भगौड़े को पकड़ने गयी पुलिस पर हमला, 3 कर्मी घायल !    एटीएम को गैस कटर से काट उड़ाये 12.61 लाख !    कुल्लू में चरस के साथ 2 गिरफ्तार !    बारहवीं की छात्रा ने घर में लगाया फंदा !    नेपाल को 56 अरब नेपाली रुपये की मदद देगा चीन !    इस बार अब तक कम जली पराली !    पीएम की भतीजी का पर्स चुरा सोनीपत छिप गया, गिरफ्तार !    फरसा पड़ा महंगा, जयहिंद को आयोग का नोटिस !    महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में प्रचार करेंगी मायावती !    ‘गांधीजी ने आत्महत्या कैसे की?’ !    

विचार › ›

खास खबर
जन संसद

जन संसद

प्याज संकट के सबक स्थाई समाधान हो देश में प्याज की मांग बारह माह रहती है। लेकिन बारिश के कारण फसल नष्ट हो जाने से अचानक प्याज की कीमतें आसमान छूने लग जाती हैं। ऐसी स्थिति होने पर तत्काल प्याज के निर्यात पर रोक लगाने, कीमतों पर अंकुश लगाने व इसके भंडारण ...

Read More

दूसरी धरती की तलाश के लिए जद्दोजहद

दूसरी धरती की तलाश के लिए जद्दोजहद

भौतिकी का नोबेल अभिषेक कुमार सिंह इस साल के लिए भौतिकी में नोबेल पुरस्कार हासिल करने वाले तीनों साइंटिस्टों कनाडाई मूल के अमेरिकी जेम्स पीबल्स और स्विट‍्ज़रलैंड के माइकल मेयर व डिडियर क्वेलोज की खोजें, असल में इस कायनात में इंसानियत की जगह की खोज पर केंद्रित हैं। जहां पीबल्स एक ओर ...

Read More

बाढ़ झेल सकने वाली फसल की खोज

बाढ़ झेल सकने वाली फसल की खोज

बाढ़ और अतिवृष्टि से फसलें बर्बाद हो जाती हैं। प्रमुख फसलों में सिर्फ धान की ही फसल बाढ़ को झेल पाती है। लेकिन एक नई रिसर्च से यह स्थिति बदल सकती है। यह दुनिया के लिए एक अच्छी खबर है कि जहां कई जगह वर्षा की अवधि और तीव्रता में ...

Read More

फिर भी दोस्ती

फिर भी दोस्ती

मतभेदों के बावजूद साथ चलने की कवायद आखिरकार वुहान से शुरू हुआ अनौपचारिक वार्ताओं का सिलसिला तमिलनाडु के महाबलीपुरम तक सौहार्दपूर्ण वातावरण में पहुंचा। भारत ने चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग की आवभगत में कोई कमी नहीं रखी। यह जानते हुए भी कि हाल ही में इमरान खान की चीन यात्रा के ...

Read More

कानूनी तौर पर सिर्फ एक लाख सुरक्षित

कानूनी तौर पर सिर्फ एक लाख सुरक्षित

अर्थमंत्र आलोक पुराणिक बाजार में निवेश के कई मौके उपलब्ध हैं। पर देखने की बात यह है कि किसी को भी अपना सारा निवेश किसी एक माध्यम या किसी एक योजना में नहीं डालना चाहिए। जैसे बैंकों में पैसा लगाना बहुत लोकप्रिय माध्यम है। ऐसा आमतौर पर माना जाता है कि बैंक ...

Read More

साहसिक आर्थिक सुधारों का वक्त

साहसिक आर्थिक सुधारों का वक्त

हाल ही में 10 अक्तूबर को अंतर्राष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडिज ने वर्ष 2019-20 के लिए भारत की विकास दर का अनुमान 6.20 से घटाकर 5.80 फीसदी कर दिया है। इसके पहले 4 अक्तूबर को रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने वर्ष 2019-20 के लिए विकास दर का अनुमान 6.9 फीसदी ...

Read More

निजीकरण की ओर

निजीकरण की ओर

गुणवत्ता हो मगर यात्री हितों की न हो अनदेखी लगता है लंबे अर्से से प्रतीक्षित रेलवे के निजीकरण की तरफ केंद्र सरकार ने कदम बढ़ा दिये हैं। लखनऊ से दिल्ली के बीच निजी प्रबंधन वाली तेजस ट्रेन की शुरुआत को इसी कड़ी के रूप में देखा जा रहा है, जिससे ...

Read More


  • बाढ़ झेल सकने वाली फसल की खोज
     Posted On October - 14 - 2019
    बाढ़ और अतिवृष्टि से फसलें बर्बाद हो जाती हैं। प्रमुख फसलों में सिर्फ धान की ही फसल बाढ़ को झेल....
  • दूसरी धरती की तलाश के लिए जद्दोजहद
     Posted On October - 14 - 2019
    इस साल के लिए भौतिकी में नोबेल पुरस्कार हासिल करने वाले तीनों साइंटिस्टों कनाडाई मूल के अमेरिकी जेम्स पीबल्स और....
  •  Posted On October - 14 - 2019
    देश साल में चार महीने सूखे की चपेट में रहता है तो चार महीने बाढ़ में डूबता है। हर बर्ष....
  • जन संसद
     Posted On October - 14 - 2019
    देश में प्याज की मांग बारह माह रहती है। लेकिन बारिश के कारण फसल नष्ट हो जाने से अचानक प्याज....

