तेल का खेल !    घर जाने के लिए सड़कों पर उतरे डेढ़ लाख प्रवासी श्रमिक !    हरियाणा में विदेश से लौटे 11 हजार लोगों में से 200 ‘गायब’ !    2 मौत, 194 नये मामले !    रेल कोच को बनाया आइसोलेशन वार्ड !    लॉकडाउन पर भारी पलायन !    कोरोना से लड़ने को टाटा ने खोला खजाना, 1500 करोड़ दिया दान !    मौजूदा ब्रेक भारतीय खिलाड़ियों के लिये अच्छा विश्राम : शास्त्री !    कृषि को लॉकडाउन से दी छूट : केंद्र !    चीन ने पाकिस्तान भेजी चिकित्सा सहायता और राहत सामग्री !    

विचार › ›

खास खबर
पंजाब के ग्राम्य-जीवन का शब्दचित्र

पंजाब के ग्राम्य-जीवन का शब्दचित्र

पुस्तक समीक्षा मोहन मैत्रेय चर्चित अवतार सिंह बिलिंग रचित उपन्यास ‘खाली कुओं की कथा’ के संबंध में कथन है कि इस कृति में पंजाब के सामाजिक, आर्थिक, सांस्कृतिक उन परिवर्तनों की प्रस्तुति है जो क्षेत्र ने देखे-झेले हैं। वास्तव में यह रचना क्षेत्र के ग्रामीण जीवन का शब्द-चित्रण है। रचना के शीर्षक का ...

Read More

विविध आयामों की कविता

विविध आयामों की कविता

पुस्तक समीक्षा शशि सिंघल कवयित्री निधि ख़ाली ध्यानी मृगतृष्णा की काव्य कृति ‘रातें सूरज सी’ जीवन के विविध आयामों को दर्शाती हल्की-फुल्की कविताओं का जखीरा है। इस काव्य कृति की लगभग बयासी कविताएं ताजा हवा के झोंकों की तरह जीवन के हर मोड़ में झांकती नजर आती हैं। इनमें प्रेम है, रिश्ता ...

Read More

कामकाजी महिलाओं की जिजीविषा

कामकाजी महिलाओं की जिजीविषा

पुस्तक समीक्षा सुशील कुमार फुल्ल विद्वानों ने उपन्यास को जीवन की व्याख्या माना है। समाज की समस्याओं एवं विसंगतियों को आधार बनाकर पात्रों के माध्यम से कथावस्तु को बुनते हुए उसे किसी निष्कर्ष तक ले जाना उपन्यास की सफलता का पैमाना होता है। ‘नारी कभी न हारी’ वीना चौहान विरचित ऐसा ही ...

Read More

मूर्तिकला के एक युग का बोध

मूर्तिकला के एक युग का बोध

पुस्तक समीक्षा राजवंती मान मनुष्य प्रारम्भ से ही अपने ज्ञान-दर्शन और मान्यताओं को संरक्षित और संवाहित करने की चेष्टा करता रहा है। सभ्यता के विकास के साथ ही उसने मूर्तिकला और चित्रकला जैसी कठिन कलाएं विकसित की। सिन्धु सभ्यता के कला-नमूनों से पाटलिपुत्र की यक्षिणी तक, सांची से अजंता-एलोरा की गुफाओं ...

Read More

दलित विमर्श के अग्रदूत

दलित विमर्श के अग्रदूत

पुस्तक समीक्षा रमेश नैयर राष्ट्रीय राजनीति में दलित समाज के महत्व को रेखांकित करने में डॉ. भीमराव अंबेडकर के बाद कांशीराम का विशेष महत्व है। पंजाब के ग्रामीण क्षेत्र में राजनीति की वर्णमाला सीखने वाले कांशीराम ने राष्ट्रीय स्तर पर दलित वर्ग के जुझारू नेता के रूप में अपनी पहचान बनाई। उनको ...

