संघर्ष करेंगे, निगम की अलाॅट जगह पर नहीं जाएंगे : वेंडर्स

ट्रिब्यून न्यूज सर्विस चंडीगढ़, 30 नवंबर चंडीगढ़ नगर निगम और शहर के वेंडर्स के बीच तनातनी शुरू हो गई है। निगम की तरफ से अलॉट किए गये स्थानों पर वेंडर शिफ्ट होने से इनकार कर रहे हैं, जबकि निगम को आगामी 5 दिसंबर तक यह काम पूरा करना है। वेंडर्स का कहना है कि जहां निगम उन्हें शिफ्ट करना चाहता है, वहां न तो मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई गई हैं और न ही पार्किंग की व्यवस्था है। रामदरबार में बैठे सब्जी विक्रेताओं को आईटी पार्क में शिफ्ट किया जा रहा है, जहां सब्जी खरीदने वाले ढूंढने से भी नहीं मिलेंगे। वेंडर्स ने कहा कि निगम ने अगर जबरन उन्हें उठाने की कोशिश की तो वे संघर्ष का रास्ता अपनाएंगे। सेक्टर-22 रेहड़ी मार्केट के प्रधान सुखविंदर सिंह लाटी ने कहा कि यहां से कोई वेंडर अलॉट की जगह पर शिफ्ट नहीं होगा, इसके लिए भले ही उन्हें संघर्ष क्यों न करना पड़े। सुखविंदर ने कहा कि पिछले कई वर्षों से मार्केट में कुछ मुट्ठीभर वेंडर्स ही सामान लगाया करते थे, लेकिन जब से निगम ने सर्वे किया, तभी से यहां वेंडर्स की संख्या सैकड़ों में हो गई है। इसका जिम्मेदार निगम है, वेंडर्स नहीं। उन्होंने कहा कि यदि सर्वे उन्हीं वेंडर्स का होता, जिनके पास यहां बैठने का कोई प्रूफ है, तो आज शहर का यह हाल नहीं होता। निगम ने खुद गलत तरीके से सर्वे करवाया और अब उन्हें वहां से उठाया जा रहा है। सेक्टर-19 की वेंडर्स एसोसिएशन के प्रधान सुभाष ने कहा कि सेक्टर-19 से एक भी वेंडर शिफ्ट नहीं होगा, इसके लिए भले उन्हें कानूनी लड़ाई लड़नी पड़े। सुभाष ने कहा कि जहां वेंडर्स को जगह अलॉट की गई है, वहां के लोग भी इसके विरोध में हैं। उन्होंने बताया कि गत दिनों यहां से कुछ वेंडर उन्हें अलॉट हुई जगह देखने गए थे, तब वहां के निवासियों ने उन्हें चेताया था। मनीमाजरा के वेंडर्स का भी कहना है कि उन्हें आईटी पार्क के साथ लगती जगह पर शिफ्ट किया जा रहा है। आईटी पार्क एक व्यावसायिक हब है, वहां कोई रिहायशी क्षेत्र नहीं है।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All