कांग्रेस के शासन से कई गुणा बेहतर खट्टर सरकार : भाटिया !    प्रियंका के राज्यसभा में जाने की ‘अटकल’ का जवाब देने से कांग्रेस ने किया परहेज !    जेएनयू छात्रों का जंतर मंतर पर प्रदर्शन !    बुर्किना फासो में चर्च के पास हमला, 24 की मौत !    पाकिस्तान में जहरीली गैस से 4 की मौत !    ट्रंप ने सीरिया में रूस के हस्तक्षेप पर उठाए सवाल !    कांग्रेस ने भी कहा- पहले नेताओं से प्रतिबंध हटायें !    इंजीनियरिंग छात्र फिर गिरफ्तार, न्यायिक हिरासत में !    एकदा !    नहीं रहे आजाद हिंद फौज के सिपाही छोटूराम !    

सरगम › ›

खास खबर
जोश में एकता कपूर

जोश में एकता कपूर

सिल्वर स्क्रीन ए. चक्रवर्ती अभी हाल में प्रोड्यूसर एकता कपूर को पद्मश्री के सम्मान से नवाज़ा गया है। असल में जो लोग एकता के वर्किंग स्टाइल से वाकिफ हैं, उनका मानना है कि उन्हें यह सम्मान काफी पहले ही मिल जाना चाहिए था। पर एकता के चेहरे पर इसे लेकर कोई शिकवा-शिकायत ...

Read More

फ्लैशबैक

फ्लैशबैक

हिंदी फीचर फिल्म हीर रांझा शारा हीर रांझा सेल्युलाइड पर चेतन आनंद द्वारा लिखी गयी एक कविता है, जिसे हिमालय फिल्म्ज के बैनर तले उनके बेटे केतन आनंद ने प्रोड्यूस किया था। वर्ष 1970 में रिलीज यह फिल्म बॉलीवुड की पहली और शायद आखिरी फिल्म है, जिसके किरदार शायरी में बात ...

Read More

थ्रिलर और गंभीर सब्जेक्ट पसंद

थ्रिलर और गंभीर सब्जेक्ट पसंद

धर्मपाल बॉलीवुड में ‘फरेब’, ‘राज़’, ‘गुलाम’, ‘1920’, ‘आवारा पागल दीवाना’, ‘शापित’, ‘हॉन्टेड’, ‘1921’ और ‘राज़ 3’ जैसी फिल्में देने वाले भट्ट कैंप के निर्देशक एक बार फिर अपनी थ्रिलर फिल्म ‘हैक्ड’ को लेकर चर्चा में हैं। विक्रम भट्ट की इस फिल्म को दर्शकों ने खूब पसंद भी किया है। इनकी वेब ...

Read More

सामाजिक सरोकार का सिनेमा

सामाजिक सरोकार का सिनेमा

दीप्ति अंगरीश हमारे समाज में सिनेमा का अटूट प्रभाव पड़ता है। यूं कहें कि सिनेमा से ही समाज की मानसिकता बनती व बिगड़ती है। यही नहीं, बहुतेरे दर्शक अपने पसंदीदा अभिनेता-अभिनेत्री और उनके अविस्मरणीय किरदारों से प्रभावित रहते हैं। उनके जैसे कपड़े, उनके जैसा हेयर स्टाइल, उनके जैसा किरदार और उनकी ...

Read More

हेलो हाॅलीवुड

हेलो हाॅलीवुड

असीम पिट को भा गई लेना ‘वन्स अपॉन ए टाइम इन अमेरिका’ के निर्माण के दौरान राइटर डायरेक्टर, प्रोड्यूसर और एक्ट्रेस लेना डेनहम ने अभिनेता ब्रैड पिट के प्रति अपना लगाव खुलकर प्रकट किया था। इस फिल्म में उनका बहुत छोटा-सा रोल था,पर लेना इस बात को अभी तक भूली नहीं है। ...

Read More

चैनल चर्चा

चैनल चर्चा

प्रदीप सरदाना परवीन बॉबी पर वेब सीरीज़ इन दिनों वेब सीरीज़ जिस तरह लोकप्रियता का नया इतिहास रच रही हैं, उसे देख बड़े-बड़े फ़िल्मकार भी अब वेब शो बनाने में जुट गए हैं। इसकी एक हालिया मिसाल महेश भट्ट सरीखे फ़िल्मकार की वेब सीरीज़ भी है। इस वेब सीरीज को अभी ...

