कोरोना वायरस के दौरान 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों को अनुमति देने की याचिका खारिज

नयी दिल्ली, 8 जुलाई (एजेंसी)

राष्ट्रीय हरित अधिकरण ने बुधवार को दिल्ली की सड़कों पर 15 साल पुराने पेट्रोल चालित वाहनों पर पाबंदी में बदलाव की एक याचिका पर विचार करने से इनकार कर दिया। इस आधार पर पाबंदी समाप्त करने की मांग की गयी थी कि इन वाहनों को अनुमति देने से कोरोना महामारी के दौरान वरिष्ठ नागरिकों की जान बचाई जा सकेगी। एनजीटी के अध्यक्ष जस्टिस आदर्श कुमार गोयल की अध्यक्षता वाली पीठ ने दिल्ली निवासी और वरिष्ठ नागरिक कमल सहाय की याचिकाओं को खारिज कर दिया और कहा कि उसने पहले आईं इस तरह की याचिकाओं को अस्वीकृत कर दिया और सुप्रीमकोर्ट ने भी उसके आदेश को बरकरार रखा है। याचिका में कहा गया, ‘आवेदक ने जो दलील दी है, उसमें बताया गया कदम वायरस को नियंत्रित करने और जान बचाने में कारगर होगा। खासतौर पर यह वरिष्ठ नागरिकों के लिए कारगर होगा जो सरकार द्वारा समय-समय पर जारी स्वास्थ्य परामर्शों के अनुसार वायरस के लिहाज से सबसे जोखिम वाली श्रेणी में हैं।’

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All