भाजपा ही करवा सकती है बिना भेदभाव के विकास !    कांग्रेसी अपनों पर ही उठा रहे सवाल : शाह नवाज !    रणधीर चौधरी ने छोड़ी बसपा, भाजपा में शामिल !    शिव सेना बाल ठाकरे ने बसपा उम्मीदवार को दिया समर्थन !    ‘युवा सेना के चक्रव्यूह में फंसा चौधरी परिवार’ !    जनता को बरगला रहे हुड्डा, भाजपा को मिल रहा है प्रचंड बहुमत !    सरकार ने पूरी ईमानदारी से किया विकास : राव इंद्रजीत !    श्रद्धालुओं से 20 डालर सेवा शुल्क ना वसूले पाक !    21 के मतदान तक एग्जिट पोल पर रोक !    आईसीसी के हालिया फैसलों को नहीं मानेगा बोर्ड : सीओए !    

विचार › ›

खास खबर
पानीदार आदिवासी इलाकों में अकाल की छाया

पानीदार आदिवासी इलाकों में अकाल की छाया

पर्यावरण विरोधी नीति अमरेंद्र किशोर कभी झारखंड का पलामू पानीदार था। पश्चिमी ओडिशा की आबोहवा में भी सालों भर नमी रहा करती थी। मध्य प्रदेश के शिवपुरी में पानी से उपजी खुशियां वहां के लोकगीतों में छलकती थीं। ये सभी आदिवासी बहुल इलाके हैं जहां कभी पानी संग्रह करने की तरह-तरह ...

Read More

तनाव घटा मगर बाकी हैं चुनौतियां

तनाव घटा मगर बाकी हैं चुनौतियां

मल्लापुरम में राष्ट्रपति शी जिनपिंग और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच हुई शिखर वार्ता से चीन-भारत के रिश्तों में सुधार आने का अहसास हो रहा है। जबकि हाल ही में जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर चीन ने अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भारत के प्रति अपेक्षाकृत कम मैत्रीपूर्ण रुख अख्तियार किया था। हालांकि, ...

Read More

सांसों पर संकट

सांसों पर संकट

प्रदूषण से निपटने को बने कारगर रणनीति यह नयी बात नहीं है। हर साल अक्तूबर के मध्य से नवंबर तक राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली समेत देश के अन्य भागों में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब होने लगती है। दलील दी जाती है कि हरियाणा, पंजाब, राजस्थान व उ.प्र. के किसान खेतों में ...

Read More

कैंसर के खिलाफ जंग हुई अब आसान

कैंसर के खिलाफ जंग हुई अब आसान

चिकित्सा में नोबेल निरंकार सिंह इस साल चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार जिन तीन वैज्ञानिकों को देने की घोषणा की गयी है, उनकी खोज से अब कैंसर, एनीमिया और कोशिकाओं से जुड़ी हुई कई अन्य बीमारियों के इलाज का रास्ता खुलेगा। पुरस्कार के लिए चुने गये वैज्ञानिकों में अमेरिका के विलियम जी. केलिन ...

Read More

विपक्षी बिखराव से आसान भाजपा की राह

विपक्षी बिखराव से आसान भाजपा की राह

दरअसल जब एक राजनीतिक दल या उसके नेतृत्व वाला गठबंधन केंद्र समेत देश के दो-तिहाई राज्यों की सत्ता पर काबिज हो और उसका प्रतिद्वंद्वी दल या उसके नेतृत्व वाला गठबंधन हाशिये पर खिसक चुका हो, तब दो राज्यों के विधानसभा चुनावों की बहुत ज्यादा राजनीतिक अहमियत तर्कसम्मत नहीं लगती। इसके बावजूद ...

Read More

गरीबी का अर्थशास्त्र

गरीबी का अर्थशास्त्र

अभिजीत ने दिखाई मुक्ति की राह हर भारतीय के लिये गौरव का विषय है कि अमेरिका में बैठकर भी भारत में निर्धनता उन्मूलन के प्रयासों में लगे अभिजीत बनर्जी को गरीबी से मुक्ति के व्यावहारिक अर्थशास्त्र के लिये नोबेल पुरस्कार मिला है। यह भारत के लिये दोहरी खुशी है कि यह ...

Read More

प्राथमिकी दूसरे राज्य में भेजे जाने पर सवाल

प्राथमिकी दूसरे राज्य में भेजे जाने पर सवाल

उच्च न्यायालय का अधिकार क्षेत्र अनूप भटनागर कार्यस्थल पर महिलाओं के यौन उत्पीड़न की रोकथाम का कानून बनने के छह साल बाद अब उच्चतम न्यायालय के समक्ष एक रोचक मामला आया है। इस मामले में उच्च न्यायालय ने महिला पुलिस अधिकारी द्वारा पुलिस महानिरीक्षक स्तर के अधिकारी के खिलाफ कथित रूप से ...

Read More


  • गरीबी के विस्तृत आयामों की अनदेखी
     Posted On October - 18 - 2019
    अर्थशास्त्र में वर्ष 2019 का नोबेल पुरस्कार संयुक्त रूप से मैसाचुसेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी के अभिजीत बनर्जी एवं एस्थर डफ्लो....
  • नोबेल हकदार इथियोपिया का ‘नेल्सन मंडेला’
     Posted On October - 18 - 2019
    आमतौर पर शांति के लिये दिये जाने वाले नोबेल पुरस्कार को लेकर यदा-कदा सवाल उठाये जाते हैं। खासकर राजनेताओं को....
  •  Posted On October - 18 - 2019
    दुनिया की ग़रीबी धन्य हुई कि उसकी ‘खैरख्वाही’ को नोटिस किया गया। न सिर्फ नोटिस किया गया बल्कि बरस्ते अर्थशास्त्र....
  •  Posted On October - 18 - 2019
    16 अक्तूबर को दैनिक ट्रिब्यून के सम्पादकीय पृष्ठ पर राजकुमार सिंह का ‘विपक्षी बिखराव से आसान भाजपा की राह’ लेख....

मालगाड़ी पर सवार हम

Posted On October - 13 - 2019 Comments Off on मालगाड़ी पर सवार हम
मालवा निकल चुकी है, इंटरसिटी आने को है। रेलवे क्रॉसिंग पर गेटमेन फाटक लगा चुका है। अब वाहनों की कतारें लग रही हैं। इस थोड़े से वक्फे में ही दोनों तरफ दूर–दूर तक कतारें लगी हैं। कुछ चालकों ने वाहन स्टार्ट कर रखे हैं। कुछ आसपास खड़े वाहन चालकों से बतिया रहे हैं तो कुछ अपने मोबाइल में कुछ ढूंढ़ते से उसमें डूब चुके हैं। ....

निजीकरण की ओर

Posted On October - 12 - 2019 Comments Off on निजीकरण की ओर
लगता है लंबे अर्से से प्रतीक्षित रेलवे के निजीकरण की तरफ केंद्र सरकार ने कदम बढ़ा दिये हैं। लखनऊ से दिल्ली के बीच निजी प्रबंधन वाली तेजस ट्रेन की शुरुआत को इसी कड़ी के रूप में देखा जा रहा है, जिससे रेलवे के कर्मचारी संगठनों में बेचैनी है। अब कहा जा रहा है कि रेलवे एक सौ पचास ट्रेनें व पचास स्टेशन निजी हाथों को ....

साहसिक आर्थिक सुधारों का वक्त

Posted On October - 12 - 2019 Comments Off on साहसिक आर्थिक सुधारों का वक्त
हाल ही में 10 अक्तूबर को अंतर्राष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडिज ने वर्ष 2019-20 के लिए भारत की विकास दर का अनुमान 6.20 से घटाकर 5.80 फीसदी कर दिया है। इसके पहले 4 अक्तूबर को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने वर्ष 2019-20 के लिए विकास दर का अनुमान 6.9 फीसदी से घटाकर 6.1 फीसदी कर दिया है। इसी प्रकार विगत 30 सितम्बर को इकोनॉमिस्ट इंटेलिजेंस ....

कानूनी तौर पर सिर्फ एक लाख सुरक्षित

Posted On October - 12 - 2019 Comments Off on कानूनी तौर पर सिर्फ एक लाख सुरक्षित
बाजार में निवेश के कई मौके उपलब्ध हैं। पर देखने की बात यह है कि किसी को भी अपना सारा निवेश किसी एक माध्यम या किसी एक योजना में नहीं डालना चाहिए। जैसे बैंकों में पैसा लगाना बहुत लोकप्रिय माध्यम है। ऐसा आमतौर पर माना जाता है कि बैंक में रकम लगाने का मतलब है कि पैसा एकदम सुरक्षित है, कभी डूबेगा नहीं। समझने की ....

मंदी की आहट से लुढ़कते बैंक

Posted On October - 12 - 2019 Comments Off on मंदी की आहट से लुढ़कते बैंक
मंदी की पहचान करना आसान नहीं होता जी। वैसे तो जब बाजार की चहल-पहल खत्म हो जाए, रौनक गायब हो जाए, खरीददारी घट जाए, बाजार सूना और उजाड़ नजर आने लगे तो अंदाजा लग जाता है कि मंदी है। एक निशानी यह भी होती है कि मंदी में पैसे वाले हाय-तौबा मचाने लगते हैं और गरीब सुन्न पड़ जाता है, उसे कुछ सुझाई नहीं देता। ....

एकदा

Posted On October - 12 - 2019 Comments Off on एकदा
नौशेरवां जब युवराज थे तब उनको कई उस्ताद तालीम दिया करते थे। तालीम पूरी होने पर बादशाह ने प्रमुख उस्ताद को बुलाया और कहा कि आप हमसे कल बाकी सभी उस्तादों के साथ मिलें ताकि हम सबको सम्मानित कर सकें। इस पर उस्ताद बोले—हुज़ूर, बस एक दिन की तालीम बाकी रह गई है। इसके बाद उस्ताद युवराज को लेकर अस्तबल में गए। एक घोड़ा लेकर ....

आपकी राय

Posted On October - 12 - 2019 Comments Off on आपकी राय
भारत-चीन के रिश्तों में नयापन चीन के राष्ट्रपति के आने से आएगा, यह तो आने वाला समय ही बताएगा। यहां सवाल तो यह है कि चीन के राष्ट्रपति की यात्रा के दौरान विभिन्न मुद्दों पर सहमति बनाने के बाद क्या चीन भारत के नापाक पड़ोसी की हर तरह की मदद करना बंद करेगा? क्या सीमा विवाद के प्रति चीन अपनी नीयत बदलेगा? भारत को चाहिए ....

एकदा

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on एकदा
एक फकीर पत्नी के साथ एक छोटे से झोपड़े में रहता था। रात को बारिश हो रही थी। किसी ने झोपड़े का दरवाजा खटखटाया। पत्नी ने पति से कहा—रात का समय है, दरवाजा मत खोलना, वैसे भी हमारे पास जगह नहीं है। ....

आपकी राय

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on आपकी राय
10 अक्तूबर के दैनिक ट्रिब्यून का संपादकीय ‘चीनी मिठास’ में भारत के प्रति चीन के बदले हुए रुख का विश्लेषण करने वाला था। चीन सरकार का यह वक्तव्य कि कश्मीर को लेकर उनकी नीति में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है, सब कुछ स्पष्ट करने वाला है। ....

अपनी-अपनी सुविधाओं के बापू

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on अपनी-अपनी सुविधाओं के बापू
बापू हम आपकी 150वीं सालगिरह मना रहे हैं इस साल। पहले भी मनाते रहे हैं और आगे भी मनाते रहेंगे। मनाना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि दुनिया को दिखाने के लिए आपसे बड़ा कोई चेहरा फिलहाल हमारे पास नहीं है। सो पिछले सालों की तरह इस साल भी मना रहे हैं। ....

निरंकुश राजशाही तले लोकतंत्र की कछुआ चाल

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on निरंकुश राजशाही तले लोकतंत्र की कछुआ चाल
पहली नजर में तो लगता है कि सऊदी अरब के ताकतवर युवराज मोहम्मद बिन सलमान रूढ़िवादी सऊदी अरब को आधुनिक बनाने की तरफ बढ़ चले हैं। उन्होंने सऊदी अरब के बंद समाज में सिनेमाहाल खोलने की इजाजत दी, संगीत पर से प्रतिबंध हटाया है, महिलाओं को कार चलाने की अनुमति मिली है, होटलों में विदेशी अविवाहित जोड़े ठहर सकते हैं। ....

ग्रामीण आर्थिकी सुधरने से दूर होगी सुस्ती

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on ग्रामीण आर्थिकी सुधरने से दूर होगी सुस्ती
दुनियाभर में कई देश आर्थिक मंदी का सामना कर रहे हैं और आर्थिकी को फिर से सुदृढ़ करने हेतु अनेक राहतें दे रहे हैं। चीन ने नीचे जाते अपने बुनियादी निर्माण ढांचे को आर्थिक मदद देने की घोषणा की है ताकि ग्राहकों की क्रय शक्ति में वृद्धि हो सके। ....

मंदी से जद्दोजहद

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on मंदी से जद्दोजहद
आखिरकार अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष की प्रमुख ने सार्वजनिक तौर पर स्वीकार कर लिया है कि दुनिया का नब्बे फीसदी हिस्सा मंदी की चपेट में है, जिसके मुकाबले को साझे कदम उठाये जाने की जरूरत है। उनकी चिंता में बड़ी बात यह है कि पटरी से  उतरी भारतीय अर्थव्यवस्था के लिये मंदी बड़ी चुनौती है। ....

एकदा

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on एकदा
एक व्यक्ति ने अपने घर में प्रतिदिन होने वाली कलह से तंग आकर आत्महत्या करने की सोची। किन्तु आत्महत्या का निर्णय लेना इतना आसान भी नहीं था। परिवार के भविष्य को लेकर वह चिंतित हो गया। असमंजस की स्थिति में वह महर्षि रमण के आश्रम में गया। ....

आपकी राय

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on आपकी राय
हम वर्षभर स्वच्छता, प्रदूषण से मुक्ति, पर्यावरण संरक्षण और इको फ्रेंडली के नाम पर कसमें खातें हैं। लेकिन दशहरे के अवसर पर ऊंचे व महंगे पुतले जलाते हुए सब भूल जाते हैं कि इससे पर्यावरण कितना प्रदूषित होगा। ....

लड़ाके, धमाके और वोटर की भड़ास

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on लड़ाके, धमाके और वोटर की भड़ास
मोदी हाल ही में अमेरिका क्या गये कि उनका हाथ ट्रम्प के हाथों में देखकर एक भाई से कहे बिना नहीं रहा गया—न्यूं दीखै अक ईबकै अमेरिका मैं भी मोदी सरकार आवैगी। पर हरियाणा की राजनीति में हाथ पकड़ने की बजाय नेता मरखनी गाय की तरह हाथ छुड़ा-छुड़ा कर भाग रहे हैं। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.