Read More

विरासत से जुड़ने की अनूठी मुहिम

विरासत से जुड़ने की अनूठी मुहिम

हरियाणा सृजन यात्रा अरुण कुमार कैहरबा घुमक्कड़ी एक बेहतरीन शौक है। अनेक प्रकार की यात्राओं के जरिये यात्रियों ने समाज निर्माण व तथ्यों की खोज में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। साहित्य में यात्रा साहित्य की एक पूरी धारा है। हिन्दी साहित्य में राहुल सांकृत्यायन ने ‘घुमक्कड़ शास्त्र’ रच कर घुमक्कड़ी को प्रतिष्ठित ...

Read More

शैलेंद्र के गीतों में ज़िंदगी के फलसफे का यथार्थ

शैलेंद्र के गीतों में ज़िंदगी के फलसफे का यथार्थ

आलोक यात्री 21वीं सदी के दो दशक बीत जाने के बाद तमाम सुख-सुविधाओं से संपन्न इस दुनिया में ‘हाउस अरेस्ट’ की अवस्था में पहुंच चुके आम व्यक्ति के पास करने के लिए खास कुछ नहीं है। टीवी रिमोट और मोबाइल फोन के बटन या की-पैड भी इस एकाकीपन, ऊब, निरसता और ...

Read More


  • विरासत से जुड़ने की अनूठी मुहिम
     Posted On March - 29 - 2020
    घुमक्कड़ी एक बेहतरीन शौक है। अनेक प्रकार की यात्राओं के जरिये यात्रियों ने समाज निर्माण व तथ्यों की खोज में....
  • दलित विमर्श के अग्रदूत
     Posted On March - 29 - 2020
    राष्ट्रीय राजनीति में दलित समाज के महत्व को रेखांकित करने में डॉ. भीमराव अंबेडकर के बाद कांशीराम का विशेष महत्व....
  • मूर्तिकला के एक युग का बोध
     Posted On March - 29 - 2020
    मनुष्य प्रारम्भ से ही अपने ज्ञान-दर्शन और मान्यताओं को संरक्षित और संवाहित करने की चेष्टा करता रहा है। सभ्यता के....
  • कामकाजी महिलाओं की जिजीविषा
     Posted On March - 29 - 2020
    विद्वानों ने उपन्यास को जीवन की व्याख्या माना है। समाज की समस्याओं एवं विसंगतियों को आधार बनाकर पात्रों के माध्यम....

आपकी राय

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on आपकी राय
प्रधानमंत्री ने देश की जनता से कोरोना वायरस से निपटने के लिए 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है। केंद्र और राज्य सरकारों ने भी लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कुछेक व्यापारिक संस्थान भी बंद करने के आदेश दिए हैं। लेकिन सरकारों के ऐसे फरमानों से लोगों में घबराहट पैदा हो गयी है। वे खाद्य पदार्थों की जमाखोरी करने ....

महत्वाकांक्षी तिकड़मों का बंधक लोकतंत्र

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on महत्वाकांक्षी तिकड़मों का बंधक लोकतंत्र
लगता है, लोकतंत्र की प्रचलित परिभाषा को बदलने का समय आ गया है। लोकतंत्र की प्रचलित परिभाषा है : जनता द्वारा, जनता के लिए, जनता का शासन, लेकिन इधर देखने में आ रहा है कि यह राजनेताओं के द्वारा, राजनेताओं के लिए, राजनेताओं का शासन बनकर रह गया है। बेशक अब भी चुनाव में मतदाता ही भावी सरकार की बाबत जनादेश देते हैं, लेकिन राजनेताओं ....

बनें राष्ट्र रक्षक

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on बनें राष्ट्र रक्षक
बृहस्पतिवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री ने साफ संकेत दिया है कि कोरोना की महामारी से लड़ाई सिर्फ सरकार के भरोसे नहीं जीती जा सकती, हर नागरिक को राष्ट्र रक्षक की भूमिका निभानी है। ‘जनता कर्फ्यू’ की नई इबारत रच कर उन्होंने जनता की जिम्मेदारी की तरफ इशारा किया है कि धैर्य-संयम से हम एक दिन घर में रहें। ....

आपकी राय

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on आपकी राय
19 मार्च के दैनिक ट्रिब्यून में जी. पार्थसारथी का ‘अफगान शांति समझौते से उपजी चुनौतियां’ लेख अफगानिस्तान को लेकर हुए अमेरिका तथा तालिबान के बीच समझौते का विश्लेषण करने वाला था। यह समझौता अमेरिकी राष्ट्रपति ने आगामी चुनावों को ध्यान में रखते हुए किया है। ....

एकदा

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on एकदा
एक मंदिर में स्थापित पत्थर की प्रतिमा पर चढ़ाए गए पुष्प ने क्रोधित होकर पुजारी से कहा, ‘तुम प्रतिदिन इस प्रतिमा पर मुझे चढ़ाकर इसकी पूजा करते हो। यह मुझे कतई पसंद नहीं है। पूजा मेरी होनी चाहिए क्योंकि मैं कोमल, सुंदर, सुवासित हूं। यह तो मात्र पत्थर की मूर्ति है।’ ....

वायरस से भी घातक इंसान

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on वायरस से भी घातक इंसान
हैलो कोरोना, अब तो तुम आ ही चुके हो, सुना है, इटली के रास्ते आए। अपने सैनिकों की तरह सीमा से नहीं घुसे। तुम्हारे आने का खास मकसद क्या है! यदि अफवाह, दहशत फैलाने के इरादे से आए हो, तो वह पहले ही फैली हुई है। वैसे भी हम पर बाहर से आए वायरसों का कुछ खास असर होता नहीं है, सिवाय जेब के। तुम ....

अमित के गोल्डन पंच के इंतजार में देश

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on अमित के गोल्डन पंच के इंतजार में देश
आखिर परिवार की त्याग-तपस्या रंग लाई है, अभावों की तपिश ने अमित पंघाल के घूसों में इतनी ताकत भर दी कि वह टोक्यो ओलंपिक के लिये अपना टिकट बुक करा चुका है। जब ओलंपिक के लिये मुकाबला जीतने की खबर आई तो उसके गांव में होली से पहले ही रंगों की रंगत नजर आई। ....

आधुनिकता की खोखली नींव पर कोरोना की चोट

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on आधुनिकता की खोखली नींव पर कोरोना की चोट
मैं कोई डॉक्टर नहीं हूं लेकिन विश्वभर में हुए कोरोना वायरस के फैलाव के असर ने सोच में अलग आयाम पैदा किया है, समूची मानवता को दरपेश इस नई चुनौती के मद्देनजर मैं मेडिकल चिकित्सकों, स्वास्थ्य कर्मियों और सरकारी अधिकारियों द्वारा दी जा रही जानकारी के बनिस्बत सामाजिक एवं आध्यात्मिक पहलू पर मुखातिब होना चाहूंगा। ....

हिंसा की पाठशाला!

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on हिंसा की पाठशाला!
यह घटना विचलित करने वाली है कि स्कूल में हुए विवाद का बदला लेने के लिये छात्रों का एक गुट किसी छात्र के घर पर देर रात गोलियों से हमला बोल परिवार के एक सदस्य की हत्या करके अन्यों को घायल कर देे। पंजाब के बटाला स्थित कस्बे हरचोवल में छात्रों की रंजिश का खमियाजा एक परिवार को भुगतना पड़ा। ....

एकदा

Posted On March - 19 - 2020 Comments Off on एकदा
किसी समय एक धनवान श्रद्धालु ने जगद‍्गुरु शंकराचार्य से कहा, ‘महात्मन‍्, यदि कोई व्यक्ति समय की न्यूनता के कारण अपना समय अच्छे कार्यों में न लगा पाए तो उसे क्या करना चाहिए?’ शंकराचार्य ने कहा, ‘मेरा परिचय आज तक ऐसे किसी व्यक्ति से नहीं हुआ है, जिसको विधाता के बनाए समय से एक भी क्षण कम या अधिक मिला हो। ....

