कर्मचारी संगठनों ने फूंका प्रशासन का पुतला

चंडीगढ़, 29 नवंबर (ट्रिन्यू) चंडीगढ़ इंटक के आह्वान पर गवर्नमेंट मेडिकल कालेज व अस्पताल (जीएमसीएच) सेक्टर 32 की सिक्योरिटी यूनियन, अटेंडेंट यूनियन, सफाई कर्मचारी यूनियन, नर्सिंग यूनियन ने चंडीगढ़ सब ऑर्डिनेट सर्विसेज फेडरेशन समेत सभी सरकारी और गैर सरकारी यूनियनों के सैकड़ों कर्मचारियों ने साथ मिलकर शुक्रवार को मांगों के समर्थन में अस्पताल के सामने चंडीगढ़ प्रशासन का पुतला फूंका और सरकार को चेतावनी दी कि अगर जल्द ही कर्मचारियों और मजदूरों की मांगों को नहीं माना गया तो 17 दिसंबर को सेक्टर 25 में एक विशाल रैली कर अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल की जाएगी। इंटक प्रदेश अध्यक्ष नसीब जाखड़ ने कहा कि सरकार और चंडीगढ़ प्रशासन कर्मचारियों और मजदूरों की मांगों को लेकर गंभीर नहीं है। प्रशासन ने वार्ता के लिए नहीं बुलाया। उसके बाद नोटिस देकर 11 अक्तूबर को हजारों लोगों ने सांसद किरण खेर का घेराव किया। उसके बाद भी समाधान नहीं निकला और अब नोटिस देकर चंडीगढ़ प्रशासन का पुतला फूंका। ‘कच्चे कर्मियों के लिए नहीं सिक्योर पॉलिसी’ नसीब जाखड़ का कहना है कि 10 से 15 साल नौकरी करने के बाद भी बिना नोटिस के निकाल दिया जाता है। कच्चे कर्मचारियों को पक्का करने की कोई पॉलिसी सरकार नहीं बना रही है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले अनुसार समान काम समान वेतन नहीं दिया जा रहा। सेंटर के रूल लागू नहीं किए जा रहे। कर्मचारी की सेवा के दौरान अगर मौत हो जाती है तो दूसरे राज्यों की तर्ज पर अनुकंपा के आधार पर नौकरी नहीं दी जाती। सिर्फ 5 प्रतिशत कोटा दिया हुआ जो कि बिल्कुल गलत है। इस मौके पर चंडीगढ़ सब ऑर्डिनेट सर्विसेज फेडरेशन के प्रधान चरनजीत ढींढसा समेत सभी नेताओं ने विचार रखे।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

शहर

View All