इंसाफ के लिये 15 लाख हस्ताक्षर

नयी दिल्ली में जंतर मंतर पर मंगलवार को अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल। -मुकेश अग्रवाल

नयी दिल्ली, 3 दिसंबर (एजेंसी) हैदराबाद में 27 वर्षीय पशु चिकित्सक की दुष्कर्म के बाद हत्या मामले में इंसाफ के लिये बीते 4 दिनों के अंदर चेंज.ओआरजी पर देशभर से करीब 15 लाख से ज्यादा लोगों ने याचिका पर दस्तखत किये। चेंज.ओआरजी के एक बयान के मुताबिक 29 नवंबर को शुरू की गई याचिका के समर्थन में 24 घंटे में ही 3 लाख लोगों ने दस्तखत किये और इसे लगातार समर्थन मिल रहा है। बयान में कहा गया, '4 दिनों के अंदर विरोध और गुस्सा दर्ज कराने के लिये नागरिकों द्वारा 500 याचिकाएं शुरू की गईं और 8 लाख से ज्यादा लोगों ने दस्तखत किये। मुंबई के पशु चिकित्सक डॉ. शांतनु कोडापे ने इसे शुरू किया था।

स्वाति मालीवाल का अनशन दिल्ली महिला आयोग की प्रमुख स्वाति मालीवाल देश में बढ़ती बलात्कार की घटनाओं के खिलाफ मंगलवार को जंतर-मंतर पर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठीं। पुलिस ने उनसे जंतर मंतर परिसर खाली करने का अनुरोध किया, क्योंकि शाम 5 बजे के बाद वहां विरोध -प्रदर्शन करने पर पाबंदी है। उन्होंने पुलिस के अनुरोध को ठुकरा दिया है। मालीवाल ने जंतर-मंतर पर कहा, ‘मेरी प्रधानमंत्री से मांग है कि दोषियों को सूली पर लटका देना चाहिए। पिछले साल, मैंने प्रदर्शन किया था और 10 दिन के अंदर सरकार ने नाबालिगों को 6 महीने के भीतर फांसी की सजा देने का कानून बनाया, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।' हमेशा के लिये जेल में बंद करें : हेमा मालिनी मथुरा से भाजपा सांसद हेमा मालिनी ने कहा कि बलात्कारियों को हमेशा के लिये जेल में बंद कर दिया जाए। संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से उन्होंने कहा, ‘हर दिन हम महिलाओं को परेशान किये जाने के बारे में सुनते हैं। मेरा सुझाव है कि दोषियों को स्थायी तौर पर जेल में बंद कर दिया जाना चाहिए।' फांसी से क्या कम हो जाएंगे रेप : अपर्णा सेन कोलकाता : दोषियों को फांसी देने की मांग के बीच मशहूर फिल्मकार अपर्णा सेन ने पूछा है कि क्या ऐसा करने से ऐसे अपराधों में कमी आएगी। उन्होंने ट्वीट किया, ‘यह बेहद घिनौना अपराध है। लेकिन इसके बाद क्या? क्या बलात्कार की और कोई वारदात नहीं होगी? क्या ऐसे मामलों में कमी आएगी?'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All