चमोली में भूस्खलन से 3 मकान ढहे, 6 जिंदा दफन

देहरादून, 12 अगस्त (एजेंसी)

चमोली जिले में सोमवार को बादल फटने के बाद का दृश्य । -प्रेट्र

उत्तराखंड के चमोली जिले के घाट क्षेत्र में सोमवार तड़के भारी बारिश के दौरान तीन अलग-अलग गांवों में हुई भूस्खलन की घटनाओं में तीन मकान ढह गए और मलबे के नीचे एक महिला और उसकी नौ माह की बेटी सहित छह व्यक्ति जिंदा दफन हो गए। जानकारी के अनुसार, भूस्खलन का मलबा घाट क्षेत्र के बांजबगड, अलीगांव और लांखी गांवों में तीन मकानों पर गिर गया जिससे वे ढह गए और उनमें रहने वाले उसमें फंस गए। सभी छह व्यक्तियों की दम घुटने से मौत हो गई। मरने वालों में एक को छोड़कर सभी महिलाएं हैं। रूपा देवी तथा उसकी नौ माह की पुत्री चंदा बांजबगड गांव में मारे गए जबकि 21 वर्षीय नौरति की मृत्यु अलीगांव में और अन्य तीन -कुमारी आरती, कुमारी अंजलि और अजय-लांखी गांव में मारे गए। सभी के शव मलबे से बरामद कर लिए गए हैं। इसके साथ ही इन मकानों में मौजूद 40 बकरियां और दो बैल भी मारे गए। चमोली के जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी एन के जोशी ने बताया कि मंदाकिनी नदी की सहायक नदी चुफलागाड में आई बाढ़ के कारण घाट के मुख्य बाजार की कई दुकानों और इमारतों को भी नुकसान पहुंचा। कई आवासीय मकान और दुकानें अभी भी खतरे में हैं और खतरे वाले इलाकों से लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया जा रहा है। चमोली जिले में भूस्खलन की घटनाओं में छह लोगों के मारे जाने पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए जिला प्रशासन को प्रभावितों को हरसंभव मदद पहुंचाने के आदेश दिए हैं।

रियासी में भूस्खलन ने ली 3 जानें जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले में भूस्खलन के दौरान एक बड़े पत्थर के नीचे आ जाने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गयी। घटना जिले के महोर क्षेत्र के लार गांव में रविवार शाम को हुई, जिसमें दो लोग घायल हुए हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All