अब आई ऋतु हाथ धोने की

Posted On March - 19 - 2020 Comments Off on अब आई ऋतु हाथ धोने की
एक बीमारी हाथ धोकर पीछे पड़ गयी है और उसने पूरी दुनिया का बैंड बजा दिया है। इस कारण जिनकी जान हाथ से चली गयी, उनका आंकड़ा हर दिन बढ़ता जा रहा है। सबके हाथ-पांव फूल रहे हैं। यह करो ना या वो करो ना सुन-सुनकर कान पक रहे हैं। और डाॅक्टर कह रहे हैं कि इस बीमारी से बचने का एक ही उपाय है ....

महिलाओं की एक और बड़ी जीत

Posted On March - 19 - 2020 Comments Off on महिलाओं की एक और बड़ी जीत
थलसेना और वायुसेना के बाद नौसेना की महिला अधिकारियों को भी अब स्थायी कमीशन मिलेगा। सर्वोच्च न्यायालय ने अपने एक ऐतिहासिक फैसले में महिला अधिकारियों को नौसेना में स्थाई कमीशन देने पर अपनी मुहर लगा दी है। न्यायमूर्ति धनंजय वाई चंद्रचूड़ और अजय रस्तोगी की खंडपीठ ने नौसेना में पुरुष और महिला अधिकारियों के साथ समान व्यवहार किए जाने पर जोर देते हुए ....

आपकी राय

Posted On March - 19 - 2020 Comments Off on आपकी राय
चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा धूम्रपान से दिमागी दौरे, मस्तिष्क घात के रोग पनपने की बात वैधानिक चेतावनी के रूप में बताई जाती है। धूम्रपान करने वालों के शरीर में रोगों के लक्षण धूम्रपान न करने वाले स्वस्थ मनुष्य से ज्यादा पाए जाते हैं। धूम्रपान निषेध दिवस भी मनाया जाता है। परन्तु स्वास्थ्य की परवाह फैशन के युग में कौन करता है? विश्व भर में हर साल ....

अफगान शांति समझौते से उपजी चुनौतियां

Posted On March - 19 - 2020 Comments Off on अफगान शांति समझौते से उपजी चुनौतियां
उनतीस फरवरी को दोहा में अमेरिका के विशेष दूत जलमाई खालिज़ाद और तालिबान के संस्थापकों में एक मुल्ला अब्दुल गनी बरादर के बीच ‘अफगानिस्तान में शांति हेतु संधि’ नामक एक समझौते के जरिए अफगानिस्तान से अमेरिकी फौज की वापसी की इबारत तय की गई है। इस संधि को खूब जोर-शोर से प्रचारित किया गया था। ....

राज्यसभा में गोगोई

Posted On March - 19 - 2020 Comments Off on राज्यसभा में गोगोई
बहुचर्चित मामलों में फैसले देने वाले पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई के राज्यसभा के लिये मनोनीत होने पर विवाद उठना स्वाभाविक था। गोगोई बीते नवंबर माह में ही सेवानिवृत्त हुए थे। उनके इस पद के लिये हां कहने से न्यायपालिका की साख पर सवाल उठाने का मौका कांग्रेस समेत विपक्षी दलों को मिल गया है। ....

एकदा

Posted On March - 18 - 2020 Comments Off on एकदा
सन‍् 1919 में बैसाखी के दिन जलियांवाला बाग में जनरल डायर ने वहां मौजूद निर्दोष लोगों पर गोलियां चलाने का हुक्म जारी कर दिया। देखते-देखते सैकड़ों लोग मारे गए और हजारों घायल हो गए। ....
Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.