठीं डीसीडब्ल्यू की प्रमुख ने कहा, ‘सरकार बहरी एवं असंवेदनशील हो गई है।'

सुप्रीमकोर्ट ले संज्ञान : मायावती बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि ऐसी वारदातों पर सुप्रीमकोर्ट को स्वत: संज्ञान लेना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश सरकार को सख्त कदम उठाते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई करनी चाहिए। केंद्र सरकार को भी इसे गंभीरता से लेना चाहिए।

कानपुर में गैंगरेप पीड़िता ने की आत्महत्या कानपुर : कानपुर में शुक्रवार की रात एक सामूहिक बलात्कार पीड़िता ने आत्महत्या कर ली। पुलिस अधिकारी ने शनिवार को बताया कि 17 वर्षीय लड़की ने दुपट्टे से फांसी लगाई। उसने कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा। उन्होंने बताया कि उसे पड़ोस का ही एक युवक और उसका चाचा 13 नवंबर को अगवा कर ले गए थे। उन्होंने बताया कि सनी और उसके चाचा लाला के खिलाफ लड़की के माता-पिता ने प्राथमिकी दर्ज कराई थी। रूरा के थाना प्रभारी सैयद मोहम्मद अब्बास ने बताया कि पुलिस में शिकायत दर्ज कराने के एक दिन बाद लड़की किसी तरह अपने घर पहुंची और माता-पिता को आपबीती बताई।

मृत्युदंड से सख्त सजा नहीं हो सकती, पैरेंट्स जिम्मेदारी समझें : स्मृति

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि ऐसेे मामलों में मृत्युदंड तक का कानूनी प्रावधान किया है और इससे सख्त सजा कुछ नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि अभिभावकों को अपनी जिम्मेदारी समझते हुए बच्चों को सिखाना होगा कि महिलाओं से सही बर्ताव किया जाये। उन्होंने बताया कि सरकार ने बलात्कार के मुकदमों की तेज सुनवाई के लिये देशभर में 1,023 ‘फास्टट्रैक कोर्ट' स्थापित करने के लिये वित्तीय मदद देनी शुरू कर दी है। अपराधियों का राष्ट्रीय डेटाबेस भी बनाया गया है, ताकि इन लोगों पर नजर रखी जा सके। ऐसे लोगों की पकड़ हो सके।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

मुख्य समाचार

कोविड-19 का टीका बनाने में रूस ने मारी बाज़ी!

कोविड-19 का टीका बनाने में रूस ने मारी बाज़ी!

राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने मंगलवार को की घोषणा, अपनी बे...

सुशांत आत्महत्या मामला : रिया की केस ट्रांसफर की याचिका पर फैसला सुरक्षित

सुशांत आत्महत्या मामला : रिया की केस ट्रांसफर की याचिका पर फैसला सुरक्षित

सुप्रीमकोर्ट ने सभी पक्षों से बृहस्पतिवार तक लिखित में मांगे...

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सही दिशा में बढ़ रहा है देश : मोदी

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सही दिशा में बढ़ रहा है देश : मोदी

प्रधानमंत्री ने 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों से की कोरोना पर...

शहर

View All