किताबों से दोस्ती !    'किसी कमज़ोर पर कभी मत हंसना' !    बुज़ुर्गों के अधिकार !    ओ रे... कन्हैया !    गुस्से से मिली सीख !    लज़्जत से भरपूर देसी ज़ायका !    नयी खोजों का दौर जारी !    सार्वजनिक स्थल पर शिष्टाचार !    व्रत-पर्व !    बच्चों को सिखायें डे टू डे मैनर्स !    

विचार › ›

खास खबर
व्यंग्य के जरिये सुधार

व्यंग्य के जरिये सुधार

अरुण नैथानी नि:संदेह शैक्षिक जगत भी तमाम विसंगतियों से दो-चार है। इन विसंगतियों पर व्यंग्य की धारा से सुधार की  आकांक्षा शिक्षाविद् व साहित्यकार मधुकांत की रही है। उनकी रचनाओं को पांच भागों में बांटकर दीपक कुमार ने लघु शोध प्रबंध तैयार किया है। उपसंहार के रूप में उनकी व्यंग्य शैली का ...

Read More

सुभाष रस्तोगी विनोद खन्ना ने अपनी साहित्यिक यात्रा भले ही देर से शुरू की हो, लेकिन अपनी रचनाधर्मिता के बूते वे इधर के साहित्यिक परिदृश्य में अलग से जाने जाते हैं। उनके तीसरे सद्य: प्रकाशित कविता-संग्रह ‘उड़ान बाकी है’ में उनकी कुल 61 छंदोबद्ध कविताएं एवं 58 रुबाइयां संगृहीत हैं, जो ...

Read More

रोमांचक जीवन की तरह रोचक जीवनी

रोमांचक जीवन की तरह रोचक जीवनी

चंद्र त्रिखा पिछली सदी ने इस विश्व को कुछ अनूठे महामानव दिए। इन महामानवों ने पिछली पूरी सदी को वैचारिक रूप में जमकर झिंझोड़ा और कुछ भूखण्डों में उनकी वैचारिकता पर आधारित नए जीवन मूल्य भी स्थापित हुए। पुरानी मान्यताओं के खिलाफ चुनौतियां भी दर्ज हुईं। इनमें लेनिन, गांधी, मार्टिन लूथर ...

Read More

फैसला

फैसला

सुधीर केवलिया सुबह से चल रही तेज़ आंधी के कारण शहर में दिन के समय ही अंधेरा छा गया था। अचानक दोपहर को हुई मूसलाधार बारिश और बाद में तेज बौछारों से लोगों को गर्मी से राहत जरूर मिल रही थीं। बारिश के साथ आसमान में कड़कती बिजली की आवाज़ नेहा ...

Read More

बड़ी छतरी तले दीर्घकालीन सुरक्षा

बड़ी छतरी तले दीर्घकालीन सुरक्षा

आलोक पुराणिक निवेश का माहौल इन दिनों तरह-तरह की अनिश्चितताओं से भरा हुआ है। किसी न किसी वजह से शेयर बाजारों में विकट उथलपुथल है। चीन-अमेरिका का व्यापार युद्ध नये आयाम ले रहा है। ग्लोबल बाजार में तरह-तरह के नकारात्मक समाचार तैर रहे हैं। चीन मंदी की ओर है। भारत में ...

Read More

नेतृत्व की विकल्पहीनता से जूझती कांग्रेस

नेतृत्व की विकल्पहीनता से जूझती कांग्रेस

शायद यह कांग्रेस के इतिहास में पहली बार हुआ होगा कि कांग्रेस कार्यकारिणी समिति की बैठक सवेरे से आधी रात के बाद तक चलती रही हो और परिणाम के नाम पर ढाक के तीन पात वाली बात ही सिद्ध हो। राहुल गांधी का पार्टी के अध्यक्ष पद से हटने के ...

Read More

सुनहरे सफ़र की गगनभेदी सफलताएं

सुनहरे सफ़र की गगनभेदी सफलताएं

इसरो के 50 साल शशांक द्विवेदी इस बार का स्वतंत्रता दिवस कई मायनों में खास है क्योंकि इसरो इस बार अपनी स्थापना के 50 साल पूरे कर रहा है। 15 अगस्त 1969 को ही भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) की स्थापना हुई थी। इन 50 सालों में इसरो ने कई उतार-चढ़ाव ...

Read More


  • फैसला
     Posted On August - 18 - 2019
    सुबह से चल रही तेज़ आंधी के कारण शहर में दिन के समय ही अंधेरा छा गया था। अचानक दोपहर....
  • रोमांचक जीवन की तरह रोचक जीवनी
     Posted On August - 18 - 2019
    पिछली सदी ने इस विश्व को कुछ अनूठे महामानव दिए। इन महामानवों ने पिछली पूरी सदी को वैचारिक रूप में....
  •  Posted On August - 18 - 2019
    विनोद खन्ना ने अपनी साहित्यिक यात्रा भले ही देर से शुरू की हो, लेकिन अपनी रचनाधर्मिता के बूते वे इधर....
  • व्यंग्य के जरिये सुधार
     Posted On August - 18 - 2019
    नि:संदेह शैक्षिक जगत भी तमाम विसंगतियों से दो-चार है। इन विसंगतियों पर व्यंग्य की धारा से सुधार की  आकांक्षा शिक्षाविद्....

पाकिस्तान की बौखलाहट

Posted On August - 9 - 2019 Comments Off on पाकिस्तान की बौखलाहट
भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने और दो केंद्र शासित प्रदेश बनाये जाने से पाकिस्तान को काठ मार गया लगता है। दरअसल, घटनाक्रम इतना गोपनीय रहा कि उसकी खुफिया एजेंसियों तक को भनक नहीं लगी। दशकों से जनता को कश्मीर मुद्दे पर उद्वेलित करने के कारण पाक हुक्मरानों व सेना पर लोगों का भारी दबाव है। ....

आपकी राय

Posted On August - 8 - 2019 Comments Off on आपकी राय
5 अगस्त के दैनिक ट्रिब्यून का संपादकीय ‘अर्थव्यवस्था की फिसलन’ भारतीय अर्थव्यवस्था को मंदी द्वारा घेरे जाने का संकेत देने वाला था। विश्व बैंक द्वारा अपने मूल्यांकन में भारतीय अर्थव्यवस्था को छठे के बदले सातवें स्थान पर आने की बात को सरकार को गंभीरता से लेना चाहिए। भारतीय अर्थव्यवस्था में एनपीए के कारण बैंकों की स्थिति अच्छी नहीं है। विदेशी निवेश में भी कमी आई ....

एकदा

Posted On August - 8 - 2019 Comments Off on एकदा
एक अस्पताल के कमरे में दो बुजुर्ग भर्ती थे। एक उठकर बैठ सकता था परंतु दूसरा उठ नहीं सकता था। जो उठ सकता था, उसके पास एक खिड़की थी। वह दूसरे बुजुर्ग जो उठ नहीं सकता, को बाहर के दृश्य का वर्णन करता। दूसरा बुजुर्ग आंखें बन्द करके अपने बिस्तर पर पड़ा उन दृश्यों का आनन्द लेता रहता। ....

अब धारा नहीं बहेगी

Posted On August - 8 - 2019 Comments Off on अब धारा नहीं बहेगी
कुछ खबरें हैं जो हवा में तैर जाती हैं और पल भर में जन-जन तक पहुंचती हैं। जम्मू-कश्मीर में पिछले कुछ दिनों से जो तैयारी चल रही थी, वह जमीं से लेकर हवाओं तक में कई तरह के सवाल-संदेह और अटकलें पैदा कर रही थी। हर जुबान पर था कि कुछ होने जा रहा है। आखिर में इतना बड़ा हुआ जो कइयों का कद छोटा ....

अदालती फैसले अब जनता की भाषा में

Posted On August - 8 - 2019 Comments Off on अदालती फैसले अब जनता की भाषा में
सर्वोच्च न्यायालय ने जुलाई 2019 में एक ऐतिहासिक कार्य किया। सर्वोच्च न्यायालय की वेबसाइट पर अब निर्णय 9 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध हैं। 1950 से 2019 तक, अर्थात लगभग 70 वर्षों तक, सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय केवल एक ही भाषा में जनता को उपलब्ध थे और वह भी अंग्रेजी में। इस ऐतिहासिक कदम ने सर्वोच्च न्यायालय द्वारा दिए गए सभी निर्णयों को आम जनता तक ....

अफगानिस्तान से पलायन की तैयारी में अमेरिका

Posted On August - 8 - 2019 Comments Off on अफगानिस्तान से पलायन की तैयारी में अमेरिका
अब इस बात के सुबूत साफ दिखाई दे रहे हैं कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने उस दस्तावेज पर दस्तखत करने का मन बना लिया है, जिसे एक तरह से आत्मसमर्पण-प्रपत्र कहा जा सकता है। इस समझौते से वह यह सुनिश्चित करना चाहते हैं कि अगले साल 3 नवंबर 2020 को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले अफगानिस्तान में तैनात सभी अमेरिकी सैंनिकों की वापसी हो ....

सुषमा स्वराज का जाना

Posted On August - 8 - 2019 Comments Off on सुषमा स्वराज का जाना
भाजपा की वरिष्ठ नेत्री सुषमा स्वराज का पार्थिव शरीर बुधवार को पंचतत्व में विलीन हो गया। लंबे समय से डायबिटीज और फिर किडनी की बीमारी से जूझ रही 67 वर्षीय सुषमा को मंगलवार की देर शाम दिल का दौरा पड़ने पर दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया था। ....

