तेल का खेल !    घर जाने के लिए सड़कों पर उतरे डेढ़ लाख प्रवासी श्रमिक !    हरियाणा में विदेश से लौटे 11 हजार लोगों में से 200 ‘गायब’ !    2 मौत, 194 नये मामले !    रेल कोच को बनाया आइसोलेशन वार्ड !    लॉकडाउन पर भारी पलायन !    कोरोना से लड़ने को टाटा ने खोला खजाना, 1500 करोड़ दिया दान !    मौजूदा ब्रेक भारतीय खिलाड़ियों के लिये अच्छा विश्राम : शास्त्री !    कृषि को लॉकडाउन से दी छूट : केंद्र !    चीन ने पाकिस्तान भेजी चिकित्सा सहायता और राहत सामग्री !    

विचार › ›

खास खबर
पंजाब के ग्राम्य-जीवन का शब्दचित्र

पंजाब के ग्राम्य-जीवन का शब्दचित्र

पुस्तक समीक्षा मोहन मैत्रेय चर्चित अवतार सिंह बिलिंग रचित उपन्यास ‘खाली कुओं की कथा’ के संबंध में कथन है कि इस कृति में पंजाब के सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक उन परिवर्तनों की प्रस्तुति है जो क्षेत्र ने देखे-झेले हैं। वास्तव में यह रचना क्षेत्र के ग्रामीण जीवन का शब्द-चित्रण है। रचना के शीर्षक का ...

Read More

विविध आयामों की कविता

विविध आयामों की कविता

पुस्तक समीक्षा शशि सिंघल कवयित्री निधि ख़ाली ध्यानी मृगतृष्णा की काव्य कृति ‘रातें सूरज सी’ जीवन के विविध आयामों को दर्शाती हल्की-फुल्की कविताओं का जखीरा है। इस काव्य कृति की लगभग बयासी कविताएं ताजा हवा के झोंकों की तरह जीवन के हर मोड़ में झांकती नजर आती हैं। इनमें प्रेम है, रिश्ता ...

Read More

कामकाजी महिलाओं की जिजीविषा

कामकाजी महिलाओं की जिजीविषा

पुस्तक समीक्षा सुशील कुमार फुल्ल विद्वानों ने उपन्यास को जीवन की व्याख्या माना है। समाज की समस्याओं एवं विसंगतियों को आधार बनाकर पात्रों के माध्यम से कथावस्तु को बुनते हुए उसे किसी निष्कर्ष तक ले जाना उपन्यास की सफलता का पैमाना होता है। ‘नारी कभी न हारी’ वीना चौहान विरचित ऐसा ही ...

Read More

मूर्तिकला के एक युग का बोध

मूर्तिकला के एक युग का बोध

पुस्तक समीक्षा राजवंती मान मनुष्य प्रारम्भ से ही अपने ज्ञान-दर्शन और मान्यताओं को संरक्षित और संवाहित करने की चेष्टा करता रहा है। सभ्यता के विकास के साथ ही उसने मूर्तिकला और चित्रकला जैसी कठिन कलाएं विकसित की। सिन्धु सभ्यता के कला-नमूनों से पाटलिपुत्र की यक्षिणी तक, सांची से अजंता-एलोरा की गुफाओं ...

Read More

दलित विमर्श के अग्रदूत

दलित विमर्श के अग्रदूत

पुस्तक समीक्षा रमेश नैयर राष्ट्रीय राजनीति में दलित समाज के महत्व को रेखांकित करने में डॉ. भीमराव अंबेडकर के बाद कांशीराम का विशेष महत्व है। पंजाब के ग्रामीण क्षेत्र में राजनीति की वर्णमाला सीखने वाले कांशीराम ने राष्ट्रीय स्तर पर दलित वर्ग के जुझारू नेता के रूप में अपनी पहचान बनाई। उनको ...

Read More

विरासत से जुड़ने की अनूठी मुहिम

विरासत से जुड़ने की अनूठी मुहिम

हरियाणा सृजन यात्रा अरुण कुमार कैहरबा घुमक्कड़ी एक बेहतरीन शौक है। अनेक प्रकार की यात्राओं के जरिये यात्रियों ने समाज निर्माण व तथ्यों की खोज में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। साहित्य में यात्रा साहित्य की एक पूरी धारा है। हिन्दी साहित्य में राहुल सांकृत्यायन ने ‘घुमक्कड़ शास्त्र’ रच कर घुमक्कड़ी को प्रतिष्ठित ...

