कश्मीर में छिटपुट विरोध को छोड़कर शांतिपूर्ण रही ईद

जम्मू/ श्रीनगर, 12 अगस्त (हप्र/ एजेंसी)

जम्मू में सोमवार को ईद-उल-अजहा की नमाज के बाद एक मस्जिद के बाहर मुस्लिम बच्चे से हाथ मिलाता सुरक्षाकर्मी।
-इंद्रजीत सिंह

कश्मीर घाटी में सोमवार को छिटपुट विरोध प्रदर्शनों को छोड़कर मस्जिदों में ईद-उल-अजहा की नमाज शांतिपूर्ण संपन्न हुई, लेकिन कर्फ्यू जैसे प्रतिबंध लगे होने के कारण त्योहार की रौनक गायब रही। कश्मीर में कर्फ्यू में दी गई 2 घंटों की ढील के दौरान संगीनों के साये में ईद की नमाज पढ़ी गयी। वहीं, जम्मू संभाग में प्रत्येक शहर और कस्बे को कंटीली तारों के घेरे में रखा गया। संचार के सभी संसाधन बंद होने के कारण कश्मीर वादी समेत अन्य जिलों से ईद की नमाज के दौरान के हालात की कोई अधिकृत जानकारी नहीं है, सिवाय पुलिस और प्रशासन के प्रवक्ताओं के दावे के। केंद्रीय गृह मंत्रालय के अनुसार जम्मू-कश्मीर में लोग नमाज अता करने के लिए बड़ी संख्या में बाहर निकले। श्रीनगर और शोपियां में प्रमुख मस्जिदों में नमाज अता की गयी। जम्मू-कश्मीर के प्रधान सचिव और राज्यपाल के आधिकारिक प्रवक्ता रोहित कंसल ने कहा, ‘राज्य की मस्जिदों में ईद की नमाज के दौरान स्थिति शांतिपूर्ण रही। तीन छिटपुट प्रदर्शन हुए, लेकिन कोई घायल नहीं हुआ।’ जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा कि किसी अप्रिय घटना की कोई खबर नहीं है। संवेदनशील किश्तवाड़, डोडा, रामबन, पुंछ और राजौरी जिलों से प्राप्त खबर के अनुसार ईद की नमाज शांतिपूर्ण संपन्न हो गयी। प्रशासन ने बयान में कहा, ‘मीडिया में सुरक्षाबलों द्वारा गोलीबारी और कुछ लोगों के हताहत होने की खबरें हैं। इसे पूरी तरह से खारिज किया जाता है कि राज्य में गोलीबारी की कोई घटना हुई है। सुरक्षाबलों ने न तो कोई गोली चलाई है और न ही कोई हताहत हुआ है।' गौर हो कि अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को मिला विशेष राज्य का दर्जा समाप्त करने और राज्य को दो हिस्सों में बांटने के केंद्र सरकार के फैसले के बाद से घाटी में कड़ी सुरक्षा है, आवाजाही पर प्रतिबंध है और संचार सुविधा बंद कर दी गयी है। इससे घाटी में जनजीवन प्रभावित है। ईद से पहले रविवार को प्रतिबंधों में थोड़ी छूट दी गई थी।

डोभाल ने किया हवाई सर्वेक्षण राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने घाटी की सुरक्षा स्थिति का जायजा लेने के लिए शहर और दक्षिण कश्मीर के इलाकों का सोमवार को हवाई सर्वेक्षण किया। अधिकारियों ने बताया कि पुलिस प्रमुख दिलबाग सिंह और सैन्य कमांडरों ने भी कश्मीर घाटी के विभिन्न भागों का अलग-अलग हवाई सर्वेक्षण किया। प्रशासन ने एक बयान में कहा कि श्रीनगर में आतंकवादियों और असामाजिक तत्वों द्वारा शांति व्यवस्था को बाधित करने की आशंका को ध्यान में रखते हुए संवेदनशील इलाकों में जरूरी प्रतिबंध लगाये गये हैं। स्थानीय मस्जिदों में बड़ी संख्या में लोग नमाज अदा करने पहुंचे।

पाक सीमा पर नहीं बंटी मिठाइयांयी दिल्ली (एजेंसी) : ईद पर सोमवार को बीएसएफ और पाकिस्तान रेंजर्स के बीच अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर मिठाइयों का पारंपरिक आदान-प्रदान नहीं हुआ। अधिकारियों ने बताया कि जम्मू, पंजाब, राजस्थान और गुजरात में अंतर्राष्ट्रीय सीमा पर बीएसएफ ने मिठाइयां और बधाई देने के लिए आधिकारिक सूचना दी, लेकिन पाकिस्तानी पक्ष ने कार्यक्रम में शिरकत करने से इनकार कर दिया। हालांकि, भारत-बांग्लादेश सीमा पर बीएसएफ और बार्डर गार्ड्स बांग्लादेश के बीच मिठाइयों का आदान-प्रदान हुआ। डीटीसी की दिल्ली-लाहौर बस सेवा रद्द : दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) ने दिल्ली-लाहौर बस सेवा सोमवार को रद्द कर दी। निगम के अधिकारी ने बताया कि डीटीसी की एक बस सोमवार सुबह 6 बजे लाहौर के लिए रवाना होने वाली थी, लेकिन पाकिस्तान के बस सेवा निलंबित करने के निर्णय के कारण यह बस रवाना नहीं हुई। बस सेवा पहली बार फरवरी 1999 में शुरू हुई थी, लेकिन 2001 में संसद पर आतंकवादी हमले के बाद इसे निलंबित कर दिया गया था।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

मुख्य समाचार

मरीजों की संख्या 23 लाख के पार

मरीजों की संख्या 23 लाख के पार

कोरोना 24 घंटे में 834 की मौत। रिकॉर्ड 56,110 हुए ठीक

प्रदेश में 12वीं के छात्रों को बांटे स्मार्टफोन

प्रदेश में 12वीं के छात्रों को बांटे स्मार्टफोन

अमरेंद्र सरकार की बहुप्र​तीक्षित स्मार्टफोन योजना शुरू

शहर

View All