आपकी राय

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on आपकी राय
10 अक्तूबर के दैनिक ट्रिब्यून का संपादकीय ‘चीनी मिठास’ में भारत के प्रति चीन के बदले हुए रुख का विश्लेषण करने वाला था। चीन सरकार का यह वक्तव्य कि कश्मीर को लेकर उनकी नीति में कोई परिवर्तन नहीं हुआ है, सब कुछ स्पष्ट करने वाला है। ....

अपनी-अपनी सुविधाओं के बापू

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on अपनी-अपनी सुविधाओं के बापू
बापू हम आपकी 150वीं सालगिरह मना रहे हैं इस साल। पहले भी मनाते रहे हैं और आगे भी मनाते रहेंगे। मनाना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि दुनिया को दिखाने के लिए आपसे बड़ा कोई चेहरा फिलहाल हमारे पास नहीं है। सो पिछले सालों की तरह इस साल भी मना रहे हैं। ....

निरंकुश राजशाही तले लोकतंत्र की कछुआ चाल

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on निरंकुश राजशाही तले लोकतंत्र की कछुआ चाल
पहली नजर में तो लगता है कि सऊदी अरब के ताकतवर युवराज मोहम्मद बिन सलमान रूढ़िवादी सऊदी अरब को आधुनिक बनाने की तरफ बढ़ चले हैं। उन्होंने सऊदी अरब के बंद समाज में सिनेमाहाल खोलने की इजाजत दी, संगीत पर से प्रतिबंध हटाया है, महिलाओं को कार चलाने की अनुमति मिली है, होटलों में विदेशी अविवाहित जोड़े ठहर सकते हैं। ....

ग्रामीण आर्थिकी सुधरने से दूर होगी सुस्ती

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on ग्रामीण आर्थिकी सुधरने से दूर होगी सुस्ती
दुनियाभर में कई देश आर्थिक मंदी का सामना कर रहे हैं और आर्थिकी को फिर से सुदृढ़ करने हेतु अनेक राहतें दे रहे हैं। चीन ने नीचे जाते अपने बुनियादी निर्माण ढांचे को आर्थिक मदद देने की घोषणा की है ताकि ग्राहकों की क्रय शक्ति में वृद्धि हो सके। ....

मंदी से जद्दोजहद

Posted On October - 11 - 2019 Comments Off on मंदी से जद्दोजहद
आखिरकार अंतर्राष्ट्रीय मुद्राकोष की प्रमुख ने सार्वजनिक तौर पर स्वीकार कर लिया है कि दुनिया का नब्बे फीसदी हिस्सा मंदी की चपेट में है, जिसके मुकाबले को साझे कदम उठाये जाने की जरूरत है। उनकी चिंता में बड़ी बात यह है कि पटरी से  उतरी भारतीय अर्थव्यवस्था के लिये मंदी बड़ी चुनौती है। ....

एकदा

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on एकदा
एक व्यक्ति ने अपने घर में प्रतिदिन होने वाली कलह से तंग आकर आत्महत्या करने की सोची। किन्तु आत्महत्या का निर्णय लेना इतना आसान भी नहीं था। परिवार के भविष्य को लेकर वह चिंतित हो गया। असमंजस की स्थिति में वह महर्षि रमण के आश्रम में गया। ....

आपकी राय

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on आपकी राय
हम वर्षभर स्वच्छता, प्रदूषण से मुक्ति, पर्यावरण संरक्षण और इको फ्रेंडली के नाम पर कसमें खातें हैं। लेकिन दशहरे के अवसर पर ऊंचे व महंगे पुतले जलाते हुए सब भूल जाते हैं कि इससे पर्यावरण कितना प्रदूषित होगा। ....

लड़ाके, धमाके और वोटर की भड़ास

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on लड़ाके, धमाके और वोटर की भड़ास
मोदी हाल ही में अमेरिका क्या गये कि उनका हाथ ट्रम्प के हाथों में देखकर एक भाई से कहे बिना नहीं रहा गया—न्यूं दीखै अक ईबकै अमेरिका मैं भी मोदी सरकार आवैगी। पर हरियाणा की राजनीति में हाथ पकड़ने की बजाय नेता मरखनी गाय की तरह हाथ छुड़ा-छुड़ा कर भाग रहे हैं। ....

नींद उड़ाती चिंताओं का समाधान हो

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on नींद उड़ाती चिंताओं का समाधान हो
अच्छे मानसिक स्वास्थ्य के मायने हैं मन सुचारु रूप से कार्यरत रहे, सामान्य तनाव तथा प्रतिकूल परिस्थिति में भावात्मक व व्यवहारगत संतुलन डगमगाए नहीं, निजी क्षमताओं का दोहन किया जाता रहे, अन्य व्यक्तियों से तालमेल संतुष्टिदाई हो, हालात के अनुसार स्वयं को ढाला जा सके। ....

राजयोग के लिए निष्ठाओं के योग-संयोग

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on राजयोग के लिए निष्ठाओं के योग-संयोग
प्रोफेसर संपत सिंह भी बुधवार को भाजपाई हो गये। चौधरी देवीलाल की अगुवाई में राजनीति शुरू करने वाले संपत कांग्रेसी तो बहुत पहले हो गये थे, पर अब भाजपाई हो गये। देवीलाल द्वारा गठित इनेलो छोड़ने की वजह उनके राजनीतिक वारिस-पुत्र ओमप्रकाश चौटाला से पटरी न बैठ पाना रहा तो कांग्रेस को अलविदा कहने का कारण इन विधानसभा चुनावों में टिकट न मिलना ही रहा। ....

चीनी मिठास

Posted On October - 10 - 2019 Comments Off on चीनी मिठास
पाकिस्तान के प्रधानमंत्री की चीन यात्रा के दौरान चीन का जो बयान कश्मीर को लेकर आया है, वह भारत की रीति-नीति के अनुरूप उत्साहवर्धक है। वहीं इमरान खान के लिये यह स्थिति असहज है। चीन का कहना है कि कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटाने के बाद उत्पन्न तनाव को दूर करने के लिये दोनों देशों को आपस में बातचीत करके मामले को सुलझाना चाहिए। ....

आपकी राय

Posted On October - 9 - 2019 Comments Off on आपकी राय
7 अक्तूबर के दैनिक ट्रिब्यून में सुरेश सेठ का ‘ढलती उम्र में अपनों का संत्रास’ लेख बुजुर्गों की अपनों द्वारा की जा रही दुर्गति का विश्लेषण करने वाला था। कभी संयुक्त परिवारों में बुजुर्गों का सम्मान हुआ करता था लेकिन जब से एकल परिवार की शुरुआत हुई है, आत्ममुग्धता ने बुजुर्गों को हाशिये पर धकेल दिया है। वृद्ध तिरस्कार, अपमान तथा अवहेलना का शिकार हो ....

एकदा

Posted On October - 9 - 2019 Comments Off on एकदा
रावण जब रणभूमि में अंतिम सांसें ले रहा था, तब उसने श्रीराम से कहा—राम, मैं तुमसे हर बात में श्रेष्ठ हूं। जाति, मेरी ब्राह्मण है। आयु में भी तुमसे बड़ा हूं। मेरा, कुटुम्ब तुम्हारे कुटुम्ब से बड़ा है। मेरा वैभव तुमसे अधिक है। तुम्हारा महल, स्वर्ण जड़ित है परन्तु मेरी पूरी लंका ही, स्वर्ण नगरी है। ....

शत्रु मर्दन और शस्त्र पूजन

Posted On October - 9 - 2019 Comments Off on शत्रु मर्दन और शस्त्र पूजन
आज तोताराम सुबह की बजाय शाम को चार बजे आया तो माथे पर बड़ा-सा लाल तिलक, हाथ पर बंधा हुआ मोटा-सा कलावा, केसरिया बाना और नाक के नीचे पृथ्वीराज चौहान जैसी घनी-काली मूंछें। ....

सुनवाई से न्यायाधीशों के अलग होने की तार्किकता

Posted On October - 9 - 2019 Comments Off on सुनवाई से न्यायाधीशों के अलग होने की तार्किकता
कोरेगांव-भीमा हिंसा मामले में मानवाधिकार कार्यकर्ता गौतम नवलखा की अपील पर सुनवाई से प्रधान न्यायाधीश सहित कम से कम तीन न्यायाधीशों के अलग होने की घटना को इस तरह से पेश किया जा रहा है, मानो यह कोई अप्रत्याशित घटना हो गयी है। न्याय प्रक्रिया की निष्पक्षता बनाये रखने के लिये अक्सर उच्च न्यायालयों और उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश किसी मामले विशेष की सुनवाई से ....

विकास के नाम पर जंगलों से जंगलीपन

Posted On October - 9 - 2019 Comments Off on विकास के नाम पर जंगलों से जंगलीपन
कल तक घना था यह पेड़/ सर पर तना था यह पेड़/ अब सिर्फ तना है/ झड़े नहीं हैं पत्ते, झाड़ दिये गये हैं/ इस ठूण्ठ के संदर्भ नये-नये हैं/ जहां यह पेड़ था, जहां अब तना है/ वहां अब सीमेंट के पेड़ का नक्शा बना है/ ऐसे ही झरती हैं पत्तियां/ सिमटती हैं संस्कृतियां/ पत्थर की सभ्यताएं ऐसे ही जनमती हैं/ पेड़ जब तना ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.