Read More

शैलेंद्र के गीतों में ज़िंदगी के फलसफे का यथार्थ

शैलेंद्र के गीतों में ज़िंदगी के फलसफे का यथार्थ

आलोक यात्री 21वीं सदी के दो दशक बीत जाने के बाद तमाम सुख-सुविधाओं से संपन्न इस दुनिया में ‘हाउस अरेस्ट’ की अवस्था में पहुंच चुके आम व्यक्ति के पास करने के लिए खास कुछ नहीं है। टीवी रिमोट और मोबाइल फोन के बटन या की-पैड भी इस एकाकीपन, ऊब, निरसता और ...

Read More


  • विरासत से जुड़ने की अनूठी मुहिम
     Posted On March - 29 - 2020
    घुमक्कड़ी एक बेहतरीन शौक है। अनेक प्रकार की यात्राओं के जरिये यात्रियों ने समाज निर्माण व तथ्यों की खोज में....
  • दलित विमर्श के अग्रदूत
     Posted On March - 29 - 2020
    राष्ट्रीय राजनीति में दलित समाज के महत्व को रेखांकित करने में डॉ. भीमराव अंबेडकर के बाद कांशीराम का विशेष महत्व....
  • मूर्तिकला के एक युग का बोध
     Posted On March - 29 - 2020
    मनुष्य प्रारम्भ से ही अपने ज्ञान-दर्शन और मान्यताओं को संरक्षित और संवाहित करने की चेष्टा करता रहा है। सभ्यता के....
  • कामकाजी महिलाओं की जिजीविषा
     Posted On March - 29 - 2020
    विद्वानों ने उपन्यास को जीवन की व्याख्या माना है। समाज की समस्याओं एवं विसंगतियों को आधार बनाकर पात्रों के माध्यम....

आंचलिकता का शब्द-माधुर्य

Posted On March - 9 - 2020 Comments Off on आंचलिकता का शब्द-माधुर्य
आंचलिक बोलियों/भाषाओं में कुछ शब्द अपने अर्थ से ऐसे गुंथे होते हैं कि अन्य किसी भी भाषा में उसका सटीक शब्दार्थ तलाशना मुश्किल होता है। राजस्थानी (मारवाड़ी) में ऐसा ही एक शब्द है चत्तर, चतर (चतुर)। यह चतर/चतुर हिंदी में जिस अर्थ में (क्लेवर) प्रयुक्त होता है, राजस्थानी में कुछ अंतर से प्रयोग होता है। ....

क्षुद्रग्रहों के टकराव से पृथ्वी का जलवायु परिवर्तन

Posted On March - 9 - 2020 Comments Off on क्षुद्रग्रहों के टकराव से पृथ्वी का जलवायु परिवर्तन
वैज्ञानिकों का ख्याल है कि 12800 वर्ष पहले एक विशाल क्षुद्रग्रह पृथ्वी से टकराया था, जिसके बाद जलवायु परिवर्तन हुआ और कई प्रजातियां लुप्त हो गईं। वैज्ञानिकों ने यह अनुमान दक्षिण अफ्रीका में मिले एक नए प्रमाण के आधार पर लगाया है। उन्होंने वंडरक्रेटर नामक स्थान की प्राचीन मिट्टी का विश्लेषण किया और वहां प्लेटिनम के उच्च स्तर का पता लगाया। ....

फिर भी जगी उम्मीद

Posted On March - 9 - 2020 Comments Off on फिर भी जगी उम्मीद
कह सकते हैं ये आस्ट्रेलिया का सुपर संडे था। उनका लंबा अनुभव था, घरेलू मैदान था तथा उनका मनोबल बढ़ाने के लिये मेलबार्न क्रिकेट ग्राउंड में पहली बार रिकॉर्ड 86 हजार दर्शक थे। हां, भारतीय महिला क्रिकेटरों का बल्ला नहीं चला। शायद रविवार उनका दिन नहीं था। पूरे टूर्नामेंट में यदि कप्तान सिर्फ तीस रन ही बना पाये तो टीम के मनोबल पर असर पड़ना स्वाभाविक ....

