सिल्वर स्क्रीन !    हेलो हाॅलीवुड !    साहित्यिक सिनेमा से मोहभंग !    एक्यूट इंसेफेलाइिटस सिंड्रोम से बच्चों को बचाएं !    चैनल चर्चा !    बेदम न कर दे दमा !    दिल को दुरुस्त रखेंगे ये योग !    कंट्रोवर्सी !    दुबला पतला रहना पसंद !    हिंदी फीचर फिल्म : फर्ज़ !    

विचार › ›

खास खबर
बड़ी छतरी तले दीर्घकालीन सुरक्षा

बड़ी छतरी तले दीर्घकालीन सुरक्षा

आलोक पुराणिक निवेश का माहौल इन दिनों तरह-तरह की अनिश्चितताओं से भरा हुआ है। किसी न किसी वजह से शेयर बाजारों में विकट उथलपुथल है। चीन-अमेरिका का व्यापार युद्ध नये आयाम ले रहा है। ग्लोबल बाजार में तरह-तरह के नकारात्मक समाचार तैर रहे हैं। चीन मंदी की ओर है। भारत में ...

Read More

नेतृत्व की विकल्पहीनता से जूझती कांग्रेस

नेतृत्व की विकल्पहीनता से जूझती कांग्रेस

शायद यह कांग्रेस के इतिहास में पहली बार हुआ होगा कि कांग्रेस कार्यकारिणी समिति की बैठक सवेरे से आधी रात के बाद तक चलती रही हो और परिणाम के नाम पर ढाक के तीन पात वाली बात ही सिद्ध हो। राहुल गांधी का पार्टी के अध्यक्ष पद से हटने के ...

Read More

सुनहरे सफ़र की गगनभेदी सफलताएं

सुनहरे सफ़र की गगनभेदी सफलताएं

इसरो के 50 साल शशांक द्विवेदी इस बार का स्वतंत्रता दिवस कई मायनों में खास है क्योंकि इसरो इस बार अपनी स्थापना के 50 साल पूरे कर रहा है। 15 अगस्त 1969 को ही भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की स्थापना हुई थी। इन 50 सालों में इसरो ने कई उतार-चढ़ाव ...

Read More

समग्र विकास में बाधक विषमता की खाई

समग्र विकास में बाधक विषमता की खाई

दरअसल राजकुमार सिंह आज भारत 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। पराधीनता से स्वाधीनता हासिल करने का दिन हर्षोल्लास से मनाया ही जाना चाहिए। बेशक आजादी का वास्तविक अर्थ और महत्व वही समझ सकता है, जिसने गुलामी का दंश झेला हो। आजाद भारत का सफर भी कम शानदार नहीं रहा है। आखिर ...

Read More

आजादी की जिम्मेदारी

आजादी की जिम्मेदारी

जवाबदेही से ही समृद्ध लोकतांत्रिक विरासत ‘स्वतंत्रता’ शब्द मात्र शाब्दिक बोध मात्र नहीं है, इस शब्द के गहरे निहितार्थ हैं। संघर्ष, बलिदान व त्याग की सदियों से चली अकथ कहानियों का मर्म निहित है स्वतंत्रता दिवस में। तमाम ज्ञात व अज्ञात स्वतंत्रता सेनानियों ने इस दिन के लिये जो यातनाएं सही, ...

Read More

समस्या का स्थायी समाधान तलाशें

समस्या का स्थायी समाधान तलाशें

रोहित कौशिक इस समय देश के अनेक हिस्से बाढ़ से जूझ रहे हैं। महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक और गुजरात में स्थिति भयावह है। मध्य प्रदेश, उत्तराखंड, बिहार और असम में भी बाढ़ ने कहर बरपाया है। विभिन्न सूत्रों से बाढ़ प्रभावित लोगों के भिन्न-भिन्न आंकड़े आ रहे हैं। हालांकि बाढ़ से प्रभावित ...

