एनजीटी में आज अपना पक्ष रखेगा निगम

चंडीगढ़, 28 नवंबर(ट्रिन्यू) चंडीगढ़ के प्रशासक के सलाहकार मनोज कुमार परिदा ने बृहस्पतिवार को सचिवालय में शहर में पर्यावरण को बचाने के लिए उठाये गए कदमों और योजनाओं के बारे में प्रशासन के विभिन्न विभागों की ओर से पेश की गई प्रोग्रेस रिपोर्ट पर चर्चा की। नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (एनजीटी) में होने वाली सुनवाई में यह रिपोर्ट शुक्रवार को पेश की जायेगी। इसमें पर्यावरण विभाग की ओर से शहर में प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों के खिलाफ लिए गए एक्शन की रिपोर्ट भी पेश की गयी। निगम को शुक्रवार को कचरे के निष्पादन व पृथकरण के संबंध में नेशनल ग्रीन ट्रिब्युनल (एनजीटी) में जयप्रकाश एसोसिएटस द्वारा निगम के विरुद्ध दायर शिकायत का जवाब देना है। मुख्य वन संरक्षक देवेंद्र दलई ने बताया कि विभाग की ओर से प्रदूषण फैलाने वाले उद्योगों को नोटिस देकर वहां से निकलने वाले गंदे पानी को ट्रीट करने के साथ साथ पौधारोपण करने को कहा गया है। गंदा पानी सीवर में डालने पर कोई पकड़ा जाता है तो उसके उद्योग को सील करने का प्रावधान है। निगम की ओर से शहर में डंपिंग ग्राउंड में लगे कचरे के ढेरों को साफ करने का काम शुरू करने के लिए निविदायें आमंत्रित करने व सेक्टरों में कचरे के सेग्रीकेशन की पालिसी के बारे में बताया। डड्डूमाजरा में लगे ग्रीन टेक गारबेज प्रोसेसिंग प्लांट की कंपनी जयप्रकाश एसोसिएटस ने शिकायत की थी कि निगम गीला और सूखा कचरा पृथक कर नहीं भेज रहा है जिस कारण वह प्रोसेस नहीं कर रहा है। इस संबंध में निगम सदन में हुई चर्चा में कहा गया कि जब कंपनी के साथ करार किया गया था तो उसमें कचरा पृथक करने का क्लाज ही नहीं था और न ही वहां कचरा प्रथक कर प्रोसेस करने की मशीने हैं।

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें