क्या दलित चुनाव मुद्दा बन सकते हैं : सुप्रीम कोर्ट : The Dainik Tribune

क्या दलित चुनाव मुद्दा बन सकते हैं : सुप्रीम कोर्ट

क्या दलित चुनाव मुद्दा बन सकते हैं : सुप्रीम कोर्ट

नयी दिल्ली (विस) : सुप्रीम कोर्ट की 7 जजों की संवैधानिक पीठ ने पूछा है कि क्या धर्म, जाति व भाषा के नाम पर वोट मांगने पर रोक के दायरे में दलितों के नाम पर वोट मांगना भी आयेगा? संविधान पीठ ‘रिप्रेजेंटेशन ऑफ पीपल एक्ट-1951’ की धारा 123(3) के तहत योग्य व अयोग्य ठहराये गये विभिन्न उम्मीदवारों से संबंधित याचिकाओं पर सुनवाई कर रही है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

मन की नेमत तन की सेहत

मन की नेमत तन की सेहत

जीवनशैली के दोषों से उपजा खतरा

जीवनशैली के दोषों से उपजा खतरा

मानवतावादी मूल्यों के संस्थापक संत रविदास

मानवतावादी मूल्यों के संस्थापक संत रविदास

ओटीटी पर सेनानियों की कहानियां भी

ओटीटी पर सेनानियों की कहानियां भी

रुपहले पर्दे पर तनीषा की दस्तक

रुपहले पर्दे पर तनीषा की दस्तक

मुख्य समाचार

31 मार्च तक पैन से आधार नहीं जुड़ा तो बंद हो जाएंगे कर लाभ : सीबीडीटी प्रमुख

31 मार्च तक पैन से आधार नहीं जुड़ा तो बंद हो जाएंगे कर लाभ : सीबीडीटी प्रमुख

अब आधार पैन लिंक के लिये देना होगा 1000 रुपये शुल्क

शहर

View All