Read More

युद्ध की आर्थिकी नहीं झेल पाएगा पाक

युद्ध की आर्थिकी नहीं झेल पाएगा पाक

हाल ही में 11 अगस्त को पाकिस्तान ब्यूरो ऑफ स्टैटिस्टिक्स द्वारा जारी महंगाई के आंकड़ों के अनुसार पाकिस्तान में महंगाई छलांगें लगाकर बढ़ रही है। जुलाई 2019 में पाकिस्तान में महंगाई दर 10.34 फीसदी रही जो कि पिछले साल जुलाई 2018 में 5.86 फीसदी थी। पुलवामा आतंकी हमले के बाद ...

Read More


  • नेतृत्व की विकल्पहीनता से जूझती कांग्रेस
     Posted On August - 17 - 2019
    शायद यह कांग्रेस के इतिहास में पहली बार हुआ होगा कि कांग्रेस कार्यकारिणी समिति की बैठक सवेरे से आधी रात....
  •  Posted On August - 17 - 2019
    12 अगस्त के दैनिक ट्रिब्यून में ‘कामकाजी संस्कृति में जगह तलाशती औरत’ लेख में सुरेश सेठ ने यह बताने की....
  • बड़ी छतरी तले दीर्घकालीन सुरक्षा
     Posted On August - 17 - 2019
    निवेश का माहौल इन दिनों तरह-तरह की अनिश्चितताओं से भरा हुआ है। किसी न किसी वजह से शेयर बाजारों में....
  •  Posted On August - 17 - 2019
    लगता है जी कि देश की खुशी को किसी की नजर लग गयी है। कुछ लोगों को लगता है कि....

आपकी राय

Posted On August - 2 - 2019 Comments Off on आपकी राय
31 जुलाई के दैनिक ट्रिब्यून में राजकुमार सिंह के लेख ‘राहुल के बाद कांग्रेस में राग प्रियंका’ में कांग्रेस पार्टी की दुर्दशा का अंदाजा लगाया जा सकता है। कांग्रेस की वर्तमान स्थिति के लिए नेहरू गांधी परिवार का समर्थन करने वाले वे दरबारी लोग हैं, जिन्होंने इस परिवार को छोड़कर किसी बाहरी व्यक्ति को कांग्रेस का नेतृत्व संभालने की बात को आगे नहीं बढ़ने दिया। ....

एकदा

Posted On August - 2 - 2019 Comments Off on एकदा
वाकपटुता का रिश्ता राजा भोज के राज्य में एक गरीब विद्वान रहता था। आर्थिक तंगी से घबराकर एक दिन उसकी पत्नी ने उससे कहा-राजा भोज विद्वानों का बड़ा आदर करते हैं। हो सकता है आपकी विद्वता से प्रभावित होकर वह आपको ढेर सारा धन दे दें। विद्वान राजा के दरबार में पहुंचा। दरबान ने पूछा-आप कौन हैं? विद्वान ने कहा-जाओ राजा से कहो कि उनका भाई आया है। दरबान ने जब भोज को यह बात बताई तो वह सोचने लगे-मेरा 

देर है, अंधेर नहीं

Posted On August - 2 - 2019 Comments Off on देर है, अंधेर नहीं
सत्तारूढ़ दल के ताकतवर विधायक के खिलाफ दुराचार के आरोप लगाकर न्याय की गुहार लगाने वाली युवती पर टूटे मुसीबतों के पहाड़ के बाद भी पुलिस-प्रशासन निरपेक्ष नजर आये तो उस परिवार की मर्मांतक बेबसी महसूस की जा सकती है। जिसे देश के सर्वोच्च न्यायालय ने महसूस किया और सत्ताधीशों को अहसास कराया कि पीड़ितों को न्याय कैसे दिलाया जा सकता है। ....

