सरकार ने 38,900 करोड़ रुपये से लड़ाकू विमानों, मिसाइल सिस्टम की खरीद को दी मंजूरी !    मोदी ने पुतिन से की बात, द्विपक्षीय मुद्दों पर हुई चर्चा !    मुंबई हवाईअड्डा घोटाला : सीबीआई के मुंबई, हैदराबाद में जीवीके समूह के कार्यालयों में छापे !    इस वर्ष राज्यों को कलशों में भरकर भेजा जाएगा गंगाजल! !    आकाशीय बिजली गिरने से 5 की मौत, 12 झुलसे !    नीट, जेईई को लेकर स्थिति की समीक्षा करेगी कमेटी !    मोबाइल फोन से चीनी ऐप डिलीट करो, मुफ्त मास्क लो! !    हमने चीन पर किया ‘डिजिटल स्ट्राइक’ : रविशंकर प्रसाद !    कांवड़ यात्रा के लिए हरिद्वार पहुंचे तो 14 दिन के लिए खुद के खर्च पर होंगे क्वारंटीन‍! !    1948 में लगातार 5 पारियों में शतक का अनोखा रिकार्ड अब भी सर एवर्टन के नाम! !    

विचार › ›

खास खबर
दुश्मन पर अचूक निशाने वाला ब्रह्मास्त्र

दुश्मन पर अचूक निशाने वाला ब्रह्मास्त्र

एस-400 रक्षा प्रणाली योगेश कुमार गोयल द्वितीय विश्वयुद्ध में जर्मनी पर सोवियत संघ की जीत की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर सैन्य परेड में शामिल होने के लिए तीन दिवसीय दौरे पर मॉस्को गए रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने रूसी उपप्रधानमंत्री यूरी बोरिसोव से हुई द्विपक्षीय रक्षा संबंधों पर चर्चा के बाद उम्मीद ...

Read More

चीन का भारत विरोधी कारोबारी चक्रव्यूह

चीन का भारत विरोधी कारोबारी चक्रव्यूह

पुष्परंजन पहली जुलाई, 2020 से बांग्लादेशी उद्योग जगत में बहार आई है, जो चीन के बाज़ार में अपना माल एक्सपोर्ट करते हैं। 8 हज़ार 256 ऐसे प्रोडक्ट हैं, जिनके निर्यात पर कोई कर चीन को नहीं देना है। यह कुल निर्यात का 97 प्रतिशत है। इससे बांग्लादेश में गारमेंट, फ्रोज़न फूड, ...

Read More

हिंदी का हाल

हिंदी का हाल

यूपी में आठ लाख छात्र मातृभाषा में फेल यह खबर परेशान करती है कि देश के खांटी हिंदी भाषी राज्य उत्तर प्रदेश में हाई स्कूल व इंटरमीडियट के आठ लाख छात्र मातृभाषा हिंदी की परीक्षा में फेल हो गये हैं। हिंदी हमारी राष्ट्रभाषा के नारों के बीच यह स्थिति बताती है ...

Read More

जीएसटी राजस्व बढ़ाने को प्रोत्साहन जरूरी

जीएसटी राजस्व बढ़ाने को प्रोत्साहन जरूरी

  भरत झुनझुनवाला केंद्र सरकार ने राज्यों को आश्वासन दिया था कि अगले पांच वर्षों में जीएसटी के राजस्व में जो भी कमी होगी उसकी भरपाई केन्द्र सरकार करेगी। उस समय अनुमान लगाया गया था कि जीएसटी में प्रति वर्ष 14 प्रतिशत की वृद्धि होगी। लेकिन जीएसटी की वसूली पिछले दो वर्षों ...

Read More

प्राथमिकता हो जनता के प्रति जवाबदेही

प्राथमिकता हो जनता के प्रति जवाबदेही

अंतर्राष्ट्रीय संसदीय दिवस सूरज मोहन झा संसद ही देश के लोगों की आवाज का प्रतिनिधित्व करती है। संसद सदन में चर्चा के बाद कानून को पारित करती है और कानूनों और नीतियों को लागू करने के लिए बजट का आवंटन भी करती है। संसद ही सरकार को जनता के प्रति जवाबदेह भी ...

Read More

पहुंच में हो इलाज

पहुंच में हो इलाज

निजी क्षेत्र सहयोग कर जिम्मेदारी निभाये हैदराबाद के एक निजी अस्पताल की वह घटना विचलित करती है, जिसमें मरणासन्न युवक ने अपने पिता को भेजे वीडियो मैसेज में बताया ‘अस्पताल में मेरे बार-बार कहने के बावजूद वेंटिलेटर हटा दिया गया है, मुझे तीन घंटे से आक्सीजन नहीं मिली है। मैं जा ...

Read More

अब की बार मेहनतकशों की ‘काम वापसी’

अब की बार मेहनतकशों की ‘काम वापसी’

आज मशहूर लेखक राजेंद्र राव जी से बात हुई। करीब महीनेभर पहले भी हुई थी। विषय था—मजदूरों की वापसी। तब उन्होंने कहा था कि सारी गाड़ियां भरकर जा रही हैं। मजदूर वापस जा रहे हैं। वे गांवों की तरफ आए थे, लेकिन जल्दी ही उन्हें पता चल गया कि यहां ...

Read More


शहीदों को नमन का सुख

Posted On June - 29 - 2020 Comments Off on शहीदों को नमन का सुख
सैनिक पत्नी होने के नाते मुझे लगभग तीन वर्ष फ़िरोज़पुर छावनी में रहने का अवसर मिला। वहां रहते हुए जो अनुभव मेरे मन-मस्तिष्क में अमिट चिन्ह छोड़ गए हैं, उनमें से सब से अनमोल था मेरा बार-बार शहीद भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की समाधि पर जाकर पुष्पांजलि अर्पित करना। ....

क्षमा प्रसन्नता-आरोग्यता की दवा भी

Posted On June - 29 - 2020 Comments Off on क्षमा प्रसन्नता-आरोग्यता की दवा भी
क्षमा करने का साहस करना व क्षमा कर दिखाना, दोनों ही, सबके बूते की बात नहीं है। वास्तव में इसको कार्य रूप में परिवर्तित करने का सुअवसर विरले भाग्यशाली लोगों को ही नसीब हो पाता है। ....

सितारों के आत्मघाती कदम

Posted On June - 29 - 2020 Comments Off on सितारों के आत्मघाती कदम
प्रत्येक चमकने वाली चीज सोना नहीं होती, उसी प्रकार जरूरी नहीं कि हर चमकता फिल्मी सितारा भी अपनी असल जिंदगीं में भी चमकता सितारा हो अर्थात‍् उसे गम न हो। उनकी भावनाएं भी आम लोगों की ही तरह होती है। ....

एकदा

Posted On June - 29 - 2020 Comments Off on एकदा
एक युवक ने विद्वान से पूछा ‘अपने काम के दौरान कुछ लोग अत्यंत प्रसन्न नजर आते हैं कुछ लोग गंभीर नजर आते हैं जो कुछ लोग उदास और दुखी नजर आते हैं मानो उन पर जबरन कोई काम का बोझ डाल दिया गया हो?’ विद्वान ने जवाब दिया, ‘अगर आप बिना प्रेम के काम करते हैं तो आप एक गुलाम की तरह काम कर रहे ....

मन्दी

Posted On June - 28 - 2020 Comments Off on मन्दी
चेयरिंग क्रॉस पर पहुंचकर मैंने देखा कि उस वक्त वहां मेरे सिवा एक भी आदमी नहीं है। एक बच्चा, जो अपनी आया के साथ वहां खेल रहा था, अब उसके पीछे भागता हुआ ठंडी सड़क पर चला गया था। ....

मानवता में ईश्वर की तलाश

Posted On June - 28 - 2020 Comments Off on मानवता में ईश्वर की तलाश
उपन्यास ‘मंगला से शयन तक’ सुश्री अचला नागर की हालिया रचना है, जिसमें ईश्वर की सत्ता को इधर-उधर खोजने की अपेक्षा मानवता में खोजने का संदेश दिया गया है। ‘मैं इनसानियत में बसता हूं, लोग मुझे मजहबों में ढूंढ़ते हैं’ के कथन के साक्ष्य में प्रस्तुत उपन्यास की कथा का विकास किया गया है। ....

आधुनिक भारत में योगदान

Posted On June - 28 - 2020 Comments Off on आधुनिक भारत में योगदान
भले ही राजीव गांधी को राजनीति विरासत में मिली हो, मगर उन्होंने राजनीतिक जीवन में एक अलग छाप छोड़ी। एक शालीन-सभ्य राजनेता के रूप में उन्होंने अपनी पारी खेली। डॉ. शरद रामदेव की पुस्तक राजीव गांधी : आर्किटेक्ट ऑफ मॉर्डन इंडिया में राजीव गांधी के राजनीति में आने, प्रधानमंत्री के रूप में उनके योगदान व निजी जीवन के प्रसंगों का विवरण है। ....

भरोसे का कदम

Posted On June - 27 - 2020 Comments Off on भरोसे का कदम
देर से ही सही, सरकार ने सहकारी व बहुराज्यीय सहकारी बैंकों को, ग्राहकों का भरोसा बढ़ाने और कार्यप्रणाली में पारदर्शिता लाने के मकसद से देश के केंद्रीय बैंक की निगरानी में लाने का फैसला किया है। इन बैंकों की कार्यप्रणाली को लेकर अक्सर सवाल उठते रहे हैं। ....

राजनीति का मैला आंचल और जवाबदेही

Posted On June - 27 - 2020 Comments Off on राजनीति का मैला आंचल और जवाबदेही
राजनीति की सबसे सरल परिभाषा यह बताई गई है कि शासन करने की कला को राजनीति कहते हैं। एक और परिभाषा के अनुसार यह यानी राजनीति, शैतानों की आखिरी शरणगाह है। यह माना जा सकता है कि कला से शरणगाह तक का यह सारा इलाका राजनीति का कार्यक्षेत्र है। ....

आपकी राय

Posted On June - 27 - 2020 Comments Off on आपकी राय
लादेन जैसे अंतर्राष्ट्रीय अपराधी को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री द्वारा शहीद कहना पाकिस्तान के चाल-चरित्र और नीयत को दर्शाता है। यह अमेरिका की आंखें खोलने के लिए काफी है जो आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में पाकिस्तान को एक अहम सहयोगी मानता है। ....

देश की सूचनाएं और सुरक्षा दांव पर

Posted On June - 27 - 2020 Comments Off on देश की सूचनाएं और सुरक्षा दांव पर
इधर खास तौर से चीनी मोबाइल कंपनियों के हैंडसेट और एप्स को लेकर सोशल मीडिया पर बाकायदा एक अभियान चल रहा है। इसकी एक तात्कालिक वजह पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय और चीनी सेना में हुई झड़प है। ....

निशाने पर जनविरोध के प्रतीक

Posted On June - 27 - 2020 Comments Off on निशाने पर जनविरोध के प्रतीक
अमेरिका और यूरोप में इन दिनों मूर्तियां टूट रही हैं। हमारे यहां मूर्तियां टूटती हैं तो दंगे होते हैं। वहां दंगों के बाद मूर्तियां टूट रही हैं। जी नहीं, लेनिन और मार्क्स की मूर्तियां नहीं टूट रही हैं। यह बताना इसलिए जरूरी है कि इनके टूटने की खबर से कई लोगों का मन बल्लियों उछलने लगता है। ....

एकदा

Posted On June - 27 - 2020 Comments Off on एकदा
एक बार एक राजा को अपने पराक्रम और अपने अपार साम्राज्य पर बहुत ही अभिमान हो गया। इस अभिमान के कुप्रभाव से वह बहुत ही बड़बोला हो गया। यह बात राजा के कुलगुरु ने भांप ली। वह राजा को एक बार वन भ्रमण के लिए ले गये वहां बादल गरज रहे थे मयूर नाच रहे थे हवा बह रही थी मगर राजा का इन सब ....

एकदा

Posted On June - 26 - 2020 Comments Off on एकदा
भारतीय आयुर्वेद के शिरोमणि ऋषि चरक जड़ी-बूटियों को खोजते हुए बहुत दूर-दूर निकल जाते थे। भ्रमण के दौरान हर उपयोगी फूल, पत्ती पर उनकी तुरंत नजर पड़ती थी। एक बार शिष्यों के साथ वह जड़ी-बूटियों की खोज कर रहे थे। ....

आपकी राय

Posted On June - 26 - 2020 Comments Off on आपकी राय
नेपाल सरकार भारत से आपसी विवादों के बीच लगातार कड़े फैसले ले रही है, जिससे नेपाली मधेशी नागरिकों को अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। ....

आपातकाल बनाम कोरोनाकाल

Posted On June - 26 - 2020 Comments Off on आपातकाल बनाम कोरोनाकाल
एक हमारे बड़े भाई साहब हैं। बिल्कुल प्रेमचंद की कहानी ‘बड़े भाई साहब’ वाले। हमारे बड़े भाई साहब के जीवन की इकलौती उपलब्धि है कि उन्होंने आपातकाल देखा है। हालांकि, आपातकाल लगने से महज 13-14 वर्ष पूर्व उनका जन्म हुआ था, लेकिन उनके पास आपातकाल से जुड़े 500-1000 किस्से थे, जिसे वक्त वक्त पर वह हमें कमतर, अनुभवहीन बताने के लिए झाड़ा करते थे। ....
Powered by : Mediology Software Pvt Ltd.