उद्धव सरकार ने जीता विश्वास

मुंबई में शनिवार को महाराष्ट्र विधानसभा में विश्वास मत जीतने के बाद विधायकों के साथ मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे। -प्रेट्र

मुंबई, 30 नवंबर (एजेंसी) महाराष्ट्र में उद्धव ठाकरे नीत महाराष्ट्र विकास अघाड़ी (शिवसेना-राकांपा और कांग्रेस) सरकार ने शनिवार को विधानसभा के विशेष सत्र में 169 वोटों से विश्वास मत हासिल कर लिया। कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण ने सदन में प्रस्ताव पेश किया, जिसका राकांपा और शिवसेना के सदस्यों ने समर्थन किया। भाजपा ने सत्र पर आपत्ति जताई और विश्वास मत से पहले उसके 105 विधायकों ने सदन का वाकआउट किया। 4 विधायकों ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया। सरकार के विरोध में कोई वोट नहीं पड़ा। गठबंधन में शामिल तीनों दलों के पास 154 विधायक हैं, सरकार को इससे 15 वोट ज्यादा मिले। बहुजन विकास अघाड़ी और सपा ने सरकार का समर्थन किया। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बहुमत साबित करने के लिए उद्धव ठाकरे को 3 दिसंबर तक का समय दिया था, लेकिन ठाकरे ने 3 दिन पहले ही बहुमत साबित कर दिया। इससे पहले भाजपा ने दावा किया कि शक्ति परीक्षण से पहले विधानसभा में कामकाज किया जाना संवैधानिक नियमों का उल्लंघन है और पार्टी ने सदन से वाकआउट किया। पार्टी ने यह भी कहा कि वह इस मुद्दे को राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी के सामने उठाएगी। भाजपा विधायक दल के नेता देवेंद्र फडणवीस ने पार्टी के विधायक कालिदास कोलाम्बकर को हटा कर राकांपा के दिलीप वाल्से पाटिल को प्रोटेम स्पीकर बनाये जाने पर भी आपत्ति जताई। उधर, भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने कहा कि नयी सरकार ने सभी कानूनों का उल्लंघन किया है। उन्होंने कहा कि प्रोटेम स्पीकर बदलने के मामले को लेकर वे सुप्रीमकोर्ट जाएंगे। ऐसे किया बहुमत साबित 0 विधानसभा की कुल सीटें : 288 0 समर्थन में पड़े : 169 वोट 0 एआईएमआईएम के 2, माकपा और मनसे के एक-एक विधायक ने वोट नहीं किया और तटस्थ रहे 0 भाजपा के 105 विधायकों ने किया वॉकआउट माता-पिता का नाम लेना अपराध नहीं : उद्धव विश्वासमत हासिल करने के बाद उद्धव ने सदन के सदस्यों और जनता का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि मैं अब तक मैदान में लड़ने वाला आदमी रहा हूं, लेकिन यहां जो व्यवहार देखा, उससे लगा कि मैदान ही सही था। राज ठाकरे ने चौंकाया, नहीं दिया सरकार को वोट उद्धव ठाकरे के चचेरे भाई राज ठाकरे की पार्टी मनसे सदन में तटस्थ रही। राज ठाकरे उद्धव के शपथग्रहण समारोह में पहुंचे थे। इसके बाद सबकी नजरें इस बात पर टिकी थीं कि बहुमत परीक्षण में एमएनएस किसका साथ देगी। आज चुना जाएगा स्पीकर स्पीकर के पद के लिए कांग्रेस की तरफ से नाना पटोले और भाजपा के किसन कठोरे उम्मीदवार होंगे। रविवार को चुनाव होगा।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All