Read More

गैजेट्स

गैजेट्स

रेडमी का पावरबैंक शाओमी की सब ब्रांड रेडमी ने इंडियन मार्केट नए प्रोडक्ट सेगमेंट में एंट्री की है। कंपनी ने अपने लेटेस्ट डिवाइस रेडमी 8A डुअल के साथ दो पावरबैंक को भी लॉन्च किया है। पावरबैंक को 10,000एमएएच और 20,000एमएएच क्षमता के साथ पेश किया है। स्पेसिफिकेशन दोनों ही पावरबैंक में सबसे बड़ा ...

Read More


  • सामाजिक सरोकार का सिनेमा
     Posted On February - 15 - 2020
    हमारे समाज में सिनेमा का अटूट प्रभाव पड़ता है। यूं कहें कि सिनेमा से ही समाज की मानसिकता बनती व....
  • थ्रिलर और गंभीर सब्जेक्ट पसंद
     Posted On February - 15 - 2020
    बॉलीवुड में ‘फरेब’, ‘राज़’, ‘गुलाम’, ‘1920’, ‘आवारा पागल दीवाना’, ‘शापित’, ‘हॉन्टेड’, ‘1921’ और ‘राज़ 3’ जैसी फिल्में देने वाले भट्ट....
  • अब नही होंगे फेल !
     Posted On February - 15 - 2020
    सीबीएसई बोर्ड की मुख्य परीक्षाएं शुरू हो रही हैं। इस बार पैटर्न में बदलाव के साथ साथ बोर्ड मार्कशीट से....
  • प्रोफेशनल ब्लॉगिंग में करिअर
     Posted On February - 15 - 2020
    डिजिटल दौर में प्रोफेशनल ब्लॉगिंग में युवा शानदार करिअर तलाश रहे हैं । प्रोफेशनल ब्लॉगिंग वह है, जिसमें ब्लॉगर पैसे....

पुराने कार्यक्रम लम्बे नहीं खिंचेंगे : उदय शंकर

Posted On January - 22 - 2011 Comments Off on पुराने कार्यक्रम लम्बे नहीं खिंचेंगे : उदय शंकर
प्रदीप सरदाना कभी किसी ने टीवी को ‘इडियट बॉक्स’ कहकर इसे नकारा साबित कर दिया था। लेकिन आज टीवी को इडियट बॉक्स कहने वाला ही इडियट कहलाएगा। आज यह टीवी एक ग्रेट बॉक्स, एक जीनियस बॉक्स बन गया है। आज इस ‘स्मॉल स्क्रीन’ के सामने ‘बिग स्क्रीन’ भी नतमस्तक है। पिछले साल टीवी ने अपने दर्शकों और अपनी कमाई में जबरदस्त बढ़ोतरी की। स्टार, कलर्स, सोनी के साथ सब टीवी ने भी पिछले बरस नई 

नया साल फिल्मों का अम्बार

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on नया साल फिल्मों का अम्बार
प्रदीप सरदाना वर्ष 2010 बॉलीवुड के लिए कुल मिलाकर कुछ खास अच्छा नहीं रहा फिर भी बॉलीवुड का जोश देखते ही बनता है। हिन्दी फिल्मों के निर्माण पर छोटे-बड़े निर्माता जिस तरह अरबों रुपया लगा रहे हैं उससे लगता है कि शायद फिल्मों से अच्छा बिजनेस कोई नहीं। सन् 2011 में तो बड़ी फिल्मों की बाढ़ आने को तैयार है। साल शुरू होने से पहले ही 25 से ज्यादा बड़ी फिल्में प्रदर्शन की बाट जोह रही थी। इनके अलावा 

प्यार की हथकड़ी

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on प्यार की हथकड़ी
युवाओं का चहेता, मस्ती और मनोरंजन का चैनल यूटीवी बिंदास का नया रियलिटी शो लव लॉक अप, जो उन युगलों के लिये एक माध्यम होगा, जिन्होंने अपने रिश्ते को निभाने या तोडऩे का मन बनाया है।  इस शो की रचना प्रेम के प्रति आधुनिक  सोच को देखकर की गई है। यह शो अपने तीखे, लेकिन वास्तविकता पर आधारित होने की वजह से दर्शकों का मनोरंजन करने  का वादा करता है।  52 एपिसोड (13 युगलों) का यह शो 10 जनवरी से शुरू हुआ है और 