पुस्तकें मिलीं

Posted On March - 8 - 2020 Comments Off on पुस्तकें मिलीं
ओशो जीवन दर्शन पर नजर अरुण नैथानी यद्यपि ओशो ने कभी इस बात को महत्व नहीं दिया कि कौन उनके बारे में क्या कहता है। उनके बारे में तरह-तरह की धारणाएं रही हैं। उन्हें अभिजात्य वर्ग के धर्मगुरु के रूप में चित्रित किया गया। मगर उनके व उनके दर्शन के संपर्क में आने वाले लोगों की धारणाएं भी बदल जाती हैं। समीक्ष्य पुस्तक में शशिकांत ‘सदैव’ ने चर्चित हस्तियों व बुद्धिजीवियों की राय 

नवविमर्श से विसंगतियों पर तंज

Posted On March - 8 - 2020 Comments Off on नवविमर्श से विसंगतियों पर तंज
सामाजिक धरातल में विचारात्मक स्तर पर स्त्री, आदिवासी, दलित विमर्श, जहां परामर्श ले दे रहे हैं तो वहीं व्यंग्य विधा के धरातल पर पुरुष विमर्श की बातें भी आम होने लगी हैं। व्यंग्य की भावभूमि पर सुदर्शन सोनी का व्यंग्य संग्रह ‘अगले जनम मोहे कुत्ता ही कीजो’ व्यंग्यात्मक शैली में कुत्ता विमर्श करता अपने से परे होने वाले समाज में व्याप्त विभिन्न विसंगतियों की पोलों ....

श्रीकृष्ण से जुड़े मिथकों को नयी दृष्टि

Posted On March - 8 - 2020 Comments Off on श्रीकृष्ण से जुड़े मिथकों को नयी दृष्टि
महाभारत एवं श्रीमद‍्भागवत महापुराण के महानायक श्रीकृष्ण के चरित के बारे में जितना जाना व समझा है, उसके तहत भारतीय संस्कृति के मानव मूल्यों की स्थापना में श्रीकृष्ण का योगदान सर्वश्रेष्ठ रहा है। भारतीय समाज में वह एक दिव्य, महान पुरुष के अलावा ईश्वर रूप में मान्य हैं। ....

कुट्टी

Posted On March - 8 - 2020 Comments Off on कुट्टी
‘बहुत अच्छा किया...’ मैंने मीनू को अपनी ओर खींच लिया और पास बैठाकर प्यार करने लगा। उसने एक जापानी गुड़िया पकड़ रखी थी। मैं उसे देखने लगा। मीनू ने सहज ही गुड़िया मुझे दे दी और बोली, ‘अंकल, कितनी प्यारी है यह डॉल!’ ....

एकदा

Posted On March - 7 - 2020 Comments Off on एकदा
जैन गुरु समानु के बचपन की घटना है। बचपन में भी उनका ज्ञान बड़ों जैसा ही था। उनके शिक्षक अन्य शिष्यों को समानु का उदाहरण देकर पढ़ाया करते थे। गुरु के आश्रम में दुर्लभ ग्रंथों के अलावा कीमती बर्तनों का भी अच्छा संग्रह था। एक बार बर्तनों की सफाई करते हुए समानु से गुरु जी की एक कीमती प्याली हाथ से छूटकर गिर गई और ....

भीतर की नाकामी, बाहरी पर फोड़ा ठीकरा

Posted On March - 7 - 2020 Comments Off on भीतर की नाकामी, बाहरी पर फोड़ा ठीकरा
दिल्ली में दंगों के बाद अब यह पता चल रहा है कि सारे दंगई तो बाहर से ही आए थे। जैसे आतंकी बाहर से आते हैं, घुसपैठिए बाहर से आते हैं, वैसे ही दंगई भी बाहर से ही आते हैं। बल्कि अब तो बीमारियां भी बाहर से आने लगी हैं। कभी एड्स बाहर से आ जाता है, तो कभी एंथ्रेक्स बाहर से आ जाता है। ....

