सरकार ने 38,900 करोड़ रुपये से लड़ाकू विमानों, मिसाइल सिस्टम की खरीद को दी मंजूरी !    मोदी ने पुतिन से की बात, द्विपक्षीय मुद्दों पर हुई चर्चा !    मुंबई हवाईअड्डा घोटाला : सीबीआई के मुंबई, हैदराबाद में जीवीके समूह के कार्यालयों में छापे !    इस वर्ष राज्यों को कलशों में भरकर भेजा जाएगा गंगाजल! !    आकाशीय बिजली गिरने से 5 की मौत, 12 झुलसे !    नीट, जेईई को लेकर स्थिति की समीक्षा करेगी कमेटी !    मोबाइल फोन से चीनी ऐप डिलीट करो, मुफ्त मास्क लो! !    हमने चीन पर किया ‘डिजिटल स्ट्राइक’ : रविशंकर प्रसाद !    कांवड़ यात्रा के लिए हरिद्वार पहुंचे तो 14 दिन के लिए खुद के खर्च पर होंगे क्वारंटीन‍! !    1948 में लगातार 5 पारियों में शतक का अनोखा रिकार्ड अब भी सर एवर्टन के नाम! !    

विचार › ›

खास खबर
दुश्मन पर अचूक निशाने वाला ब्रह्मास्त्र

दुश्मन पर अचूक निशाने वाला ब्रह्मास्त्र

एस-400 रक्षा प्रणाली योगेश कुमार गोयल द्वितीय विश्वयुद्ध में जर्मनी पर सोवियत संघ की जीत की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर सैन्य परेड में शामिल होने के लिए तीन दिवसीय दौरे पर मॉस्को गए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने रूसी उपप्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव से हुई द्विपक्षीय रक्षा संबंधों पर चर्चा के बाद उम्मीद ...

Read More

चीन का भारत विरोधी कारोबारी चक्रव्यूह

चीन का भारत विरोधी कारोबारी चक्रव्यूह

पुष्परंजन पहली जुलाई, 2020 से बांग्लादेशी उद्योग जगत में बहार आई है, जो चीन के बाज़ार में अपना माल एक्सपोर्ट करते हैं। 8 हज़ार 256 ऐसे प्रोडक्ट हैं, जिनके निर्यात पर कोई कर चीन को नहीं देना है। यह कुल निर्यात का 97 प्रतिशत है। इससे बांग्लादेश में गारमेंट, फ्रोज़न फूड, ...

Read More

हिंदी का हाल

हिंदी का हाल

यूपी में आठ लाख छात्र मातृभाषा में फेल यह खबर परेशान करती है कि देश के खांटी हिंदी भाषी राज्य उत्तर प्रदेश में हाई स्कूल व इंटरमीडियट के आठ लाख छात्र मातृभाषा हिंदी की परीक्षा में फेल हो गये हैं। हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा के नारों के बीच यह स्थिति बताती है ...

Read More

जीएसटी राजस्व बढ़ाने को प्रोत्साहन जरूरी

जीएसटी राजस्व बढ़ाने को प्रोत्साहन जरूरी

  भरत झुनझुनवाला केंद्र सरकार ने राज्यों को आश्वासन दिया था कि अगले पांच वर्षों में जीएसटी के राजस्व में जो भी कमी होगी उसकी भरपाई केन्द्र सरकार करेगी। उस समय अनुमान लगाया गया था कि जीएसटी में प्रति वर्ष 14 प्रतिशत की वृद्धि होगी। लेकिन जीएसटी की वसूली पिछले दो वर्षों ...

Read More

प्राथमिकता हो जनता के प्रति जवाबदेही

प्राथमिकता हो जनता के प्रति जवाबदेही

अंतर्राष्ट्रीय संसदीय दिवस सूरज मोहन झा संसद ही देश के लोगों की आवाज का प्रतिनिधित्व करती है। संसद सदन में चर्चा के बाद कानून को पारित करती है और कानूनों और नीतियों को लागू करने के लिए बजट का आवंटन भी करती है। संसद ही सरकार को जनता के प्रति जवाबदेह भी ...

Read More

पहुंच में हो इलाज

पहुंच में हो इलाज

निजी क्षेत्र सहयोग कर जिम्मेदारी निभाये हैदराबाद के एक निजी अस्पताल की वह घटना विचलित करती है, जिसमें मरणासन्न युवक ने अपने पिता को भेजे वीडियो मैसेज में बताया ‘अस्पताल में मेरे बार-बार कहने के बावजूद वेंटिलेटर हटा दिया गया है, मुझे तीन घंटे से आक्सीजन नहीं मिली है। मैं जा ...

Read More

अब की बार मेहनतकशों की ‘काम वापसी’

अब की बार मेहनतकशों की ‘काम वापसी’

आज मशहूर लेखक राजेंद्र राव जी से बात हुई। करीब महीनेभर पहले भी हुई थी। विषय था—मजदूरों की वापसी। तब उन्होंने कहा था कि सारी गाड़ियां भरकर जा रही हैं। मजदूर वापस जा रहे हैं। वे गांवों की तरफ आए थे, लेकिन जल्दी ही उन्हें पता चल गया कि यहां ...

Read More


मुक्त व्यापार को अलविदा कहने का वक्त

Posted On June - 23 - 2020 Comments Off on मुक्त व्यापार को अलविदा कहने का वक्त
पूर्वी एशिया के देशों इंडोनेशिया, थाइलैंड, सिंगापुर, मलेशिया, फिलीपींस, म्यांमार, ब्रुयेनी, कम्बोडिया और लाओस ने आपस में एक मुक्त व्यापार समझौता कर रखा है जिसे आसियान नाम से जाना जाता है। समझौते के अंतर्गत इन देशों के बीच माल लगभग शून्य आयात कर पर आ-जा सकता है। आसियान के देशों ने वर्ष 2010 में चीन के साथ मुक्त व्यापार समझौता किया। ....

आपकी राय

Posted On June - 23 - 2020 Comments Off on आपकी राय
दिल्ली में कोरोना महामारी की बिगड़ती हालत के चलते सर्वदलीय बैठक आयोजित की गई। इसमें सभी दलों ने मिलकर महामारी से लड़ने की बात कही है। सुखद खबर है कि दिल्ली में सभी ने एक मन से इस महामारी का सामना करने का संकल्प लिया है। देश में सभी को मिल-जुलकर इस महामारी का मुकाबला करना चाहिए। ....

कोर्ट की सख्ती के बावजूद नहीं बदले हालात

Posted On June - 23 - 2020 Comments Off on कोर्ट की सख्ती के बावजूद नहीं बदले हालात
देश में, विशेषकर बाल संरक्षण गृहों में, लड़कियों के यौन उत्पीड़न की घटनाओं में लगातार हो रही वृद्धि ने सहसा ही कवि प्रदीप के गीत की याद दिला दी ‘देख तेरे संसार की हालत क्या हो गयी भगवान...।’ ....

वो बात नहीं वर्क फ्रॉम होम में

Posted On June - 23 - 2020 Comments Off on वो बात नहीं वर्क फ्रॉम होम में
‘वर्क फ्रॉम होम’ में लगे कई लोग बताते हैं कि मतलब वह बात नहीं है घर पर काम करके। दफ्तर में चाय की मशीन के पीछे बॉस की बुराई करके जो सुकून मिलता था, वह घर पर काम करके कहां मिलता है। मिसेज कुमार रोज एक ही साड़ी पहनकर आ जाती हैं—इस विषय पर आधा घंटे की गहन विमर्श गोष्ठी वन टू वन बैठक में ....

एकदा

Posted On June - 23 - 2020 Comments Off on एकदा
सन‍् 1933 की बात है। ‘दिव्य जीवन संघ’ के संस्थापक महान संत स्वामी शिवानंद जी की ख्याति भारत ही नहीं, संसार के अनेक देशों तक में फैल चुकी थी। दक्षिण भारत के एक प्रकाशक ने स्वामी जी का जीवन परिचय प्रकाशित किया। उसमें उन्हें ‘भगवान श्रीकृष्ण का अवतार’ बताया गया था। ....

अनुचित मूल्यवृद्धि

Posted On June - 22 - 2020 Comments Off on अनुचित मूल्यवृद्धि
रविवार को लगातार सोलहवें दिन तेल कंपनियों ने पेट्रोल और डीज़ल के दाम बढ़ाए। कीमत निर्धारण का यह तेल का खेल आम भारतीय की समझ से परे है। अजीब स्थिति है जब अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम बढ़ें तो भी ठीकरा लोगों के सिर पर फोड़ा जाता है। ....

जन्म संबंधी रोगों की जड़ें तलाशने की कोशिश

Posted On June - 22 - 2020 Comments Off on जन्म संबंधी रोगों की जड़ें तलाशने की कोशिश
मनुष्य को होने वाली बीमारियों के कारणों को गहराई से समझने और उनका उपचार खोजने के लिए वैज्ञानिक मानव भ्रूण के तरह-तरह के मॉडल विकसित कर रहे हैं। उन्होंने मानव विकास के प्रारंभिक चरण के अध्ययन के लिए मानव भ्रूण की स्टेम कोशिकाओं से एक गैस्ट्रुलॉएड मॉडल तैयार किया है। ....

पार पा ही लेंगे

Posted On June - 22 - 2020 Comments Off on पार पा ही लेंगे
कोरोना ने ऐसे पैर पसारे कि हर तरफ त्राहि-त्राहि मच रही है। लंबे लॉकडाउन ने कई लोगों को दुखी किया और अंतत: उन्हें घर जाने की सूझी। मरना ही है तो अपने घर पहुंच कर अपनों के बीच मरेंगे। अब कई तरह के सवाल उनके सामने हैं। फिर भी मन में विश्वास है कि समस्याओं से पार पा ही लेंगे। ....