बाढ़ में इनसान, आंखों में डूबे नेता

Posted On August - 2 - 2019 Comments Off on बाढ़ में इनसान, आंखों में डूबे नेता
कल तक जब बारिश नहीं हो रही थी तो बादलों को जिम्मेदार ठहराया जा रहा था। अब जब लगातार बारिश हो रही है तब भी बादलों को ही कसूरवार करार दिया गया है। बादलों की ताजा स्थिति ब्याह कर लाई नई दुल्हन -सी हो गई है। चाय में चीनी कम डालने पर सास आंख दिखाती है और अधिक डाल देने पर भी गुस्सा हो जाती ....

संघर्षों की तपिश से दमकी गोल्डन गर्ल

Posted On August - 2 - 2019 Comments Off on संघर्षों की तपिश से दमकी गोल्डन गर्ल
हिमा दास द्वारा सोने के तमगे जीतने की खबर उस समय आई जब क्रिकेट प्रेमियों का देश भारतीय टीम के विश्व कप सेमीफाइनल से बाहर होने से आहत था। हिमा ने एक के बाद एक स्वर्ण पदक जीतने शुरू किये। ....

व्यापार असंतुलन कम करने की चुनौती

Posted On August - 2 - 2019 Comments Off on व्यापार असंतुलन कम करने की चुनौती
हाल ही में भारत में चीन के नए राजदूत सन वेइडोंग ने कहा है कि अमेरिका के साथ चीन के बढ़ते ट्रेड वॉर के बीच चीन विदेश व्यापार के लिए भारत की जरूरत अनुभव कर रहा है। सन वेइडोंग ने कहा कि चीन व्यापारिक असंतुलन को लेकर भारत की चिंताओं को समझता है और भारत-चीन व्यापार असंतुलन कम करने के लिए चीन द्वारा ध्यान दिया ....

आपकी राय

Posted On August - 1 - 2019 Comments Off on आपकी राय
31 जुलाई के दैनिक ट्रिब्यून में राजकुमार सिंह के लेख ‘राहुल के बाद कांग्रेस में राग पि्रयंका’ में मूल बात यह निकल कर आयी है कि राहुल के बार-बार कहने पर भी पार्टी वंशवादी भंवर से बाहर निकलने का नाम नहीं ले रही। सच्चाई यह है कि भीतर ही भीतर सारे के सारे बुजुर्ग मुखिया बनने को छटपटा रहे हैं परन्तु अपना नाम लेने का ....

एकदा

Posted On August - 1 - 2019 Comments Off on एकदा
एक फ्रांसीसी सिपाही लेफायेटे अमेरिकी क्रांति के बाद जब अपने गांव वापस पहुंचा तो वहां की हालत देख परेशान हो गया। उन दिनों अकाल जैसी स्थिति में बच्चे व बूढ़े भूख से तड़प रहे थे। समझ में नहीं आ रहा था कि इस आकस्मिक आपदा से कैसे निपटा जाए? लेफायेटे जब अपने घर में दाखिल हुआ तो यह देखकर हैरान रह गया कि उसके गोदाम ....

अब की बारी श्रवण कुमारियां न्यारी

Posted On August - 1 - 2019 Comments Off on अब की बारी श्रवण कुमारियां न्यारी
कांवड़ में अपने माता-पिता को बिठाकर धार्मिक यात्रायें करवाने वाला श्रवण कुमार भारतीय समाज का एक अनुकरणीय पात्र है। श्रवण कुमार को मातृ-पितृ भक्ति का पर्याय माना जाता है। पर कलियुग में कुछ ऐसे श्रवण कुमार भी हैं, जिनकी अन्तरात्माएं कभी की मर चुकी हैं। ये सम्पत्ति के लिये अपने जननी-जनक को वृद्धाश्रम में छोड़ने से लेकर मौत के घाट तक भी ले जा सकते ....

