कोरोना के संदिग्ध मामलों में जांच नतीजों का न करें इंतजार, परिजनों को सौंपें शव : मंत्रालय

सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को केंद्र ने दिये निर्देशनयी दिल्ली, 2 जुलाई (एजेंसी) केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों से कहा है कि कोविड-19 के संदिग्ध मामलों के शवों को प्रयोगशाला से संक्रमण की पुष्टि होने का इंतजार किये बगैर उनके परिजनों को सौंप दिया जाए। लेकिन शव की अंत्येष्टि सरकार के दिशानिर्देशों के मुताबिक की जानी चाहिए। कोविड-19 के संदिग्ध मरीजों की मौत होने और अस्पतालों द्वारा जांच रिपोर्ट के लंबित रहने से पुष्टि न होने के कारण उनके शवों को परिजनों को नहीं सौंपे जाने के मद्देनजर इस विषय पर बुधवार को राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एक पत्र भेजा गया। स्वास्थ्य सेवाएं महानिदेशक, स्वास्थ्य मंत्रालय , डॉ राजीव गर्ग द्वारा लिखे गये पत्र में कहा गया है, ‘मैं यह स्पष्ट करना चाहूंगा कि कोविड-19 के ऐसे संदिग्ध मामलों के शवों को फौरन ही उनके परिजनों को सौंप दिया जाए और कोविड-19 की प्रयोगशाला से पुष्टि होने का इंतजार नहीं किया जाना चाहिए।' पत्र में कहा गया है कि इन शवों की एहतियात के साथ ‘शव प्रबंधन पर दिशानिर्देश 'के मुताबिक अंत्येष्टि की जाए। ये दिशानिर्देश केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध हैं, जिनमें निर्देश दिया गया है कि पीपीई पहने हुए व्यक्ति शव को अंत्येष्टि के लिये ले जाएंगे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All