खुद गलकर ही बीज खिलाता है पुष्प

Posted On June - 22 - 2020 Comments Off on खुद गलकर ही बीज खिलाता है पुष्प
भारतीय जीवनदर्शन में जरूरतमंद की मदद को बड़ा महत्व दिया गया है। देश में एक संस्कृति रही है कि हम वंचित समाज को दान-दक्षिणा देकर जीवन की जरूरतों में सहयोग करने पर विचार करते हैं। यहां एक विचारणीय प्रश्न यह भी उभरता है कि परिस्थितिवश मुश्किल में पड़े व्यक्ति की तो मदद की जानी चाहिए। ....

ट्रेनों में चिकित्सा सुविधा

Posted On June - 22 - 2020 Comments Off on ट्रेनों में चिकित्सा सुविधा
ट्रेनों में चिकित्सा सुविधा के बिना रेल यात्रा को सुरक्षित नहीं माना जा सकता। लॉकडॉउन के समय श्रमिकों के लिए स्पेशल ट्रेनों में यदि भोजन-पानी और चिकित्सा जैसी जीवनोपयोगी सुविधाओं की पर्याप्त व्यवस्था रेलवे प्रबंधन द्वारा की गई होती तो समस्या विकट न होती। ....

एकदा

Posted On June - 22 - 2020 Comments Off on एकदा
एक शिष्य ने गुरु से पूछा, मोह और ममता से दूर रहने के लिए आप अपने प्रवचनों में इतना जोर क्यों देते हैं। गुरु ने गंभीर होकर कहा, मोह-ममता का अर्थ है, तुमने अपने प्राण अपने से हटाकर कहीं और रख दिये। ....

मूल्यांकन

Posted On June - 21 - 2020 Comments Off on मूल्यांकन
मन में अजीब-सी हिचक और ऊहापोह थी। मैं गुरु बाबा के आश्रम की तरफ साइकिल घसीटता बढ़ तो रहा था, किन्तु अनमना सा! घर से तीन-चार सौ मीटर चकरोड, फिर पांच किलोमीटर ‘प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना’ से बनी चिकनी समतल राह... आगे दो किलोमीटर ऊबड़-खाबड़ खड़ंजा... यह पूरा रास्ता मैंने गहरे मानसिक द्वंद्व के बीच तय किया। अब मैं नदी की तरफ धूल भरी पगडंडी ....

एक इंकलाबी शायर की विदाई

Posted On June - 21 - 2020 Comments Off on एक इंकलाबी शायर की विदाई
सात जून को कोरोना का टेस्ट नेगेटिव आया तो बोले थे, ‘हरा दिया न ससुरे को, बड़ी दहशत फैला रखी थी।’ लौट आए, नोएडा स्थित अपने आवास पर। मगर चांदनी चार दिन चली और 12 जून की बाद दोपहर सांसों की डोरी टूट गई। तीन सप्ताह गाड़ी और खिंच जाती तो 94 वर्ष के हो जाते।’ ....

जंगल के रोमांच की साझेदारी

Posted On June - 21 - 2020 Comments Off on जंगल के रोमांच की साझेदारी
राजस्थान की सीमा पर अरावली की पहाड़ियों के पूर्व में स्थित सवाई माधोपुर जिलांर्तगत रणथंभौर बाघ अभयारण्य देश में बाघ परियोजना का पर्याय है। अरावली और विन्ध्य पर्वत शृंखलाओं के बीच अवस्थित यह इलाका लहरदार सूखे पतझड़ी जंगलों और उष्णकटिबंधीय झाड़ी वाले पेड़ों और हमेशा बहने वाली जल धाराएं, तालाबों और झीलों से घिरा हुआ है। ....

अर्जुन की शौर्यगाथा का सरलीकरण

Posted On June - 21 - 2020 Comments Off on अर्जुन की शौर्यगाथा का सरलीकरण
पौराणिक चरित्रों पर उपन्यास और कहानी लिखने की परंपरा हिंदी साहित्य में बहुत पुरानी है। डॉ. विनय ने उस परम्परा को न सिर्फ आगे बढ़ाया है बल्कि उसे समृद्ध भी किया है। उन्होंने महाभारत के कई चरित्रों को अपनी लेखनी के माध्यम से सृजित किया है। ....

चूक की हूक

Posted On June - 20 - 2020 Comments Off on चूक की हूक
लद्दाख के भारतीय क्षेत्र में चीनी अतिक्रमण के बाद कूटनीतिक व सैन्य स्तर पर जो सुस्ती नजर आई है, कहीं न कहीं वह गलवान हादसे का सबब बनी है। विगत के अनुभव से पता चलता है कि संकट का कोहरा जितना घना होता है, भारतीय रणनीतिक पहल उतनी ही अस्पष्ट नजर आने लगती है। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.