दिग्गज कलाकारों को भगवान माना है : रणवीर सिंह

दिग्गज कलाकारों को भगवान माना है : रणवीर सिंह

मुंबई : अभिनेता रणवीर सिंह बताते हैं, कि टेलीविज़न जगत में अपनी पारी शुरू करने से पहले वह किस तरह हिंदी सिनेमा के दिग्गज कलाकारों से प्रेरणा ले रहे हैं। वह कहते हैं, 'बचपन से ही मैंने अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, सलमान खान और अक्षय कुमार को भगवान की तरह माना है!' बता दें कि रणवीर सिंह विजुअल पर आधारित एक अनोखे क्विज शो, 'द बिग पिक्चर' के होस्ट के रूप में अपने बड़े टेलीविज़न डेब्यू के लिए तैयार हैं। 16 अक्तूबर को कलर्स पर इस शो को लॉन्च किया जाएगा। उन्होंने खुलासा किया, कि बचपन से ही अमिताभ बच्चन, शाहरुख खान, सलमान खान, अक्षय कुमार जैसे ऑन-स्क्रीन टाइटन्स का जादू उनका मन मोह लेता था। उन सभी ने कई बड़े टीवी शो को सफल तरीके से होस्ट किया और पूरे भारत का मनोरंजन किया। वह कहते हैं कि अब उन्हें भी ऐसा कर दिखाने का मौका मिल रहा है, जिससे वह बहुत खुश हैं। रणवीर कहते हैं, 'मैं अपने पहले टेलीविज़न शो – 'द बिग पिक्चर' को होस्ट करने की बात से रोमांचित हूं। मैं बेहद उत्साहित हूं कि मुझे बिल्कुल अनोखे फॉर्मेट वाले शो के जरिए देश का मनोरंजन करने का मौका मिला है, जिसे लेकर कलर्स की शानदार टीम बेहद भी काफी जोश में है।'

रणवीर कहते हैं, 'मुझे ऐसा लगता है कि टेलीविज़न स्क्रीन पर अपने करिश्माई प्रदर्शन के लिए उन्हें लोगों से भरपूर प्यार मिला है। 'द बिग पिक्चर' के होस्ट के रूप में मुझे भी देश के युवाओं के साथ-साथ पूरे भारतीय परिवार के दर्शकों से जुड़ने का एक शानदार अवसर मिला है।'

सब से अधिक पढ़ी गई खबरें

ज़रूर पढ़ें

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

‘राइट टू रिकॉल’ की प्रासंगिकता का प्रश्न

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

शाश्वत जीवन मूल्य हों शिक्षा के मूलाधार

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

कानूनी चुनौती के साथ सामाजिक समस्या भी

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

देने की कला में निहित है सुख-सुकून

मुख्य समाचार

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, 23 की मौत

उत्तराखंड में मूसलाधार बारिश, 23 की मौत

मौसम की मार नैनीताल का संपर्क कटा। यूपी में 4 की गयी जान

अपनी सियासी पार्टी बनाएंगे कैप्टन

अपनी सियासी पार्टी बनाएंगे कैप्टन

भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे के लिए बातचीत को तैयार

दुर्भाग्य से यह देश का  यथार्थ : ऑक्सफैम

दुर्भाग्य से यह देश का  यथार्थ : ऑक्सफैम

भुखमरी सूचकांक  पाक, नेपाल से पीछे भारत