एकदा

Posted On August - 7 - 2019 Comments Off on एकदा
छोटी चूक, बड़ी आफत डेनमार्क में फार्म हाउस का मालिक फ्रांसिस एक बार अपना सामान बेचकर वापिस अपने गांव लौट रहा था। अपने घोड़े की चाल के ढंग से उसे लगा कि शायद घोड़े की नालों में से कोई एक नाल ढीली है। घर पहुंचने की उतावली और कुछ लापरवाही में उसने सोचा कि इतनी नालों में से एक नाल की कील अगर निकल भी गई तो क्या फर्क पड़ेगा। यही सोचते हुए उसने घोड़े की लगाम खींचते हुए घोड़ा दौड़ा दिया। लेकिन एक 

आपकी राय

Posted On August - 7 - 2019 Comments Off on आपकी राय
दागदारों से मुक्त राजनीति 6 अगस्त के दैनिक ट्रिब्यून में राजकुमार सिंह के ‘व्यवस्था को बेनकाब करता उन्नाव कांड’ लेख में महिला उत्पीड़न की ज्वलन्त समस्या पर मानवीय दृष्टिकोण से विचार किया गया है। ‘निर्भया-कांड’ के बाद लगा था कि इस मानसिक-विकृति में कमी आ जायेगी परन्तु ऐसा नहीं हुआ। एक राजनेता यह दबंगई दिखाए, यह शर्मनाक है। कानून के लम्बे हाथों ने गर्दन दबोच ही ली, यह सुखद है। 

बदली पहचान के शब्द का जलवा

Posted On August - 7 - 2019 Comments Off on बदली पहचान के शब्द का जलवा
पूरे देश में इस समय शायद मैं सबसे ज्यादा खुशी का अनुभव कर रहा हूंजब से मैंने पढ़ा है कि चड्डी शब्द को ऑक्सफ़ोर्ड ने अपनी डिक्शनरी में शामिल कर लिया है। मेरी खुशी का पारावार नहीं है। ....

निचली अदालतों में तेज हो नियुक्ति प्रक्रिया

Posted On August - 7 - 2019 Comments Off on निचली अदालतों में तेज हो नियुक्ति प्रक्रिया
केन्द्र सरकार ने हाल ही में उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीशों के स्वीकृत पदों की संख्या बढ़ाने का निर्णय लिया क्योंकि वहां काम का दबाव अधिक है। ....

बहुमत का करिश्मा

Posted On August - 7 - 2019 Comments Off on बहुमत का करिश्मा
लंबे समय से कहा जा रहा था कि भाजपा नवंबर 2020 तक उच्च सदन राज्यसभा में अपने बूते बहुमत जुटा लेगी। मगर हाल ही में राजग सरकार ने कई ऐसे विधेयक राज्यसभा से सफलतापूर्वक पारित करवा लिये, जिनके पारित होने की दूर-दूर तक संभावना नजर नहीं आ रही थी। ....

प्रगतिशील सोच में ही महिलाओं की इज्जत

Posted On August - 7 - 2019 Comments Off on प्रगतिशील सोच में ही महिलाओं की इज्जत
पंजाब के तरनतारन में 29 जुलाई को तिहरा हत्याकांड हुआ। ये हत्याएं एक लड़का-लड़की के अंतरजातीय विवाह करने के प्रतिकर्म के रूप में की गईं। हालांकि दोनों ही परिवार उस सिख संप्रदाय के अनुयायी हैं, जिसमें जाति-पाति के बीच भेद न करने की बात कही जाती है। पिछले तीन सालों में देशभर में ‘इज्जत के नाम’ पर लगभग 300 हत्याएं हुई हैं। ....

एकदा

Posted On August - 6 - 2019 Comments Off on एकदा
एक ग्राहक तस्वीरों की दुकान पर गया। उसने बड़े ध्यान से वहां लगे चित्रों को देखा। उनमें से दो चित्र बड़े अजीब लगे। पहले चित्र में एक चेहरा पूरी तरह बालों से ढका हुआ था और पैरों में पंख थे। दूसरे चित्र में सिर पीछे से गंजा था। ग्राहक ने उत्सुकता में आकर दुकानदार से पूछ लिया कि ये चित्र किनके हैं? दुकानदार ने जवाब ....

आपकी राय

Posted On August - 6 - 2019 Comments Off on आपकी राय
उन्नाव दुष्कर्म घटनाक्रम शर्मनाक है। आरोपी विधायक को पार्टी से निष्कासित किया जा चुका है। ऐसे में देश के सर्वोच्च न्यायालय ने लोगों के बीच एक उम्मीद की किरण बनकर न्याय कि आस जगाई है। सुप्रीम कोर्ट ने सत्तारूढ़ दल को आईना दिखाते हुए निचली अदालत की सुनवाई 45 दिन में पूरे करने के आदेश देकर लोगों के अंदर न्याय की उम्मीद बनाए रखी है। ....

कारोबारी चीनी, पाक की सीनाजोरी

Posted On August - 6 - 2019 Comments Off on कारोबारी चीनी, पाक की सीनाजोरी
दस स्मार्टफोन में से आठ स्मार्टफोन चाइनीज हैं भारत में। चीन के ग्राहक हैं भारतीय। ग्राहक भगवान नहीं होता तो भगवान से कम भी नहीं होता, रोजी-रोटी का आसरा होता है। चीन डोकलाम में एक लिमिट के बाद आगे न आया। जिसे माल बेचना हो, उसके यहां सैनिक घुसपैठ नहीं कर सकते। कारोबारी घुसपैठ चीन कर चुका है। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.