राज्यसभा चुनाव समीकरणों की उलझी गुत्थी

Posted On March - 7 - 2020 Comments Off on राज्यसभा चुनाव समीकरणों की उलझी गुत्थी
मध्य प्रदेश में राज्यसभा चुनाव से पहले ही कांग्रेस और भाजपा में एक-दूसरे के खेमे में सेंधमारी की कोशिशें तेज हो गई हैं। कांग्रेस हरियाणा के गुरुग्राम से अपने विधायकों को वापस ले जाने में कामयाब हो चुकी है, लेकिन सेंधमारी का यह संकट अभी टला नहीं है। भाजपा भी राज्यसभा चुनाव में अपने विधायकों में सेंधमारी को लेकर आशंकित है। ....

आपकी राय

Posted On March - 7 - 2020 Comments Off on आपकी राय
दिल्ली में हुई सांप्रदायिक हिंसा से वैश्विक स्तर पर भारत की छवि धूमिल हुई है। दिल्ली पुलिस द्वारा बरती गई कोताही की जमकर भर्त्सना हो रही है। किसी भी क्षेत्र से धार्मिक नफरतें फैलाने वाली संस्थाओं पर अकुंश लगाया जाना आवश्यक हो गया है। इसे समय की मांग कहा जाना चाहिए। अन्यथा धीरे-धीरे अलगाव की खाइयां पैदा होंगी जो आगे चलकर देश की एकता ....

दिखावे के बजाय बुनियादी ढांचे पर हो खर्च

Posted On March - 7 - 2020 Comments Off on दिखावे के बजाय बुनियादी ढांचे पर हो खर्च
अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा से पहले वाले हफ्तों में इसको लेकर अहमदाबाद, आगरा और दिल्ली में की जाने वाली तैयारियों के बारे में हमें आए दिन प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के जरिए पता चल रहा था। उन दृश्यों को देखते समय मुझे पुलिस विभाग के अपने आरंभिक दिनों की याद ताजा हो आई थी। ....

बीमार बैंक

Posted On March - 7 - 2020 Comments Off on बीमार बैंक
हालांकि, सरकार और केंद्रीय बैंक ने यस बैंक के ग्राहकों को जमा पूंजी सुरक्षित रहने का भरोसा दिया है, मगर निजी बैंकों के लगातार बढ़ते संकट ने बैंकिंग व्यवस्था पर भरोसा कम जरूर किया है। आरबीआई ने कार्रवाई करते हुए बैंक का बोर्ड भंग कर दिया है और एक माह में सिर्फ पचास हजार रुपये निकालने की समय सीमा तय की है। ....

आपकी राय

Posted On March - 6 - 2020 Comments Off on आपकी राय
भारत में सबसे पहले केरल में कोरोना वायरस के तीन पॉजिटिव केस मिले थे। राज्य ने इस बीमारी पर बड़ी जीत हासिल की। सवाल है कि क्‍या दूसरे राज्यों में भी कोरोना वायरस से निपटने की इसी तरह की तैयारी है? ऐसा लगता है कि दूसरे राज्य इसे गंभीर चुनौती नहीं मान रहे हैं और अस्पतालों में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध नहीं करा पा रहे हैं। ....

एकदा

Posted On March - 6 - 2020 Comments Off on एकदा
एक बार गौतम बुद्ध अपने शिष्यों के साथ लंबी पद यात्रा पर थे। काफी दूर चलते-चलते वे सब एक गांव में रुक गये। गांव के एक जमींदार ने उनको अपना अतिथि बनाया। गौतम बुद्ध ने सहर्ष उनका आतिथ्य स्वीकार कर लिया। वहां पर जमींदार का सात साल का जिद्दी पुत्र खूब शोर कर रहा था। ....

गप संस्कृति के पैकेज में शुमार अफवाहें

Posted On March - 6 - 2020 Comments Off on गप संस्कृति के पैकेज में शुमार अफवाहें
हिन्दुस्तान एक अफवाह पसंद देश है। यहां गली-मोहल्ले के स्तर पर हर चौथे दिन कोई न कोई अफवाह फैलती है। लेकिन, जिस तरह रुपए के गिरने और राजनेताओं के नैतिक पतन के मामले में देश ने उल्लेखनीय रिकॉर्ड बनाए हैं, उसी तरह अफवाह फैलाने के मामले में भी देश नए रिकॉर्ड बनाने की दिशा में अग्रसर है। ....
Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.