दिलचस्प किरदारों का इंतजार

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on दिलचस्प किरदारों का इंतजार
रेखा विविधता भरी भूमिकाओं के लिए खबरों में बनी रहने वाली कोंकणा सेन शर्मा हाल ही रणवीर शोरी के साथ गुपचुप शादी को लेकर भी सुर्खियों में थीं। यह अनूठी अदाकारा यहां शादी, मातृत्व और अपने कॅरिअर के बारे में बात कर रही हैं। 0 शादी के बाद आपकी जिंदगी में क्या बदलाव आया है? असल में शादी के बाद से मेरी जिंदगी में कोई बड़ा बदलाव तो नहीं आया है। शादी करने से पहले तीन बरस से मैं अपने पति 

मेरी पहचान बन गया है सीआईडी शिवाजी साटम

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on मेरी पहचान बन गया है सीआईडी शिवाजी साटम
रामकिशोर मराठी, हिंदी टीवी और फिल्मों में काम करने वाले वरिष्ठ अभिनेता शिवाजी साटम भारतीय टीवी पर सबसे लंबे चलने वाले सोनी के धारावाहिक सीआईडी में एसीपी प्रद्युम्न नाम के एक ऐसे पुलिस जांच अधिकारी की भूमिका हैं जिसने उन्हें भी लगभग अपना असली चेहरा और नाम भुला-सा दिया है। वे कई फिल्मों में ऐसी भूमिकाएं कर चुके हैं पर जो ऊंचाई सीआईडी के प्रद्युम्न ने उन्हें दी है वह उनके करिअर 

माताओं की अदला-बदली

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on माताओं की अदला-बदली
शांतिस्वरूप त्रिपाठी हर नारी को अपने परिवार पर गर्व होता है। उसे लगता है कि उसके घर को उससे बेहतर कोई संभाल नहीं सकता। वह मानती है कि वही सर्वश्रेष्ठ मां है, सर्वश्रेष्ठ पत्नी है और अपने घर की सही मालकिन है लेकिन यदि इसी औरत यानी कि मां को कुछ दिनों के लिए दूसरे घर में भेज दिया जाए तो क्या स्थिति हो सकती है? इसी पर आधारित है सोनी टीवी का नया रिएलिटी शो ‘मां एक्सचेंज’ जो कि 26 सप्ताह 

खाती-पीती महिला हूं मुझमें फर्क आएगा : मेघना

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on खाती-पीती महिला हूं मुझमें फर्क आएगा : मेघना
संगीता अम्मा जी के रूप में मेघना मलिक ने अपनी जो पहचान बनाई है वह अद्भुत है। कलर्स चैनल के ‘न आना इस देस लाडो’ की सफलता का एक बड़ा कारण भी मेघना ही हैं जिनका हर अंदाज देखते ही बनता है। अम्मा जी के बिना अब इस सीरियल की कल्पना भी नहीं की जा सकती। यही कारण है कि जब ‘लाडो’ की कहानी को 18 साल आगे करके कुछ चरित्रों को अलविदा कह दिया है तब अम्मा जी का किरदार और सशक्त और विस्तृत हो कर उभरा 

जरूरी नहीं हर फिल्म सलमान के साथ करूं

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on जरूरी नहीं हर फिल्म सलमान के साथ करूं
अपनी पहली फिल्म गजनी के बाद से ही वो फैशन वल्र्ड की एक नामचीन तारिका नाम बन चुकी है। यही वजह है कि बेहद कम फिल्मों में काम करने वाली असिन की ज्यादातर चर्चा उनके फैशन को लेकर ही होती है। असिन अपने एक्टिंग टैलेंट का हवाला देते हुए अपने ग्लैमर्स लुक को हर तारिका की मजबूरी मानती है। जल्द ही वो अनीस बज्मी की फिल्म रेडी की बाकी की शूटिंग पूरी कर देंगी। इसके साथ ही वो साउथ की फिल्मों को लेकर लगातार 

मुझको मेरे बाद जमाना ढूंढ़ेगा

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on मुझको मेरे बाद जमाना ढूंढ़ेगा
किशोर कुमार के प्रशंसकों के लिए एक अच्छी खबर है। आखिरकार यूटीवी ने किशोर कुमार की जिंदगी पर एक बायोपिक बनाने का फैसला किया है और इस फिल्म के लिए रणबीर कपूर को साइन किया है जो किशोर दा का रोल अदा करेंगे।यूटीवी की इस फिल्म के बहाने अमित कुमार ने अपने डैड किशोर कुमार को कुछ अलग अंदाज में याद किया। अनुराग बसु के निर्देशन में यूटीवी वाले मेरे डैड पर बायोपिक फिल्म बना रहे हैं  जिसमें रणबीर 

