ऑर्बिटर ने चांद की सतह पर ढूंढ़ लिया ‘विक्रम’

बेंगलुरु (एजेंसी) : भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन के प्रमुख के. सिवन ने रविवार को कहा कि चंद्रयान-2 के लैंडर 'विक्रम' के चंद्रमा की सतह पर होने का पता चला है। ऑर्बिटर में लगे कैमरे ने लैंडर, जिसके भीतर 'प्रज्ञान' रोवर मौजूद है, की तस्वीर ली है। सिवन ने कहा कि लैंडर की ‘सॉफ्ट लैंडिंग’ सफल नहीं रही, ‘हार्ड लैंडिंग’ हुई है। उससे संपर्क के प्रयास जारी हैं। गौर है कि चंद्रमा की सतह पर चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर की ‘सॉफ्ट लैंडिंग' का अभियान शनिवार को तय योजना के मुताबिक पूरा नहीं हो पाया था। चांद पर उतरते समय 2.1 किलोमीटर की ऊंचाई पर लैंडर का जमीनी स्टेशन से संपर्क टूट गया था। इसरो प्रमुख के. सिवन ने कहा कि चंद्रयान-2 अभियान तय योजना के मुताबिक पूरा नहीं होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन और देश के समर्थन ने अंतरिक्ष एजेंसी के वैज्ञानिकों का मनोबल बढ़ाया। इसरो के पूर्व अध्यक्ष के. कस्तूरीरंगन ने कहा, ‘हम बेहद अभिभूत हैं। पूरे देश से अच्छी और सकारात्मक प्रतिक्रिया मिली। प्रधानमंत्री का अंदाज भी अभूतपूर्व था।' इसरो के एक अन्य पूर्व प्रमुख एएस किरण कुमार ने कहा, ‘हम निश्चित रूप से देश और प्रधानमंत्री के आभारी हैं। हम सराहना करते हैं कि देश ने वास्तव में इस मिशन पर ध्यान दिया और अपना समर्थन देना जारी रखा। हम पूरे देश के आभारी हैं।'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

छोटा सा पौधा थोड़ा सा पानी

छोटा सा पौधा थोड़ा सा पानी

आईपीएल आज से

आईपीएल आज से

टूटने लगा है बच्चों का सुरक्षा कवच

टूटने लगा है बच्चों का सुरक्षा कवच

उगते सूरज के देश में उगा सुगा

उगते सूरज के देश में उगा सुगा

मुख्य समाचार

महाराष्ट्र के भिवंडी में 3 मंजिला इमारत ढही, 7 बच्चों सहित 11 की मौत!

महाराष्ट्र के भिवंडी में 3 मंजिला इमारत ढही, 7 बच्चों सहित 11 की मौत!

4 वर्षीय बच्चे सहित 13 लोगों को मलबे से निकाला गया

बिहार को चुनावी सौगात, मोदी ने रखीं 14 हज़ार करोड़ रुपये की राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला!

बिहार को चुनावी सौगात, मोदी ने रखीं 14 हज़ार करोड़ रुपये की राजमार्ग परियोजनाओं की आधारशिला!

राज्य के सभी गांवों को इंटरनेट से जोड़ने के लिए ऑप्टिकल फाइबर...

शहर

View All