सैन्य शिक्षा से संभव अनुशासित पीढ़ी

Posted On August - 1 - 2019 Comments Off on सैन्य शिक्षा से संभव अनुशासित पीढ़ी
पिछले कुछ अरसे से संन्यास की खबरों के बीच क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी के बारे में नई सूचना यह है कि टीम इंडिया का यह पूर्व कप्तान सेना में ऑनरेरी लेफ्टिनेंट कर्नल 31 जुलाई से 15 अगस्त तक कश्मीर में रहेगा। धोनी इस दौरान वहां पेट्रोलिंग, गार्ड और पोस्ट की ड्यूटी करेंगे। इस अवधि में उन्हें फौज के कामकाज के बारे में सिखाया-बताया जाएगा और ....

सत्ता का खेल बनती सिद्धांतहीन राजनीति

Posted On August - 1 - 2019 Comments Off on सत्ता का खेल बनती सिद्धांतहीन राजनीति
किस्सा पुराना है। वर्ष 1967 का। यानी आज से बावन वर्ष पहले का। नया-नया हरियाणा राज्य बना था। वहीं के एक निर्दलीय विधायक गयालाल ने एक दिन में ही नहीं, सिर्फ नौ घंटों में तीन बार अलग-अलग दलों की सदस्यता ग्रहण की और छोड़ी! गया लाल पहले कांग्रेस के साथ हुए। फिर कांग्रेस से यूनाइटेड फ्रंट में गये। पाला बदलने के उनके इस खेल में ....

तीन तलाक से आजादी

Posted On August - 1 - 2019 Comments Off on तीन तलाक से आजादी
निश्चय ही मंगलवार को राज्यसभा में मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण विधेयक-2019 का पारित होना, भारतीय समाज में एक बड़ा बदलावकारी कदम कहा जा सकता है। मोदी सरकार अपने पहले कार्यकाल से ही मुस्लिम महिलाओं को तलाक-ए-बिद्दत यानी तीन तलाक से मुक्ति दिलाने की कोशिश में लगी थी मगर राज्यसभा में पूर्ण बहुमत न होने की वजह से यह सभंव नहीं हो सका। ....

एकदा

Posted On July - 31 - 2019 Comments Off on एकदा
वैद्यराज जीवक प्रख्यात आयुर्वेदाचार्य थे। वनस्पति को देखते ही उसके गुण-दोष बता देते थे। शिक्षा पूर्ण होने पर गुरुदेव ने इनसे कहा-पुत्र, मैंने अपना आयुर्वेद संबंधी सारा ज्ञान और अनुभव तुम्हें सौंप दिया है। फिर भी मेरी इच्छा है कि मैं तुम्हारी एक अंतिम परीक्षा लूं। ....

आपकी राय

Posted On July - 31 - 2019 Comments Off on आपकी राय
आज कुछ लोगों पर आधुनिकता और फैशन का भूत इस कदर चढ़ गया है कि वे बाजार से सामान लाने के लिए कपड़े के थैले का प्रयोग करना अपनी शान के खिलाफ समझते हैं। पॉलिथीन का दिन-प्रतिदिन बढ़ता प्रयोग लोगों की सेहत पर भारी पड़ ही रहा है। ....

तिरछी नज़र

Posted On July - 31 - 2019 Comments Off on तिरछी नज़र
साढ़े नौ बजे से कार्यालय समय शुरू होता है, लेकिन वो सरकारी कर्मचारी ही क्या, जो सही समय पर ऑफिस पहुंच जाए? सरकारी कर्मचारी होने का अपना ठसका होता है, और जो कहीं सही समय पर पहुंच जाए, उसका ठसका भी भला कोई ठसका होता है। ....

आदर्श नियोक्ता की कसौटी पर विफलता

Posted On July - 31 - 2019 Comments Off on आदर्श नियोक्ता की कसौटी पर विफलता
हाल ही में हरियाणा में एक होमगार्ड से रिश्वत लेने के जुर्म में एक अधिकारी को गिरफ्तार किया गया। इसमें क्या खास बात है? रोज़ ही कोई न कोई रिश्वत लेने के अपराध में गिरफ्तार होता है। इस गिरफ्तारी को खास बनाता है रिश्वत मांगने का कारण। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.