सरगम की राहों के हमसफर

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on सरगम की राहों के हमसफर
सुर-ताल लता मंगेशकर के बारे में बीबीसी डॉट कॉम ने एक बार लिखा था कि ‘स्वर साम्राज्ञी, बुलबुले हिंद और कोकिला जैसे सारे विशेषण जो लता मंगेशकर के लिए गढ़े गए, वे हमेशा ही नाका$फी लगते रहे हैं।’ मधु बाला से लेकर माधुरी दीक्षित और काजोल तक हिंदी सिनेमा के स्क्रीन पर शायद ही ऐसी कोई बड़ी तारिका रही हो, जिसे लता मंगेशकर ने अपनी आवाज उधार न दी हो। बीस से अधिक भारतीय भाषाओं में लता ने 30 हजार से 

सब किस्मत का खेल है कुलराज

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on सब किस्मत का खेल है कुलराज
टेलीविजन से फिल्मों में छलांग लगाने वाली अभिनेत्रियों में एक नया नाम कुलराज रंधावा का भी जुड़  गया है, जो टीवी शो ‘करीना-करीना’ से ‘यमला पगला दीवाना’ में पहुंच गई। ० आप उन गिनी-चुनी टीवी अभिनेत्रियों में से है, जिन्हें ‘यमला पगला दीवाना’ जैसी किसी बड़ी हिंदी फिल्म में हीरोइन का रोल मिला हो? —मुझे लगता है कि मैं बहुत किस्मतवाली रही हूं कि मुझे टीवी और फिल्मों में बेस्ट मिल गया। 

यह बॉलीवुड है

Posted On January - 15 - 2011 Comments Off on यह बॉलीवुड है
आहना भी फिल्मों में धर्मेन्द्र-हेमा मालिनी की दूसरी बेटी आहना भी अब फिल्म में हीरोइन के रूप में दस्तक देने को तैयार हैं। जानकार सूत्रों के अनुसार निर्माता अनुराग कश्यप और निर्देशक विक्रमादित्य मोटवानी की फिल्म में आहना की एन्ट्री हो रही है। सूत्र यह भी बताते हैं कि यह एक मल्टी स्टारर फिल्म है जिसमें आहना के अलावा कई और भी कलाकार हो सकते हैं। आहना की बड़ी बहन एषा देओल पहले 

छोटे परदे का बड़ा सहारा

Posted On January - 8 - 2011 Comments Off on छोटे परदे का बड़ा सहारा
प्रतीक एम अपने टेलीविजन सैट पर पिछले दिनों हमने छोटे-बड़े तमाम फिल्मी सितारों की धमाचौकड़ी का भरपूर आनंद लिया। उत्सव की रंगीनियों में डूबे सितारे एक चैनल से दूसरे चैनल के सैट पर भागदौड़ करते नजर आए, क्योंकि मामला अपनी फिल्म के प्रमोशन का था। स्टार प्लस के शो ‘मास्टर शेफ इंडिया’ के सैट पर उस दिन कुछ अलग ही माहौल था। कारण- फराह खान की फिल्म ‘तीसमार खां’ की नायिका कैटरीना कैफ 

मीडिया को हर बात बतानी जरूरी नहीं : दीपिका

Posted On January - 8 - 2011 Comments Off on मीडिया को हर बात बतानी जरूरी नहीं : दीपिका
दीप्ति अनिल हाउसफुल, कार्तिक कॉलिंग कार्तिक,लफंगे परिंदे,ब्रेक के बाद और खेलेंगे जी जान से इस साल उनकी कुल पांच फिल्में रिलीज हुई हैं। इन फिल्मों के परिणाम पर गौर फरमायें,तो इन फिल्मों ने दीपिका के कॅरिअर को कुछ खास उज्ज्वल नहीं किया है। दीपिका भले ही इस बात से इनकार करें,लेकिन सच तो यह है कि अपनी पहली फिल्म ओम शांति ओम के बाद से उन्हें एक हिट के लिए तरस जाना पड़ रहा है। सैफ के साथ 

मीडिया को हर बात बतानी जरूरी नहीं : दीपिका

Posted On January - 8 - 2011 Comments Off on मीडिया को हर बात बतानी जरूरी नहीं : दीपिका
....

यथार्थवादी चरित्र निभाना मुश्किल है विद्या बालन

Posted On January - 8 - 2011 Comments Off on यथार्थवादी चरित्र निभाना मुश्किल है विद्या बालन
....
Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.