मज़बूत करें इम्यूनिटी !    ट्रंप से बोले जिनपिंग, एकजुटता जरूरी !    सुरक्षा परिषद में अब तक कोई चर्चा नहीं, अध्यक्षता चीन के पास !    गृह मंत्रालय के निर्देश प्रवासियों का पलायन रोकें !    चतुर्थ कूष्मांडा !    लॉकडाउन के बीच पुलिस की ड्यूटी निभा रहे भारतीय खिलाड़ी !    314 नागरिकों को सुरक्षित पहुंचाने पर इस्राइल बोला ‘थैंक यू इंडिया’ !    नहीं रहे पूर्व केंद्रीय मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा !    104 साल की राजयोगिनी दादी जानकी का निधन !    अमेरिका में एक दिन में 16 हजार संक्रमित !    

विचार › ›

खास खबर
शेयर बाज़ार में ज़िंदगी-सी अनिश्चितता

शेयर बाज़ार में ज़िंदगी-सी अनिश्चितता

अर्थमंत्र आलोक पुराणिक निवेश की दुनिया में हाहाकार है। बड़े-बड़े निवेशकों को समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें। इससे पहले यह सवाल खड़ा हो जाता है कि असल में हुआ क्या है, जो हुआ है, उसके आयाम और नतीजे क्या हैं, ये भी समझना बहुत आसान नहीं है। केंद्रीय वित्तमंत्री ...

Read More

कोरोना कहर के बीच फांसी के औचित्य का प्रश्न

कोरोना कहर के बीच फांसी के औचित्य का प्रश्न

जब मैंने खबर पढ़ी कि उन चार लोगों को तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई है, जिन्होंने वर्ष 2012 में दिल्ली में क्रूर बलात्कार को अंजाम दिया था तो मुझे लगा कि जब दुनियाभर में हजारों व्यक्ति कोरोना वायरस के कहर का शिकार होकर मर रहे हैं, ऐसे वक्त ...

Read More

हर घर राहत

हर घर राहत

आर्थिक पैकेज के बावजूद बाकी चुनौतियां विश्वव्यापी कोरोना वायरस की महामारी से जूझते हुए केंद्र सरकार कई मोर्चों पर लड़ रही है। उसकी पहली प्राथमिकता जहां संक्रमण रोकने और लोगों की जीवन रक्षा की है, वहीं बीमार चिकित्सातंत्र को प्राणवायु देने की कोशिश भी जारी है। नि:संदेह लाइलाज कोरोना वायरस ने ...

Read More

भव्य होती दिव्या की सुनहरी कुश्ती

भव्य होती दिव्या की सुनहरी कुश्ती

चर्चित चेहरा अरुण नैथानी यह सहज विश्वास नहीं होता कि जहां ओलंपिक में पदक हासिल करने वाली साक्षी मलिक व बजरंग पूनिया ने रजत तथा विनेश फोगाट ने कुश्ती में कांस्य पदक हासिल किया हो, वहां दिव्या काकरान ने स्वर्ण पदक हासिल कर लिया हो। पिछले दिनों संपन्न एशियन कुश्ती चैंपियनशिप में ...

Read More

कोरोना जंग में अमेरिका व चीन आमने-सामने

कोरोना जंग में अमेरिका व चीन आमने-सामने

यूएस एडवोकेसी ग्रुप ‘फ्रीडम वाच’ और ‘बज फोटोज़’ ने चीन के विरुद्ध टेक्सास डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में 20 ट्रिलियन डॉलर के हर्जाने का दावा ठोका है। अमेरिकी वकील लैरी क्लेमन ने चीन सरकार, चीनी आर्मी, वुहान इंस्टीच्यूट ऑफ वायरोलॉजी, उसके डायरेक्टर शी चेंगली, 54 साल की महिला बायोकेमिकल एक्सपर्ट मेजर जनरल ...

Read More

कायराना हमला

कायराना हमला

अफगान सिखों की सुरक्षा सुनिश्चित हो ऐसे वक्त जब पूरी दुनिया कोरोना वायरस के खौफ से जूझते हुए मानवता की रक्षा के लिए एकजुट है, अफगानिस्तान में आतंकवादियों ने अल्पसंख्यक सिखों को निशाना बनाया है। गुरुद्वारे पर हुए इस आत्मघाती हमले में 25 सिखों की मौत हो गई और बड़ी संख्या में ...

Read More

पहले जैसी नहीं रहेगी वैश्विक व्यवस्था

पहले जैसी नहीं रहेगी वैश्विक व्यवस्था

श्याम सरन निस्संदेह आने वाले समय में कोरोना महामारी का अवसान हो जाएगा, लेकिन यह अपने पीछे एक परिवर्तित दुनिया छोड़ जाएगा। एक जीवाणु से उत्पन्न इस अभूतपूर्व संकट से उपजी चुनौतियों से निपटने में जो उपाय किए जाएंगे, उससे मानव जीवन, कामकाज और यहां तक कि खेलकूद पर भी ...

