उपासना स्थल अधिनियम में हो संशोधन : स्वामी

नयी दिल्ली, 1 दिसंबर (एजेंसी) भाजपा के वरिष्ठ नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने उपासना स्थल कानून 1991 में संशोधन की मांग करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है। इस अधिनियम के तहत पवित्र ढांचों का वही ‘राजनीतिक स्वरूप' बरकरार रखे जाने की बात की गई है, जो स्वरूप उनका 15 अगस्त 1947 में था। इस कानून के तहत किसी मंदिर को मस्जिद और मस्जिद को मंदिर में परिवर्तित किए जाने पर भी प्रतिबंध है। स्वामी ने प्रधानमंत्री से अपील की कि वह विधि मंत्रालय को अधिनियम, विशेष रूप से धारा चार में संशोधन के लिए निर्देश दें। उनका दावा है कि यह अधिनियम उपासना की स्वतंत्रता के ‘मेरे मौलिक अधिकारों का उल्लंघन करता' है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें