तबलीगी जमात के कार्यक्रम ने बढ़ाई चिंता

हरीश लखेड़ा/ ट्रिन्यू नयी दिल्ली, 31 मार्च

नयी दिल्ली में मंगलवार को स्वास्थ्य जांच के लिए अस्पताल ले जाये जाते वक्त कतार में खड़े तबलीगी जमात सम्मेलन में पहुंचे लोग। - मुकेश अग्रवाल

निजामुद्दीन के मरकज में तबलीगी जमात के धार्मिक कार्यक्रम में शामिल 10 लोगों की पिछले दिनों कोराना वायरस से मौत और बड़ी संख्या में इसकी चपेट में आ जाने से केंद्र और राज्य सरकारों की चिंता बढ़ गयी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों से तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल विदेशी लोगों की पहचान करने को कहा है। इसके अलावा सभी प्रदेशों के मुख्य सचिवों और पुलिस प्रमुखों को दिल्ली से गये तबलीगी जमात के लोगों और उनके संपर्क में आए व्यक्तियों की पहचान कर जांच करने की बात दोहराई है। मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल सभी विदेशियों ने वीजा का दुरुपयोग किया। ये सभी यहां पर्यटक वीजा पर आए थे और उन्हें किसी मिशनरी कार्यक्रम करने की अनुमति नहीं है। मंत्रालय ने कहा कि वीजा नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी, उन्हें काली सूची में डाला जाएगा। दिल्ली में निजामुद्दीन के मरकज से 1548 लोगों को निकाला गया है। इनमें से 441 में कोरोना के लक्षण पाए गए हैं। इनकी जांच की जा रही है। कुछ को नरेला, सुल्तानपुरी और बक्करवाला के क्वारंटाइन में भेज दिया गया है। तबलीगी जमात के मरकज में हुए धार्मिक आयोजन में शामिल होकर लोग 19 राज्यों में गये हैं। इस कार्यक्रम से लौटने के बाद सबसे पहले तेलंगाना में 6 लोगों की मौत हुई। इसी तरह तमिलनाडु, कर्नाटक और जम्मू-कश्मीर में भी एक-एक व्यक्ति की मौत हो चुकी है। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुसार 21 मार्च को तबलीगी जमात के 824 विदेशी कार्यकर्ता देश के विभिन्न हिस्सों में थे। लगभग 216 विदेशी मरकज में रह रहे थे। करीब 1500 भारतीय तबलीगी कार्यकर्ता भी मरकज में थे। करीब 2100 भारतीय तबलीगी कार्यकर्ता मिशनरी काम के लिए देश के विभिन्न हिस्सों का दौरा कर रहे थे। इस बीच, दिल्ली पुलिस ने निजामुद्दीन मरकज के मौलाना साद के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। वहीं, मरकज ने कहा कि उसने कानून के किसी प्रावधान का उल्लंघन नहीं किया है।

हरियाणा में तलाश शुरू चंडीगढ़ (ट्रिन्यू) : मरकज निजामुद्दीन में शामिल हुए 18 से 22 लोगाें के हरियाणा के अलग-अलग जिलों में पहुंचने की रिपोर्ट है। राज्य के गृह मंत्री अनिल विज ने इन लोगों को तलाशने का आदेश दिया है।

रेलवे बार्डर भी सील : हरियाणा सरकार ने अब रेलवे सीमाओं को भी पूरी तरह से सील कर दिया है। हरियाणा से पंजाब, उत्तर प्रदेश, राजस्थान व नयी दिल्ली जाने वाली सभी रेलवे लाइनों पर भी नाके लगेंगे। पुलिस 24 घंटे गश्त करेगी। सरकार को पंजाब में विदेशों से आए हजारों लोगों के हरियाणा में एंट्री करने का डर है। -पेज 2

उत्तर प्रदेश में छापे बरेली (एजेंसी) : उत्तर प्रदेश में छापे मारे गये। भदोही जिले में पुलिस ने तबलीगी जमात के मरकज से 11 बांग्लादेशी नागरिकों सहित 14 लोगों को सरकारी अस्पताल में जांच के बाद पृथक वार्ड में भर्ती कराया। बिजनौर जिले की तहसील नगीना की मस्जिद में निजामुद्दीन मरकज से आये इंडोनेशिया के 8 प्रचारक मिले। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बिना बताये समूह में रह रहे लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

ज्यादा से ज्यादा लोगों की हो जांच : कांग्रेस कांग्रेस ने मंगलवार को कहा कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति को सही ढंग से जानने के लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों की चिकित्सा जांच की जरूरत है। पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी ने सरकार से यह आग्रह भी किया कि कर्ज पर ईएमआई के भुगतान को तीन महीने के लिए टालने को लेकर बैंकों को तत्काल परिपत्र जारी किया जाए। उन्होंने वीडियो लिंक के माध्यम से संवाददाताओं से कहा कि 10 लाख लोगों में से हमने सिर्फ 32 लोगों की जांच की है। दूसरे देशों में बड़ी संख्या में जांच हो रही है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

रसायन मुक्त खिलौनों का उम्मीद भरा बाजार

रसायन मुक्त खिलौनों का उम्मीद भरा बाजार

जन सरोकारों की अनदेखी कब तक

जन सरोकारों की अनदेखी कब तक

एमएसपी से तिलहन में आत्मनिर्भरता

एमएसपी से तिलहन में आत्मनिर्भरता

अभिवादन से खुशियों की सौगात

अभिवादन से खुशियों की सौगात