Read More


सन्मार्ग दिखाने वाली रचनाएं

Posted On March - 22 - 2020 Comments Off on सन्मार्ग दिखाने वाली रचनाएं
रोज उपद्रव मचवाती घर में, जब हाथों में आ जाता प्याला... लीवर जलाती, आंत गलाती और शरीर बना देती कंगाल... मुंह से बदबू रहे धधकती, कीड़ों ने तन पर डेरा डाला... कितने संबंध विच्छेद कराये और दुर्दिन दिखाये बैरन हाला। ....

श्रीकृष्ण प्रेम की सरस अभिव्यक्ति

Posted On March - 22 - 2020 Comments Off on श्रीकृष्ण प्रेम की सरस अभिव्यक्ति
श्रीकृष्ण के प्रेम में न जाने कितनी स्त्रियों को जोगन बना दिया और न जाने कितनों को कवयित्री। श्रीकृष्ण के प्रेम में डूबी ऐसी ही स्त्री किरण मिश्रा ‘स्वयंसिद्धा’ का काव्य संग्रह है ‘परिणीता प्रेम।’ संग्रह की कविताएं श्रीकृष्ण से प्रेम की अभिव्यक्ति है। इन कविताओं से ध्वनि निकलती है कि प्रेम को मानने पर खुद को खोना पड़ता है। अपने अहं, वैभव तथा विलास ....

सामाजिक सरोकारों का सृजन

Posted On March - 22 - 2020 Comments Off on सामाजिक सरोकारों का सृजन
हिंदी साहित्य की कहानी विधा सदा से ही लोकप्रिय व सशक्त विधा रही है। प्रस्तुत संकलन ‘रिश्तों की महक’ में कुल 19 कहानियां हैं, जिन्हें डॉ. रमा कान्ता ने कुशलता से संपादित किया है। ....

अर्थ-लय-चिंतन की त्रिवेणी

Posted On March - 22 - 2020 Comments Off on अर्थ-लय-चिंतन की त्रिवेणी
कवयित्री डॉ. अनु सपन का गीत-संकलन ‘आ, मन! तुझ से बात करूं’ बरबस मन को खींचता है और लगता है कि आज की भयंकर आपाधापी और भौतिकता की अंधी दौड़ में कोई तो है जो ‘मन के दरवाजे पर दस्तक देकर, ‘मन’ से बात करने की हिम्मत कर रहा है।’ ....

दुनिया को समझने की दृष्टि देती कहानियां

Posted On March - 22 - 2020 Comments Off on दुनिया को समझने की दृष्टि देती कहानियां
सच्चिदानंद हीरानंद वात्स्यायन अज्ञेय ने लिखा है— ‘रचना के सन्दर्भ में साहित्य का यथार्थ आनुभविक यथार्थ ही है। अनुभव से परे जो यथार्थ है, या हो सकता है, उसको साहित्य नकारता नहीं। अज्ञेय का यह कथन नीलम सपना शर्मा के कहानी संग्रह ‘अहसास आस-पास’ को पढ़ते समय साफ-साफ परिलक्षित होता है। ....

बेटी

Posted On March - 22 - 2020 Comments Off on बेटी
धड़क-धड़क, लोहे की सड़क, धड़क-धड़क लोहे की सड़क, लय में गाती हुई रेलगाड़ी अपनी रफ्तार से भागी जा रही थी। बाहर सूरज अपनी आज की दिहाड़ी पूरी कर घर की ओर लौट रहा था। तारे निकल चुके थे। अगले कुछ ही पलों में अंधेरे ने धरती को अपने काले कंबल में लपेट लिया। ....

एकदा

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on एकदा
मगध सम्राट बिंदुसार ने अपनी सभा में पूछा : देश की खाद्य समस्या को सुलझाने के लिए सबसे सस्ती वस्तु क्या है? सब सोच में पड़ गये। तभी एक सामंत ने कहा : राजन, सबसे सस्ता खाद्य पदार्थ मांस है। सभी ने इस बात का समर्थन किया। सम्राट ने प्रधानमंत्री चाणक्य से पूछा : आपका इस बारे में क्या मत है? चाणक्य ने कहा, मैं ....

इस डर के आगे ही है जीत

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on इस डर के आगे ही है जीत
न सरकार के खिलाफ कोई हड़ताल हुई, न बंद का आह्वान। फिर भी सब बंद है। जिम्मेदार विपक्ष नहीं। इस बार इस बंद के लिए थोड़ी बहुत अगर जिम्मेदार है तो सरकार ही है कि उसने स्कूल-कालेज, सिनेमा हाल, मॉल सब बंद कर दिए। तो जनाब सब बंद है। स्कूल बंद, कालेज बंद, सिनेमा हाल बंद, मॉल बंद। ....

ग्रीष्मकालीन राजधानी के अंतर्विरोध

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on ग्रीष्मकालीन राजधानी के अंतर्विरोध
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र रावत सरकार ने आखिरकार भराड़ीसैण में ग्रीष्मकालीन राजधानी की घोषणा तो कर दी, मगर बिना रोडमैप और बुनियादी ढांचे के यह घोषणा हकीकत में बदलती नजर नहीं आ रही है। वर्तमान में वैसे ही प्रदेश की न्यायिक राजधानी नैनीताल में है और अब तीसरी राजधानी की भी घोषणा हो चुकी है। ....

आपकी राय

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on आपकी राय
प्रधानमंत्री ने देश की जनता से कोरोना वायरस से निपटने के लिए 22 मार्च को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया है। केंद्र और राज्य सरकारों ने भी लोगों की स्वास्थ्य सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए कुछेक व्यापारिक संस्थान भी बंद करने के आदेश दिए हैं। लेकिन सरकारों के ऐसे फरमानों से लोगों में घबराहट पैदा हो गयी है। वे खाद्य पदार्थों की जमाखोरी करने ....

महत्वाकांक्षी तिकड़मों का बंधक लोकतंत्र

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on महत्वाकांक्षी तिकड़मों का बंधक लोकतंत्र
लगता है, लोकतंत्र की प्रचलित परिभाषा को बदलने का समय आ गया है। लोकतंत्र की प्रचलित परिभाषा है : जनता द्वारा, जनता के लिए, जनता का शासन, लेकिन इधर देखने में आ रहा है कि यह राजनेताओं के द्वारा, राजनेताओं के लिए, राजनेताओं का शासन बनकर रह गया है। बेशक अब भी चुनाव में मतदाता ही भावी सरकार की बाबत जनादेश देते हैं, लेकिन राजनेताओं ....

बनें राष्ट्र रक्षक

Posted On March - 21 - 2020 Comments Off on बनें राष्ट्र रक्षक
बृहस्पतिवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में प्रधानमंत्री ने साफ संकेत दिया है कि कोरोना की महामारी से लड़ाई सिर्फ सरकार के भरोसे नहीं जीती जा सकती, हर नागरिक को राष्ट्र रक्षक की भूमिका निभानी है। ‘जनता कर्फ्यू’ की नई इबारत रच कर उन्होंने जनता की जिम्मेदारी की तरफ इशारा किया है कि धैर्य-संयम से हम एक दिन घर में रहें। ....

आपकी राय

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on आपकी राय
19 मार्च के दैनिक ट्रिब्यून में जी. पार्थसारथी का ‘अफगान शांति समझौते से उपजी चुनौतियां’ लेख अफगानिस्तान को लेकर हुए अमेरिका तथा तालिबान के बीच समझौते का विश्लेषण करने वाला था। यह समझौता अमेरिकी राष्ट्रपति ने आगामी चुनावों को ध्यान में रखते हुए किया है। ....

एकदा

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on एकदा
एक मंदिर में स्थापित पत्थर की प्रतिमा पर चढ़ाए गए पुष्प ने क्रोधित होकर पुजारी से कहा, ‘तुम प्रतिदिन इस प्रतिमा पर मुझे चढ़ाकर इसकी पूजा करते हो। यह मुझे कतई पसंद नहीं है। पूजा मेरी होनी चाहिए क्योंकि मैं कोमल, सुंदर, सुवासित हूं। यह तो मात्र पत्थर की मूर्ति है।’ ....

वायरस से भी घातक इंसान

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on वायरस से भी घातक इंसान
हैलो कोरोना, अब तो तुम आ ही चुके हो, सुना है, इटली के रास्ते आए। अपने सैनिकों की तरह सीमा से नहीं घुसे। तुम्हारे आने का खास मकसद क्या है! यदि अफवाह, दहशत फैलाने के इरादे से आए हो, तो वह पहले ही फैली हुई है। वैसे भी हम पर बाहर से आए वायरसों का कुछ खास असर होता नहीं है, सिवाय जेब के। तुम ....

अमित के गोल्डन पंच के इंतजार में देश

Posted On March - 20 - 2020 Comments Off on अमित के गोल्डन पंच के इंतजार में देश
आखिर परिवार की त्याग-तपस्या रंग लाई है, अभावों की तपिश ने अमित पंघाल के घूसों में इतनी ताकत भर दी कि वह टोक्यो ओलंपिक के लिये अपना टिकट बुक करा चुका है। जब ओलंपिक के लिये मुकाबला जीतने की खबर आई तो उसके गांव में होली से पहले ही रंगों की रंगत नजर आई। ....
Manav Mangal Smart School
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.